खबरे VIDEO: एमपी में गर्मी की दस्तक, बाजार में आने लगे देशी फ्रिज, जानिए गरीबो के फ्रिज के बारे मे, देखे मुश्‍ताक अली शाह की रिपोर्ट BIG NEWS: धगगर समाजजनों ने की लाखों की राशि एकत्र‍ित, ग्राम रूपावास में होगा धर्मशाला का निर्माण, किया भूमिपूजन, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर BIG NEWS: नवागत पुलिस कप्‍तान पहुंचे सरवानिया महाराज, किया पुलिस चौकी का भूमिपूजन, पढें दिनेश वीरवाल की खबर VIDEO: मालवा-मेवाड के समाजसेवी अशोक अरोरा गंगानगर की ये तस्वीर आई सामने, बहुत कम देखने को मिलते है अपने परिवार के साथ, देखे दीपक खताबिया की रिपोर्ट MAHA SHIVARATRI 2020: महाशिवरात्र‍ि पर्व, रायसेन के सोमेश्वर महादेव जो साल में सिर्फ एक बार देते हैं भक्तों को दर्शन, पढें खबर WOW: सेना की सबसे ताकतवर धनुष तोप और सारंग गन का जबलपुर में एक साथ परीक्षण, पढें खबर BIG NEWS: आईपीएस अफसर मैच 2020, एसपी सचिन अतुलकर ने दी शिव तांडव स्‍त्रोत का प्रस्‍तुती, जुतें पहन किया शिवलिंग का स्‍पर्श, एडवोकेट अमित शर्मा ने की कार्रवाही की मांग, पढें खबर MAHA SHIVARATRI 2020: महाशिवरात्र‍ि पर्व, 30 रुपए में पशुपतिनाथ पर मिलेगा गंगाजल, भक्त कर सकेंगे बाबा पशुपतिनाथ का जलाअभिषेक, पढें खबर BIG NEWS: आशा-ऊषा सहयोगिनियों का धरना, तीसरें दिन विधायक ने दिया समर्थन, गांधी चौराहें पर महिलाओं के साथ दिया धरना, पढें खबर BIG REPORT: कमलनाथ सरकार का फरमान, नसबंदी नहीं करवाने वाले कर्मचारियों की जाएगी नौकरी, पढें खबर MAHA SHIVARATRI 2020: महाशिवरा‍त्र‍ि पर्व, शिव मंदिरों में गूंजा ओम नमः शिवाय, पुलिस कप्‍तान रॉय पहुंचे किलेश्‍वर मंदिर, किए दर्शन, पढें रतन पंडित की खबर NEWS: नीमचसिटी पुलिस ने स्‍थाई वारंटी को किया गिरफ्तार, पढें खबर BIG NEWS: व्‍यापारी ने वन रक्षक पर लगाया रिश्‍वत लेने का आरोप, की लोकायुक्‍त में शिकायत, वन विभाग के वरिष्‍ठ अधिकारी जुटें जांच में, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर NEWS: ग्राम बंबोरी में 2 दिवसीय सत्रांत वाकपीठ का समापन, बदल जाओ वक्त के साथ या फिर वक्त बदलना सीखो, जैन, पढें खबर

VIDEO: सोनिया गांधी के ऐलान के बाद राहुल की करीबी मैडम नटराजन बनाई जा सकती है एमपी पीसीसी चीफ, देखे जर्नलिस्‍ट मुस्‍तफा हुसैन की

नीमच :-

कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी ने मध्य प्रदेश में सत्ता और संगठन के बीच समन्वय के लिए तालमेल कमेटी का गठन कर एमपी की कांग्रेस की राजनीति में एक बार फिर हलचल मचा दी है तालमेल कमेटी के गठन की इस कवायद के बाद एमपी में अब कांग्रेस नेताओ के कद मापने का काम शुरू हो चुका है.

कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी ने सत्ता और संगठन के बीच समन्वय के लिए जो समिति बनाई है उसमे शामिल सीएम कमलनाथ, पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया के नामो पर कोई अचरज नहीं हो रहा क्योकि इनको तो होना ही था, लेकिन बाकी बचे चार नामो  पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव, काबीना मंत्री जीतू पटवारी और पूर्व सांसद मिनाक्षी नटराजन के नाम पर बहस लाज़मी है. उसमे सबसे अधिक चर्चा में जो नाम है वह राहुल गांधी की करीबी मीनाक्षी नटराजन का है. जो नीमच - मंदसौर से सांसद रह चुकी है.

गौरतलब है की इस तालमेल कमेटी में वरिष्ठ नेताओ के अलावा जो चार अन्य नाम लिए गए है, वे युवा है और हाईकमान ने यह मेसेज देने की कोशिश की है की आने वाले समय में कांग्रेस के हीरो यह चार नेता ही होंगे. क्योकि चारो युवा है और सीधे दिल्ली  दरबार से जुड़े है. इसमें सिंधिया के लिए यह माना जा रहा है की वे राजयसभा में ले लिए जाएंगे और जीतू पटवारी सरकार में केबिनेट मंत्री है ऐसे मिनाक्षी नटराजन हाल फिलहाल सत्ता में कही नहीं है.ऐसे में जानकारों की माने तो हाईकमान उन्हें आगामी दिनों में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेवारी सौंप सकता है. 

यह बात सामने आने की कई ख़ास वजह है. वैसे मिनाक्षी नटराजन का नाम पहले भी कई बार प्रदेशाध्यक्ष को लेकर सुर्खियों में आ चुका है, पर वे किसी पद की जवाबदारी को टालती रही है. और उन्होंने तय किया है की वे पूरा साल देश के विभिन्न हिस्सों में घूमेगी और पद यात्राएं करके कांग्रेस को मजबूत करेगी. अब तक वे झारखंड, छत्तीसगढ़ और गुजरात में पद यात्रा कर चुकी है. लेकिन तालमेल कमेटी में उनको सदस्य बनाकर हाईकमान ने उन्हें एमपी की तरफ भेजा है. वही वे ऐसी नेता है जिनका प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया, सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह से बेहतर रिश्ता है. जबकि सिंधिया का तालमेल इन तीनो से नहीं बैठता. वही राजनीति में भले सिंधिया और नटराजन राहुल के करीबी हो पर दोनों नेताओ में शीत युद्ध जगजाहिर है. और यह लड़ाई मालवा पर एकाधिकार की है. 

मालवा को सिंधिया घराना अपनी पूर्व स्टेट का हिस्सा मानता है और स्व. माधव राव सिंधिया के समय से ही सिंधियाओं की मालवा में जबरदस्त फॉलोविंग रही है. लेकिन मीनाक्षी नटराजन जब से नीमच मंदसौर संसदीय सीट से चुनाव लड़ने लगी तब से मालवा में एकाधिकार और वर्चस्व की लड़ाई दोनों में छिड़ गयी. ज्योतिरादित्य सिंधिया के खासुलखास माने जाने वाले कांग्रेस नेता स्व.महेंद्र सिंह कालूखेड़ा तो पब्लिक मीटिंग तक में मैडम नटराजन के खिलाफ बोला करते थे. उन्होंने तो यहाँ तक कह दिया था की नटराजन हाईकमान का रौब जमाकर कांग्रेस में अपनी तानाशाही चलाती है. तब से जो बात बिगड़ी थी वो कभी बन नहीं पायी.

ऐसे हालातो के चलते कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के लिए सबसे मुफीद नाम नटराजन का है क्योकि नटराजन आलाकमान की ख़ास है और उनके नाम पर आलाकमान की हरी झंडी आसानी से मिल जायेगी. फिर प्रदेश कांग्रेस को महिला अध्यक्ष मिलेगी. वैसे नटराजन के फॉलोवर्स पूरे प्रदेश में है और वे संगठन के काम में ही अधिक रूचि लेती है इन्ही सब कारणों के चलते ज्योही तालमेल कमेटी में उनका नाम आया यह चर्चा आम हो गयी की मैडम पीसीसी चीफ बन सकती है.

इस मामले में जब हमने नीमच के पूर्व विधायक और कांग्रेस के कद्दावर नेता नंदकिशोर पटेल से बात की तो उनका कहना था की नटराजन मालवा में हुए किसान आंदोलन की अगुआ रही, वे देश भर में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए पदयात्राएं भी करती रही है. उनहोंने हमेशा कांग्रेस संगठन को मजबूती देने का काम किया है पार्टी उन्हें कोई भी पद सौंपे उनमे नेतृत्व और कार्य करने की क्षमता है वही नीमच जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष संजीव पगारिया कहते है नटराजन मैडम ने हमेशा कांग्रेस को मजबूती दी है उन्हें कोई भी जिम्मेवारी सौंपी जाती है तो वे बखूबी निभाएगी


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.