खबरे CONGRATS: छात्रा पूर्वी मित्‍तल ने कक्षा 12 में प्राप्‍त किए 90 प्रतिशत अंक, परिवार के साथ किया जिलें का नाम रोशन, पढें मुकेश पार्टनर की खबर OMG ! ग्राम उम्‍मेदपुरा में पलंग पर सौ रही थी 58 वर्षीय महिला, अचानक दे दी मौत नें दस्‍तक, अब परिवार में पसरा मातम, ये बड़ा कारण आया सामनें, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर VOICE OF MP: अगर आप भी चाहतें है अपने मोबाइल फोन पर ब्रैकिंग न्‍यूज, तो अपनी अपने वाट्सएप्‍प ग्रुप में वॉईस ऑफ एमपी के ऑफिशल नंबर को करें एड, खबरों के लिए करें इन नंबरों पर संपर्क, पढें खबर BUSINESS: यहा क्लिक करेगें तो जानेगें नीमच सर्राफा भाव COMMODITY MARKET: सोयाबीन के वायदा भाव में आ सकता है उछाल VIDEO NEWS: बेटियां निभा रही है बेटे का फर्ज, लॉकडाउन में खेतो पर कर रही है ग्रेजुएशन के बाद काम, देखे मोहन नागदा की रिपोर्ट BIG NEWS: वाणिज्यिक कर एवं वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने किया पदभार ग्रहण, पढें रवि पोरवाल की खबर BIG NEWS: लॉकडाउन में गरीब एवं दिहाड़ी मजदूरों का किराया हो माफ, वेतन के संबंध में गृह मंत्री भारत को लिखा पत्र, इस कठिन हालात में गरीब गुरबों के अधिकारों का हो संरक्षण, N.H.R.C.C.B जिलाध्‍यक्ष ओमप्रकाश राठौर, पढें खबर BIG REPORT: दिल्ली-जयपुर में सियासी उठापठक के बाद अब राजस्‍थान के इस शहर में बवाल, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा दफ्तर पर लगाया पार्टी का झंडा, पढें खबर JAI SHREE MAHAKAL: मध्‍यप्रदेश के इस शहर में लगती है भगवान भोलेनाथ की अदालत, यहां नहीं रहता कोई भी केस पेंडिंग, पढें खबर VIDEO NEWS: विभाग बंटवारे के बाद पहली केबिनेट बैठक, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दिये निर्देश, दिलाया सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने का संकल्प, बता रही है एंकर दिव्‍या अठवाल BIG NEWS: रेलवे का बड़ा निर्णय, सेवाकाल समाप्ती के बाद रखा हुआ था कर्मचारियों को, ग्रुप सी में कर्मचारियों को रेलवे करेगी बाहर, पढें खबर BIG NEWS: एमपी से राजस्‍थान में कर रहें थे अवैध मादक पदार्थ की तस्‍करी, पुलिस ने किया गिरफ्तार, अब न्‍यायालय ने दी 11 वर्ष के सश्रम कारावास की सजा, 1 लाख का जुर्माना भी, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर

BIG REPORT : नीमच का लॉर्ड्स, राख के ढेर मेँ रोटी तलाशते बच्चे और कोरोना का खौफ, पढ़िए बात दिल की है, पढ़े जर्नलिस्ट मुस्तफा हुसैन की फेसबुक वॉल से

Image not avalible

BIG REPORT : नीमच का लॉर्ड्स, राख के ढेर मेँ रोटी तलाशते बच्चे और कोरोना का खौफ, पढ़िए बात दिल की है, पढ़े जर्नलिस्ट मुस्तफा हुसैन की फेसबुक वॉल से

नीमच :-

आप विचार करना मेरी कही बात कितनी सही है, मुझे याद आता है जब मै स्टूडेंट था तब क्रिकेटर था गोमाबाई और विकास नगर आज जहाँ है वहाँ लाल मिट्टी का मैदान था आंबेडकर रोड के बाद कुछ भी नहीं था, ग्वालटोली का नाला दिखता था. उन दिनों हमारे लिए यही लॉर्ड्स का मैदान था. जमकर क्रिकेट खेलते थे. सोचते थे एक दिन भारतीय क्रिकेट टीम मेँ खेलेंगे, लेकिन वो बचपन की सोच ही थी, इंसान जीवन मेँ सोचता कुछ है और होता कुछ है बचपना था सपना संजो लिया बाद मेँ जाना भारतीय क्रिकेट टीम मेँ खेलने के लिए खेल के साथ और भी बहुत कुछ चाहिए. 

खैर, उन दिनों की बात मुझे याद आती है डेंगू बुखार फैला था. बच्चे थे बुखार की चपेट मेँ, मै भी आया घर पर था, तभी संगी साथी आये और बोले मैच है खेलने चलना है, मैने कहा बुखार आ रहा है कैसे खेलेंगे तो सब कहने लगे बुखार मेँ तो ज़्यादा अच्छा खेला जाएगा बस फिर क्या था चल दिए मैदान मेँ, मैच खेले और जीते भी. पूरी दुनिया जानती है डेंगू बुखार कोरोना से कही ज़्यादा खतरनाक था, लेकिन बिमारी आयी और चली भी गयी पता नहीं चला लेकिन आज के दौर मेँ कोरोना से ज़्यादा उसका हव्वा और डर है. ख़ासतौर सोश्यल माध्यम जो पल भर मेँ आग लगा देता है. हर बात के दो पहलु होते है प्लस भी और माइनस भी. सभी जानते है की कोविड का मोर्टेलिटी रेट मात्र 3 प्रतिशत है, जो अन्य बीमारियों और महामारियों की तुलना मेँ बेहद कम है, लेकिन इसका हव्वा भयानक है. लोग बिमारी से कम और उसके प्रचार से ज़्यादा घबराये हुए है. 

इसके अलावा मैने एक बात और महसूस की गुजरे जमाने मेँ हम ज़्यादा निश्चिन्त और कॉन्फिडेंट हुआ करते थे, आज हम असुरक्षा की भावना से भरे हुए है. हमे हर पल बुरा घटने का डर सताता रहता है. अनिष्ट का भय.पहले बेफिक्री का आलम था. इस बारे मेँ काफी सोचा तो इस नतीजे पर पहुंचा की उस समय लोग कुछ ज़्यादा गलत करते नहीं थे, अपनी मौज मेँ रहते थे.इसलिए कुदरत भी उनको डराती और सताती नहीं थी इसलिए जीवन मेँ रस था, मस्ती थी, बेफिक्रे थे लोग. 

लेकिन वक्त बदला, ज़माना बदला और हमारी नियति बदलने लगी. हम रोज़ा या उपवास तो यह सोचकर रखते है की खाना खाएंगे तो ऊपर वाला देख रहा है लेकिन जब हम अपराध करते है, किसी को सताते है, डराते है, मुश्किल मेँ डालते है तब भूल जाते है की हमारी इन हरकतों को खुदा देख रहा है. मुझे लगता है हर मज़हब मंज़िल पर पहुँचने का रास्ता है, आप चाहे जो रास्ता चुनो, रास्ता कोई भी गलत नहीं है लेकिन चलना आपको है और यह तय करना आपको है की आप रास्ते पर चलोगे कैसे. यदि सीधी राह चलोगे तो मंज़िल पर जल्दी और आसानी से पहुंचेंगे और यदि फाउल खेला तो दंड तो मिलेगा. जो आज कमोबेश हर इंसान भोग रहा है. इंसान बेहद चालू और चालाक है क्राइम करके भूल जाता है और जब विपदा मेँ पड़ता है तो कहता है, है भगवान् ! मैने क्या बिगाड़ा था ? लेकिन उसे अपने किये खटकर्म याद नहीं रहते.

नीमच के लॉर्ड्स पर डेंगू मेँ क्रिकेट खेली ऐसा नहीं, ऐसी कई घड़ियाँ मुझे याद है जब बेपरवाह होकर निकल जाते थे. क्योकि बुरा घटने का भय था ही नहीं. आज हम देखते है आम लोगो के चेहरों पर मायूसी, घबराहट, डर, अनिष्ट का भय साफ़ झलकता है. सवाल उठता है आखिर क्या बदल गया, हमारे जीवन से इत्मीनान और सुकून कौन छीन ले गया. मै जब सड़क से निकलते हुए घीसालाल जी जैन (सरावगी) साहब या फिर घर मेँ मेरे पिताजी को देखता हूँ तो मुझे उनके चेहरे पर असीम शान्ति दिखती है. लेकिन वो इत्मीनान आज आम लोगो की शक्ल पर नहीं दिखता. कुछ तो गड़बड़ है, हम हमारा सुकून और चैन कही भूल आये है.

डेंगू और चिकन गुनिया तो हमने देखा ही, एड्स और कैंसर जैसी बीमारिया भी लाईलाज है. जिनके साथ हम जीयी रहे है. लेकिन कोरोना को लेकर लम्बी चौड़ी गाइड लाइन बनाई गयी. कहा सोश्यल डिस्टेंसिंग रखे, अरे भाई जहाँ बाय दस के कमरे मेँ 12 लोग रहते हो वहाँ कौनसी सोश्यल डिस्टेंसिंग? इसका पालन मुझे असंभव लगता है. फिर एक बात और है मैने अपने काम के दौरान कई बार देखी. नीमच के काफी इलाको मेँ गर्मी के दौरान जल संकट के दौर मेँ लोग पानी छोटे छोटे डबरो से पीते है. जिसमे मच्छर बैठे होते है हाथ से मच्छर उड़ाते है और और चुल्लू मेँ पानी भरकर प्यास बुझा लेते है.वही नीमच मेँ ही मैने मांगलिक भवनों के पिछवाड़े मेँ राख के ढेर से रोटी ढूंढते गरीब बच्चो को देखा, जो राख झटकार कर रोटी से अपने पेट की भूख मिटाते है. हमारे देश मेँ जीवन इतनी मुश्किलों के बावजूद मुस्कुराता है. मुझे लगता है कोरोना बहुत हुआ, अब इसके साथ जीने की आदत डाल लेना चाहिए और जीवन को पटरी पर लाना चाहिए अन्यथा गरीब इंसान इस बिमारी से नहीं भूख से मरने लगेंगे, जय हिन्द ! अपनी अमूल्य राय यहाँ दीजिये 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.