खबरे BIG BREAKING : नीमच पुलिस की ताबड़तोड कार्यवाही, 12 साल की लड़की के दुष्कर्म हुए केश में, 24 घंटे के पहले आरोपी गिरफ्तार, पढ़े खबर BADI KHABAR : देश भर में ‘मेरी सहेली’ अभियान शुरू, महिलाओं को दी अभियान की जानकारी,पढें खबर OMG : एक ऐसा पार्क , जिसमें पेड़ नहीं, बल्कि पोल दिखेंगे, मौज.मस्ती नहीं, रूल्स सीखेंगे,क्या हैं खास,पढें खबर REPORT : नीमच आने से पहले पढ़ लेवें ये खबर, नही तो आपको भी जाना होगा हाॅस्पिटल, क्या है पूरा मामला, पढें ग्राउंड जीरो से हिमांशु राजोरा की खबर BIG NEWS: आटोमेटिक मशीन नापेगी शरीर का ट्रेम्पेचर- शहर वासियों के लिये कल डेमो के साथ होगी लांच- निर्धारित दामों पर मिलेगी, पढें खबर BIG NEWS : गोहत्या निरोधक कानून, किस तरह हो रहा दुरुपयोग,जाने क्या कहता हैं संविधान,पढें खबर POLITICAL NEWS: उमरावसिंह गुर्जर पहुंचे नाहरगढ व कयामपुर ब्लाक में, राकेश पाटीदार को जिताने का कर रहे आव्हान, पढें खबर BIG BREAKING : कोरोना वायरस के कारण देशभर में लगे लॉकडाउन को लेकर भारत सरकार ने बड़ा फैसला, 30 नवंबर तक जारी रहेगा लॉकडाउन, पढ़े खबर BIG BREAKING : भारत ने अगर बालाकोट जैसी सर्जिकल स्ट्राइक फिर की तो दुश्मन का पता आसानी से लगा लेगा, जानिए BECA समझौते से जुड़ी जरूरी बातें, पढ़े खबर BIG BREAKING : किसान के लिए सरकार ने दी खुशखबर, मध्य प्रदेश में बंजर जमीन से होगी कमाई जानिए क्या है रास्ता पढ़े खबर OMG ! कार में बैठने से मना किया तो छात्रा को गोली मारी, धर्म बदलने का दबाव बना रहा था आरोपी, पढ़े खबर BIG BREAKING : आम आदमी के लिए बड़ी खबर! बदल गया आपकी रसोई गैस सिलेंडर बुकिंग का फोन नंबर, फटाफट ऐसे करें चेक, पढ़े खबर BADI KHABAR : सिंगल यूज प्लास्टिक की रोकथाम के लिए शपथ दिलवाई गई, पर्यावरण शुद्ध होगा तभी मानव जीवन स्वस्थ्य होगा , पढें खबर

AMAZING NEWS: मध्यप्रदेश के इस गांव में 1947 के बाद आज तक नहीं हुआ कोई मुकदमा, सीजेआइ ने दिया निर्विवाद गांव का प्रमाण पत्र, पढें खबर

Image not avalible

AMAZING NEWS: मध्यप्रदेश के इस गांव में 1947 के बाद आज तक नहीं हुआ कोई मुकदमा, सीजेआइ ने दिया निर्विवाद गांव का प्रमाण पत्र, पढें खबर

खरगोन :-

खरगोन. क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आजादी के बाद से अभी तक किसी गांव में कोई केस या मुकदमा हो, लेकिन यह हकीकत है। खरगोन जिले की कसरावद तहसील मुख्यालय से महज छह किलोमीटर दूर कठोरा गांव में आजादी के बाद से अब तक थाने पर एक भी केस दर्ज नहीं हुआ है।

गांव में लड़ाई-झगड़ा होने पर लोग मिल-बैठकर सुलझा लेते हैं। यही वजह है कि गांव निर्विवाद है। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े ने शनिवार को ग्रामीणों से ऑनलाइन चर्चा कर जिला न्यायाधीश की मौजूदगी में दूसरी बार निर्विवाद गांव का ई-प्रमाण-पत्र दिया गया। इस गांव को 2002 में भी यह प्रमाण-पत्र मिल चुका है।

भजन-कीर्तन में लगाया मन-

गांव में ताश व जुआ नहीं खेला जाता है। यहां के लोग इस तरह के खेल को गलत मानते हैं। इसके दुष्परिणाम को देखते हुए गांव के लोगों ने ही जुए व ताश को सर्वसम्मति से बैन कर रखा है। समय काटने व मनोरंजन के लिए लोग नर्मदा किनारे बने मंदिर में भजन व कीर्तन करते हैं।

गांव की सरपंच नर्मदा यादव कहती हैं कि कठोरा में यादवों की आबादी अधिक है। सब आपस में मिल-बैठकर विवाद या समस्या का निपटारा कर लेते हैं। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि महिलाओं से संबंधित मामले महिलाएं ही निपटाती हैं। इसके चलते ही करीब 100 परिवारों के 1200 की आबादी वाले कठोरा गांव को 2002 के बाद देश में दूसरी बार निर्विवाद गांव घोषित किए गया है।

गांधीजी आदर्श पर चलते हैं लोग-
 

गांधीजी आज भी यहां के लोगों के लिए पूजनीय हैं। उनके आदर्शों पर चलते हैं। अहिंसा सबसे बड़ा हथियार है। यहां के बच्चे-बूढ़े और युवा सभी एक-दूसरे को सीताराम कहकर अभिवादन करते हैं।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.