खबरे BREAKING NEWS : सिंचाई पानी की मांग को लेकर किसानों ने लगाया जाम, शाम सात बजे खोला जाम, पढ़े खबर BREAKING NEWS : कोटा में पकड़ा शातिर बाइक चोरो, पलक जपकते ही उड़ा लेते थे मोटरसाईकिल, पढ़े खबर NEWS : पश्चिमी विक्षोभ का असर तापमान पर, शीतलहर चलने की संभावना, पढ़े खबर BREAKING NEWS : युवक का अपरहण कर पांच लाख की मांगी फिरौती, पुलिस की बड़ी कार्यवाई, एक बाइक के साथ दो आरोपियों को किया गिरफ्तार, पढ़े खबर BREAKING NEWS : कड़ाके की सर्दी में मासूम बच्चो को लेकर आधी रात थाने पहुंचे ग्रामीण, पढ़े खबर BREAKING NEWS : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सांसद ज्याेतिरादित्य सिंधिया के बीच हुई मुलाकात महज 10 मिनट में हुई खत्म, पढ़े खबर OMG : चचेरा भाई ही निकला दुष्कर्मी और हत्यारा, घर में सोते समय बच्ची को उठाकर कुएं पर ले गया, दुष्कर्म किया और फिर गला दबाकर मार डाला, आरोपी गिरफ्तार, पढें कैलाश शर्मा की खबर BREAKING NEWS : रोडवेज में लोग सफर कर अपने घर ले जा रहे है कोरोना संक्रमण को, पढ़े खबर NEWS : अधूरी सडक़ निर्माण से आए दिन हो रहे बड़े हादसे, जिम्मेदार हो रहे मौन, पढ़े खबर NEWS : उज्जैन हॉकी फीडर सेन्टर हेतु खिलाड़ियों का चयन 7 दिसम्बर को, पढ़े खबर NEWS : कलेक्टर के निर्देशन में, औषधी विक्रेताओं का एक लायसेंस निरस्त और 5 लायसेंस निलम्बित, पढ़े खबर NEWS : एक संक्रमित मिलने पर घर से 100 मीटर एरिया ही बनेगा कंटेनमेंट जोन, पढ़े खबर BREAKING NEWS : पहले पत्नी पर चाकू से किया जानलेवा हमला, फिर किया खुद को घायल, पढ़े खबर BREAKING NEWS : 8 साल की चचेरी बहन से भाई ने किया रेप फिर कर दी हत्या, अपना गुनाह छुपाने के लिए शव को फेका कुंए में, पढ़े खबर SOCIAL ACTIVITY : कार्तिक पूर्णिमा पर महिला व बालिकाओं ने की गंगा माता की पूजा कर टाटियो का तिराई, पढें दशरथ नागदा की खबर 

CRIME: डोडाचूरा तस्‍करी और डबल मर्डर के मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, दो मामलों में 15 अभियुक्तों को जेल,12 अभियुक्तों को आजीवान कारावास

Image not avalible

CRIME: डोडाचूरा तस्‍करी और डबल मर्डर के मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, दो मामलों में 15 अभियुक्तों को जेल,12 अभियुक्तों को आजीवान कारावास

निम्‍बाहेडा :-

562 किलो डोडा चूरा ले जाते पकड़े 3 अभियुक्तों को 15-15 साल की कैद 
प्रतापगढ़| तीन साल पहले टेंपो में 562 किलो डोडा चूरा परिवहन करने के तीन आरोपियों को अदालत ने 15-15 साल के कठोर कारावास डेढ़ लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। प्रकरण के अनुसार 18 फरवरी 2013 को तत्कालीन थानाधिकारी नाथूलाल ने नाकाबंदी के दौरान उदयपुर निवासी उदयपुर निवासी मोहनलाल पुत्र मगनीराम कन्हैयालाल पुत्र खेमा गमेती और गंधेर निवासी समरथ पुत्र कन्हैयालाल मीणा को एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार कर उनके पास से 562 किलो डोडा चूरा बरामद किया था।

एनडीएपीएस एक्ट में मामला दर्ज कर कोर्ट में चालान पेश किया था। आरोप सिद्ध होने पर आरोपियों को 15-15 साल कठोर कारावास और डेढ़ लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। पैरवी विशिष्ट लोक अभियोजक शिवशंकर भांड ने 24 गवाह 42 दस्तावेज पेश किए थे। कोर्ट ने आरोपी मादड़ी निवासी मोहनलाल राव को धारा 8/15 एनडीपीएस एक्ट के तहत 15 वर्ष का कठोर कारावास और डेढ़ लाख रुपए जुर्माना धारा 8/25 में 10 वर्ष का कठोर कारावास मादड़ी निवासी कन्हैयालाल गमेती को धारा 8/15 एनडीपीएस एक्ट के तहत 15 वर्ष का कठोर कारावास डेढ़ लाख रुपए जुर्माना और समरथ पुत्र कन्हैयालाल मीणा निवासी गंधेर प्रतापगढ़ को धारा 8/15 एनडीपीएस एक्ट के तहत 15 वर्ष का कठोर कारावास डेढ़ लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। 

आदिवासियों में कुप्रथा में हत्या जैसा अपराध क्षम्य नहीं : कोर्ट 
प्रतापगढ़| जिलाएवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र सिंह ने दो जनों की हत्या करने के बारह आरोपियों मध्यप्रदेश के बड़ी सरवन के ताराघाटी निवासी भेमजी मदन सुखराम नगजी दिनेश राजीया मनोहर और लालपुरा डाबड़ी निवासी तेजिया रामा बारजी केसिया कालू को हथियारों से मारपीट कर दो लोगों की हत्या के आरोप में आजीवन कारावास अर्थदंड की सजा सुनाई।

प्रतापगढ़ चिकित्सालय में उपचाररत लालपुरा डाबड़ी निवासी रूपा पुत्र विजिया मीणा ने 4 अप्रैल 2012 को दर्ज प्रकरण में बताया था कि सुबह करीब 6 बजे उसकी पत्नी और भाई मोडीराम के साथ घर में था। उस दौरान अभियुक्त मारपीट कर उसके घर पर हमला कर दिया। मारपीट में गंभीर घायल प्रार्थी के पिता विजया की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि उसके भाई मोडीराम की अस्पताल जाते समय मौत हो गई थी। बीच-बचाव करने आए परिजन भी गम्भीर रुप से घायल हो गए थे। रिपोर्ट में बताया गया कि हमला जमीन विवाद तथा महुए के पेड़ को लेकर चल रही रंजिश में हुआ था। लोक अभियोजक तरुणदास वैरागी ने अभियोजन पक्ष की ओर से 21 गवाह और 64 दस्तावेज पेश किए। बचाव पक्ष ने भी दो गवाह पेश किए। न्यायालय ने निर्णय सुनाते समय चिंता जताते हुए कहा है कि आजादी के इतने साल बाद भी आदिवासी समाज में अभी भी सामाजिक मान्यताओं के तहत कुप्रथाएं जीवित हैं। आज भी आदिवासी समाज में विकास की धारा पूर्ण रूप से नहीं है। इस कारण इस प्रकार की घटनाएं होती है। ऐसे अभियुक्तों के प्रति सहानुभूति की कोई गुंजाइश नहीं हो सकती। 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.