BIG BULLETIN : सूखे की चपेट में 30 जिले, बीमा कंपनियों की चिंता में डूबे सीएम, CBI ने ससुराल में छापा मारा तो फरार बिल्डर दिलीप गुप्ता ने सरेंडर कर दिया के साथ जाने आज की खबरे

Image not avalible

BIG BULLETIN : सूखे की चपेट में 30 जिले, बीमा कंपनियों की चिंता में डूबे सीएम, CBI ने ससुराल में छापा मारा तो फरार बिल्डर दिलीप गुप्ता ने सरेंडर कर दिया के साथ जाने आज की खबरे

नीमच :-

सिंधिया के इशारे पर इन नेताओं को टारगेट कर रहे कांग्रेसी
भोपाल। सिंधिया और बीजेपी के बीच चल रही जंग अब पुलिस थानों की दहलीज पर पहुंच गयी है। भाजपा नेताओं ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर आरोप लगाया है कि सिंधिया के इशारे पर कांग्रेस नेता भाजपा नेताओं के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी कर रहे हैं। वहीं प्रभात झा और जयभान सिंह पवैया को कांग्रेसियों से खतरा है, इसलिए उनकी सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा एवं कैबिनेट मंत्री जयभान सिंह पवैया के विरूद्ध कांग्रेस के नेताओं द्वारा अभद्र भाषा के इस्तेमाल किए जाने के मामले को पार्टी के नेताओं ने बेहद गंभीरता से लिया है। उन्होंने पुलिस और प्रशासन को लिखित शिकायत में आशंका जतायी है कि हमारे नेताओं पर कांग्रेस के लोग कभी भी हमला करवा सकते है, क्योंकि इनकी भाषा इस मानसिकता को उजागर कर रही है।

सूखे की चपेट में 30 जिले, बीमा कंपनियों की चिंता में डूबे सीएम
श्योपुर। साल 2002 के बाद मध्यप्रदेश सबसे भयंकर सूखे की चपेट में हैं। प्रदेश के 30 जिलों में सूखे की आहट हो चुकी है। किसान को भगवान मानने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को इस विपदा के समय भी किसान की नहीं बल्कि बीमा कंपनियों की चिंता है। यह बात विधानसभा में मुख्य सचेतक एवं विजयपुर विधायक रामनिवास रावत ने कहीं। वह मंगलवार को सूखे से प्रभावित फसलों का जायजा लेने गांवों में पहुंचे थे। विजयपुर के ग्राम गोहठा, गांवड़ी, पंचनया, बंगा, काठौन, भरापुरा सहित एक दर्जन गांवों में फसलों का आकंलन करने पहुंचे विधायक श्री रावत ने कहा कि किसान पूरी तरह बर्बाद हो गया है।

शर्मनाक! होमवर्क नहीं पूरा करने पर शिक्षक ने तोड़ दिया हाथ
इंदौर। कुछ दिन पहले गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल की घटना को देश भूल भी नही पाया होगा, जिसमे एक मासूम की गला रेत कर हत्या कर दी गई थी, ताबड़तोब सरकार ने कई नियम भी स्कूलों में बच्चो की सुरक्षा को लेकर बना डाले। फिर भी उसके बाद भी स्कूल में बच्चों के साथ बर्बरता समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामले में होमवर्क नहीं करने पर नौवी कक्षा के छात्र को इतना पीटा गया कि उसका हाथ ही टूट गया। स्कीम नंबर 71 स्थित कसेरा बाजार विद्या निकेतन स्कूल में नौवी कक्षा के एक छात्र के साथ स्कूल टीचर इतनी बेरहमी से मारपीट कि उसके हाथ का अंगूठा ही टूट गया। बच्चे के हाथ में फ्रेक्चर होने के बावजूद परिजनों में उसके भविष्य की इतनी चिंता थी कि उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस को भी नहीं की।

CBI ने ससुराल में छापा मारा तो फरार बिल्डर दिलीप गुप्ता ने सरेंडर कर दिया
भोपाल। व्यापमं घोटाले का इनामी फरार आरोपी दिलीप कुमार गुप्ता ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। सीबीआई ने उसे रिमांड पर ले लिया है। बिल्डर दिलीप गुप्ता लंबे समय से फरार था। वो अनूपपुर में अपनी ससुराल में छुपा हुआ था। पिछले दिनों सीबीआई ने उसकी ससुराल में छापामार कार्रवाई की थी। इसके बाद उसने सरेंडर कर दिया। जानकारी के मुताबिक अनूपपुर के दिलीप गुप्ता को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है। उसकी काफी समय से तलाश थी। उसने छह परीक्षाओं वनरक्षक भर्ती परीक्षा 2013, खाद्य और नापतौल भर्ती परीक्षा 2012, पीएमटी 2012 व पीएमटी 2013, पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा 2012 और एमपी डेयरी फेडरेशन को-ऑपरेटिव लिमिटेड भर्ती परीक्षा 2013 में करीब दो दर्जन से ज्यादा परीक्षार्थियों को फायदा पहुंचाने में मध्यस्थ की भूमिका निभाई थी।

गरीबों का 51 हजार क्विंटल चावल, गोदामों रखे-रखे पाउडर बन गया
बालाघाट। सरकार गरीबों को राशन प्रणाली से वितरित करने के लिए हर साल हजारों क्विंटल गेंहू चावल खरीदती है परंतु इस खरीदी में घोटाले के कारण सरकारी खजाने को बड़ी चपत लग रही है। 51 हजार क्विंटल चावल गोदामों में रखे रखे डस्ट में तब्दील हो गया क्योंकि वो घटिया था। खरीदी के समय ही उसे रोक दिया जाना चाहिए था परंतु कमीशन के खेल में उसे खरीदा गया और अब गोदाम में पड़े पड़े कचरा हो गया। चौंकाने वाली बात तो यह है कि खादय मंत्री ने मामले की जांच के आदेश तो दिए लेकिन फालोअप नहीं लिया। जांच पूरी होने के बाद भी रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं हुई है। 

MP: सहायक राजस्व निरीक्षक की भर्ती में गड़बड़ी
भोपाल। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा कराई गई विभिन्न भर्ती परीक्षाओं में से सहायक राजस्व निरीक्षक का परिणाम आ गया है। इस परीक्षा में उन अभ्यर्थियों को भी शामिल कर लिया गया जिन्होंने निर्धारित अहर्ता सीपीसीटी स्कोर नहीं किया था। इतना ही नहीं संचालनालय नगरीय प्रशासन विभाग ने 328 पदों के लिए लिस्ट जारी कर दी। इसमें भी उन केंडिडेट्स के नाम शामिल हैं जिन्होंने सीपीसीटी स्कोर नहीं किया है जबकि सामान्य प्रशासन विभाग के पत्र क्रमांक सी.3-15/2014/1/3 दिनांक 26 फरवरी 2015 के अनुसार यह अनिवार्य है। अब जो केंडिडेट सीपीसीटी स्कोर के बाद भी छूट गए हैं वो इस भर्ती के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं। 

 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.