TOTKE: शादीशुदा जिंदगी को बेहतर बनाने के लिये इस तरह सोएं पति-पत्नी

Image not avalible

TOTKE: शादीशुदा जिंदगी को बेहतर बनाने के लिये इस तरह सोएं पति-पत्नी

डेस्‍क :-

विवाह के कुछ समय पश्चात पति-पत्नी के बीच छोटी छोटी बातों पर भी नोंकझोंक होने लगती है। दरअसल वैवाहिक जीवन में आने वाले इस टकराव का काऱण पति-पत्नी के सोने का तरीका भी हो सकता है। सामान्यत: पति पत्नी बेपरवाह होकर सोते है। लेकिन वास्तु विज्ञान के मुताबिक यदि दंपत्ति सोते समय कुछ बातों का ध्यान रखे तो वे वैवाहिक जीवन में आने वाली समस्याओं से बच सकती है। इतना ही नहीं सोने की इन तरीकों से संतान सुख में आने वाली बाधाओं से भी छुटकारा पाया जा सकता है।

वास्तुविज्ञान के मुताबिक वैवाहिक जीवन में संतुलन बनाए रखने और आपसी प्रेम के लिए पत्नी को पति के बायीं ओर सोना चाहिए। इसके पीछे वजह यह है कि पत्नी को पति का बायां अंग माना गया है। जबकि पति को पत्नी का दायां हिस्सा माना गया है।

नवविवाहित पति-पत्नी को उत्तर पूर्व दिशा के कमरे में या कमरे में उत्तर पूर्व की ओर बिस्तर नहीं लगना चाहिए। वास्तु विज्ञान बताता है कि उत्तर पूर्व दिशा का स्वामी गुरु होता है जो यौन संबंध में उत्साह की कमी लाता है जिसकी वजह से शादीशुदा जीवन नीरस लगता है ।

पति-पत्नी में यौन इच्छा की कमी होने की वजह से अक्सर वाद-विवाद हो रहा हो तो उन्हें दक्षिण पूर्व दिशा के कमरे में सोना चाहिए या अपने बेड को इस दिशा में लगाना चाहिए।

लेकिन जिन दम्पत्तियो में कामेच्छा अधिक हो उन्हें दक्षिण पूर्व में अपना शयन कक्ष नहीं रखना चाहिए। इससे कामेच्छा और अधिक प्रबल होकर परेशानी का कारण बन सकता है।

वास्तु विज्ञान के मुताबिक उत्तर पश्चिम दिशा का शयन कक्ष पति-पत्नी के लिए हर तरह से बेहतर होता है। इससे आपसी प्रेम और तालमेल बढ़ता है।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.