खबरे NEWS: एक आरोपी को किया गया जिलाबदर, पढें खबर REPORT: हमारे मामा ने लैपटॉप की सौगात दी है, प्रतिभाशाली विद्यार्थी हुए प्रसन्न, खुशियों की दास्तां, पढें खबर NEWS: आईटीआई बाजना में इलेक्ट्रीशियन के 15 पद रिक्त, पढें खबर REPORT: जिला पंचायत अध्यक्ष तथा सीईओ ने रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, पढें खबर NEWS: खजाने की खोज प्रतियोगिता में अधिकतम 20 टीम हिस्सा लेंगी, पढें खबर REPORT: पत्रकार बीमा योजना में आवेदन करने की तिथि बढ़ी, 30 सितम्बर तक जमा हो सकेंगे आवेदन, पढें खबर GOOD NEWS: कलेक्‍टर एवं जनप्रतिनिधियों ने मेधावी विद्यार्थियों को किए प्रमाण पत्र वितरित, दी शुभकामनाएं, पढैं खबर REPORT: कलेक्टर ने पेयजल परीक्षण व स्वच्छता पखवाड़ा अभियान के रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, पढे खबर NEWS: जिले में अब तक 590.7 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज, पढें खबर BIG NEWS: मुख्यमंत्री चौहान 26 सितम्बर को करेंगे मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना का शुभारंभ, प्रत्येक किसान को वर्ष में 2 किश्तों में मिलेंगे 2-2 हजार रूपए, पढें खबर CORONA UPDATE: कोरोना महामारी से स्वस्थ होकर घर लौटे 19 लोगो को दी शुभकामनाएं , खुशियों की दास्तां, पढें खबर NEWS: दो अक्टूबर को रहेगा शुष्क दिवस, पढें खबर NEWS: 03 से 16 अक्टुबर 2020 तक एक्टीव केस फाइडिंग केम्पेन के तहत टीबी सर्विसेज टू डोर स्टेप का आयोजन NEWS: छोटीसादड़ी व सुहागपुरा में नाम निर्देषन शनिवार को NEWS: कुलमीपुरा ग्राम पंचायत में मॉक—ड्रिल कर लिया जायजा CORONA UPDATE: जिले में कुल कोरोना से संक्रमितों की संख्या बढ़कर हुई 1722, अब तक 1209 लोगों ने जिती जंग, एक्टिव केस 498, पढें खबर NEWS: राशमी में प्रधानमंत्री आंखें खोलो पोस्टकार्ड कार्यक्रम का जोरशोर से आगाज, पढें खबर NEWS: सुहागपुरा व छोटीसादड़ी रिटर्निंग अधिकारियों और सेक्टर मजिस्ट्रेट का प्रशिक्षण संपन्न, हर छोटी बारिकियों का दे ध्यानकृउप जिला निर्वाचन अधिकारी, पढें दिलीप भाद्वाज की रिपोर्ट NEWS: जिला स्‍तरीय जल उप‍योगिता समिति की बैठक 28 सितम्‍बर को, पढें खबर

HEALTH: स्प्राउट में हैं सर्वाधिक प्रोटीन और पोषक तत्व

Image not avalible

HEALTH: स्प्राउट में हैं सर्वाधिक प्रोटीन और पोषक तत्व

डेस्‍क :-

स्प्राउट आहार में सबसे ज्यादा पोषक तत्व और प्रोटीन होते है। दलहन, नट्स, बीज, अनाज और फलियों को अंकुरित करके स्प्राउट्स आहार बनाया जाता है। स्प्राउटिंग या अंकुरण, मिनरल्स को अवशोषित करने और उनकी प्रोटीन को बढ़ाने, विटामिन और पोषक तत्वों को ग्रहण करने में मदद करता है। किसी भी अनाज या दाल को जब पानी में भिगोकर स्प्राउट बनाया जाता है तो एंटी-न्यूट्रीन्ट जैसे फाइटेट्स आदि खत्म हो जाते है, इन तत्वों के खत्म होने से इन्हें पचाने में आसानी होती है। स्प्राउट में ताकत काफी होती है, इसमें स्टार्च की मात्रा कम होने से शरीर में फैट नहीं बढ़ता है।

स्प्राउट सबसे सस्ता पोषक आहार होता है जिसे आसानी से घर में तैयार किया जा सकता है। पूरे देश में कहीं भी चना, मूंग, राजमा, मटर आदि मिल जाता है जिसे एक रात पहले आप साफ पानी में भिगो दें। दूसरे दिन उसे साफ कर लें और कच्चा या अन्य सब्जियों के साथ या सिर्फ फ्राई करके खा लें। स्प्राउट्स खाने का चलन सैकड़ों साल पुराना है। आज भी डॉक्टर स्वस्थ रहने के लिए अंकुरित दालों के सेवन का विकल्प सबसे पहले बताते है। स्प्राउट में विटामिन ए, बी, सी, ई, के और अन्य अमीनो एसिड भारी मात्रा में होते है।

बादाम एक प्रकार का सूखा मेवा होता है, इसमें भरपूर गुण छुपे होते है लेकिन अगर आप इसे यूं ही खा ले तो ये कम असरदार और फायदेमंद होता है। बादाम को एक रात पहले पानी में भिगो दें और दूसरे दिन सुबह छिलकर खाएं। इस प्रकार उसमें वसा नहीं रहेगा और शरीर को अधिक से अधिक फायदा होगा। कुछ स्प्राउट जैसे - अल्फला, मूली, ब्रोकली, क्लोवर और सोयाबीन आदि पौधों से मिलने वाले स्प्राउट है जो हमारे शरीर को कई बीमारियों से बचाते है। स्प्राउट में भारी मात्रा में एंटी - ऑक्सीडेंट पोषक तत्व होते है जो शरीर की प्रक्रिया को सुचारू रूप से चलाने में सहायक होते है।

कई अध्ययनों से यह स्पष्ट हुआ है कि स्प्राउट में सब्जियों और फलों के मुकाबले कहीं ज्यादा एन्जाइम होता है। एन्जाइम्स, एक प्रकार का प्रोटीन होता है जो शरीर में विटामिन, मिनरल्स, अमीनो एसिड और जरूरी फैटी एसिड की मात्रा के लिए उत्प्रेरक का काम करता है।

दलहन, नट्स, बीजों और अनाज में वैसे भी प्रोटीन ज्यादा मात्रा में होता है और इनका स्प्राउट बनाने से इनमें प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है और फैट नहीं रहता है। इनके सेवन से शरीर में प्रोटीन की कमी दूर हो जाती है। स्प्राउट के सेवन से शरीर में इम्यून सिस्टम भी मजबूत हो जाता है।

स्प्राउट में फाइबर की काफी मात्रा होती है। इसके सेवन से वजन कम करने में मदद मिलती है और पाचन प्रक्रिया भी अच्छी हो जाती है। फाइबर, शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करते है और अतिरिक्त वसा भी कम करते है।

स्प्राउट में विटामिन की मात्रा काफी ज्यादा होती है। इनमें विटामिन ए, बी - कॉम्पलेक्स, सी और ई होता है। रिसर्च में पाया गया कि स्प्राउट में अनाज के मुकाबले 20 गुना ज्यादा विटामिन होता है।

अगर आप स्प्राउट घर पर तैयार करते है तो यह बिल्कुल शुद्ध होते है। बाहर से पैक स्प्राउट लेने से बचें, इनमें फूड प्रीजर्ववेटिव्स मिले होते है। इसके अलावा, जब भी स्प्राउट बनाने के लिए दाल या अनाज को भिगोएं तो अच्छी तरह साफ कर लें और उसे धो लें। इस तरह उनमें कीटों से सुरक्षित रखने वाली दवा की असर भी धुल जाएगा।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.