खबरे NEWS ROUND: पढियें जिले की हर एक छोटी खबर सिर्फ 5 मिनट में NEWS: नीमच में कांग्रेस हुई एक, भाजपा के लिये बडी मुकिश्‍ले, सत्‍तू भैय्या बोले कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशियों को विजयी बनाएँ, पढें खबर BIG BREAKING : कांग्रेस के कद्दावर बागी ओमसिंह भाटी सहित तीन गिरफ्तार भेजे गए जेल, भाटी बोले ना इंसाफी कर रहा है प्रशासन NEWS: कांग्रेस प्रत्याशी आंजना को क्षैत्रावासियों का मिल रहा भरपूर स्नेह और समर्थन, किसान विरोधी सरकार को उखाड़ फेंकना ही राहत का पाने का एक मात्रा रास्ता, पढें खबर OMG ! नीमच में नकबजन गिरोह का पर्दाफाश, 03 सदस्य गिरफ्तार, 06 देशी पिस्टल (12 बोर), 09 कारतूस सहित नगदी जप्त, लगभग 01 दर्जन वारदातों को दिया था अंजाम , पढें खबर BIG BREAKING : कद्दावर कांग्रेस के बागी ओमसिंह भाटी आचार संहिता उल्लंघन के मामले में गिरफ्तार, 300 ट्रेक्टरो के साथ निकाल रहे थे रैली NEWS: विधानसभा चुनाव, विधानसभा मनासा के वल्नरेबल हेमलेट, संवेदनशील मतदान केन्द्रों एवं संवेदनशील क्षेत्रों में एसएसबी एवं पुलिस का फ्लैग मार्च, पढें खबर NEWS: हज कमेटी के चेयरमेन इनायत कुरैशी ने बोले स्टेट हज कमेटी मुहैया करवाती है बेहतर सुविधाएं, इंदौर में हज कमेटी का सम्मारोह संपन्न, पढें खबर REPORT : कांग्रेस प्रत्याशी परशुराम की डूबती दिख रही है नैया, इसलिए बार बार आ रहे है सिंधिया,पढ़े खब NMH MANDI: चना 100, धनियां 100, मैथी 50 रूपये तेज, चना डॉलर 100, रायडा 25 रूपये नरम के साथ एक क्लिक में पढें नीमच मंडी भाव, जाने महेन्‍द्र अहीर के साथ किस धान में आया उछाल

NEWS: जेपी तेलकार ने की प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा से चर्चा, प्रदेश में कांग्रेस विधानसभा की 150 सीटों से अधिक पर जीतेगी चुनाव, पढें खबर

Image not avalible

NEWS: जेपी तेलकार ने की प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा से चर्चा, प्रदेश में कांग्रेस विधानसभा की 150 सीटों से अधिक पर जीतेगी चुनाव, पढें खबर

नीमच :-

मनासा प्रवास के दौरान पिपलिया रुके, मध्यप्रदेश कांग्रेस मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा से हुई मुलाकात में उन्होंने कई प्रश्नों पर केन्द्र व भाजपा सरकार को जमकर कोसा वहीं दावा किया कि आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 150 से अधिक सीटों चुनाव जीतेगी और मप्र में कांग्रेस की सरकार बनेगी साथ ही यह भी दावा किया कि सरकार बदलने के बाद भ्रष्टाचारी के दस्तावेजी प्रमाण के आधार पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान व उनके परिवार को जेल जाने से कोई नही रोक सकता। 

प्रश्न:- कर्नाटक चुनाव में आए परिणाम के बाद भी कांग्रेस को उम्मीद है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी ?

उत्तर - कर्नाटक से मप्र की तुलना करना उचित नही है, हर राज्य की भौगौलिक व राजनीतिक परिस्थितियां भिन्न-भिन्न होती है, मप्र में शिवराज सरकार के खिलाफ आक्रोश है, पूरी सरकार आखंड भ्रष्टाचार में डूबी हुई है, समाज का हर वर्ग शिवराजसिंह के छल-कपट झंूठे वायदे और धोखे से परेशान होकर भाजपा से दो-दो हाथ करने को तैयार बैठा है।

प्रश्न:- छह किसानों की छह जून को हत्या हुई थी, बरसी पर कांग्रेस के आयोजन की क्या तैयारी है ? 

उत्तर:- मंदसौर जिले में सरकार के इशारे पर पुलिस ने छह किसानों को गोलियों से भून दिया, इस लिहाज से मंदसौर कांग्रेस के उक्त आरोपों का सबसे बड़ा साक्षी बन गया है। छह जून को किसानों के खिलाफ सरकार द्वारा फैलाई गई अराजकता की बरसी है, इस दिन एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। जिसमें भाजपा को छोड़कर अन्य सभी दलों को आमंत्रित कर दिवंगत किसानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

प्रश्न:- प्रदेश अध्यक्ष बदलने के बाद कांग्रेस में क्या बदलाव आएगा ?

उत्तर:- कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर सिर्फ प्रदेश ही नही देश के सर्वमान्य नेता कमलनाथ को नई बागड़ोर प्रदेश अध्यक्ष के रुप में सौंपी है, उनका राजनैतिक कद, विकराल सोच और व्यक्तित्व पूरे प्रदेश के नेताओं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को साथ लेकर भाजपा सरकार को शिस्कत देगा और हम 150 से अधिक सीटों पर काबिज होंगे। कांग्रेस के पास मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान व उनके परिवार सहित अन्य भाजपा नेताओं के भ्रष्टाचार के दस्तावेजी प्रमाण मौजूद है, सरकार बदलने पर इन्हें जेल जाने से कोई भी नही रोक सकता है।  

प्रश्न:- वर्तमान सरकार किसानों को रिझाने के लिए विभिन्न योजनाएं चला रही है, क्या चुनाव में किसान कांग्रेस का साथ देंगे ?

उत्तर:- आने वाले दिनों में प्रदेश की जनता मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार के खिलाफ कांग्रेस के सकारात्मक किंतु आक्रमक रुख को देखेगी। क्योंकि भय, आंतक और सरकार के दुरुपयोग से कांग्रेस या अन्य राजनैतिक दलों के मंूह को बंद नही किया जा सकता है, सभी गैर भाजपाई राजनैतिक दल मिलकर सरकार की वास्तविक हकीकत जनता के बीच लेकर जाएंगे और मुख्यमंत्री व सरकार के दौहरे चरित्र को बेनकाब करेंगे। मुख्यमंत्री अपने आप को किसान का बेटा कहते है, किंतु किसानों के नाम पर उन्होंने किसानों के साथ सिर्फ छल किया है, लहसुन के दामों को लेकर किसानों के साथ धोखा किया जा रहा है, वह कांग्रेस के आरोपों को पुख्ता कर रहा है, फसल बीमा किसानों को कितना मिला ? केन्द्र ने विभिन्न आपदाओं के बाद आपदा प्रबंधन के रुप में पिछले चार वर्षों में किसानों के हित में कितनी राशि का आवंटन किया ? प्याज की समर्थन मूल्य पर की गई खरीदी में कितने करोड़ों रुपयों का भ्रष्टाचार हुआ ? नागरिक आपूर्ति निगम ने कितने क्ंिवटल प्याज की कालाबाजारी की ? सरकार नौकरशाह और दलालों ने मिलकर किसानों के नाम पर कितने करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार किया है ? खाद कीटनाशक, बिजली, और गुणवत्ता वाला बीज किसानों को क्यों नही मिला ? किसान हितेशी बात करने वाले मुख्यमंत्री बताए पिछले 14 वर्षों में खाद बीज की कालाबाजी करन वाले कितने मुनाफाखोरों को सरकार ने गिरफ्तार किया ? शायद एक भी नही। इन सब बातों का जवाब कथित किसान पुत्र को देना होगा। कांग्रेस इन सब का आने वाले दिनों में पर्दाफाश करेगी।

प्रश्न:- बड़े-बड़े घोटालों व भ्रष्टाचार को लेकर सरकार के खिलाफ कांग्रेस बेहतर प्रदर्शन नही कर पाई ?

उत्तर:- काग्रेस ने सरकार के खिलाफ हर जन विरोधी मुद्दे को लेकर सरकार व सदन पर घेरा है, चंूकि विपक्ष की आवाज को सरकार ने, न केवल दबाया बल्कि सरकार के नियंत्रण में चलने वाले जनसंपर्क विभाग ने मीडिया की आजादी को विज्ञापन के प्रभावों में रोकने का प्रयास किया है, लिहाजा हकीकत आम जनता तक नही पहंुच पाई, इसलिए कांग्रेस ने सोशल मीडिया को सरकार के खिलाफ राजनैतिक हमलों का आधार बनाया है और उसमें हम सफल भी हो रहे है। 

प्रश्न:- व्यापमं घोटाले को लेकर कुछ दिन विरोध प्रदर्शन के बाद कांग्रेस इस मुद्दे को भूल गई:- 

उत्तर:- व्यापमं घोटाले को लेकर सरकार की ओर से मेरे खिलाफ लगाया गया मानहानि का प्रकराण शायद 1956 में मप्र के गठन के बाद पहला प्रकरण था, जिसमें मुझे दो वर्ष की सजा और 25 हजार रुपए अर्थदंड भी लगाया, किंतु सर्वोच्य न्यायालय से सरकार के खिलाफ पारित आदेश के बाद सरकार को व मुख्यमंत्री को मंूह की खानी पड़ी है, अब उन्होंने एक बार फिर भोपाल की अदालत में व्यक्तिगत तौर पर मानहानि प्रकरण लगाया है, इसमें भी मैं उन्हें मंूह की खिलाउंगा और फिर कहना चाहूंूगा कि मुख्यमंत्री का परिवार व्यापंम घोटाले में पूरी तरह शामिल है, व्यापंम घोटाले के कारण 58 संदिग्ध मौतें हुई, जिसकी सूची कांग्रेस ने सार्वजनिक की थी और इस घोटाले ने एक लाख 40 हजार बच्चों के जीवन के समक्ष अंधेरा परोसा गया है, आने वाले दिनों में व्यापंम घोटाला फिर सुर्खियों में आने वाला है।

प्रश्न:- कांग्रेस गुटबाजी से बाहर नही निकल पा रही है:- 

उत्तर:- कोई गुटबाजी नही है, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ व व चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष ज्योरिादित्य सिंधिया सहित वरिष्ट नेताओं को साथ लेकर चल रहे है, जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उन्हें पूरा सहयोग मिल रहा है, जब कार्यकर्ता और जनता सरकार बदलने की ठान चुके है, तो कोई भी ताकत शिवराज सरकार को बचा नही सकती है, आगामी विधानसभा चुनाव, जनता विरुद्ध भाजपा सरकार के खिलाफ होगा। जिसमें जनता की विजय होगी।

प्रश्न:- मुख्यमंत्री के लिए कांग्रेस का चेहरा कौन होगा ? 

उत्तर:- कांग्रेस पार्टी में कुछ एक प्रकरण को छोड़ दे तो मुख्यमंत्री घोषित करने की परम्परा नही रही है, प्रदेश में सरकार बनने के बाद हमारे 150 से अधिक निर्वाचित विधायक मुख्यमंत्री का खुद चयन करेंगे, जो भी मुख्यमंत्री का चेहरा होगा वो जनता के ईमानदार चेहरे के रुप में सामने आएगा। 

प्रश्न:- विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा सक्रिय है, कांग्रेस की क्या तैयारी है ?

उत्तर:- कांग्रेस की बूथ लेवल तक तैयारी हो चुकी है, चंूकि रणनीति सार्वजनिक नही की जा सकती है, लेकिन इतना तय है कि कांग्रेस की रणनीति भाजपा के किले को धवस्त कर उनके मलबे पर बुलडोजर चला देगी, क्योंकि भाजपा का धरातल केवल झंूठ की बुनियाद व भाषणों पर टिका हुआ है, हमने अंग्रेजों के खिलाफ संघर्ष किया है, तो ये कागजी किला भी इस बार जरुर धवस्त कर देंगे, क्योंकि अब कार्यकर्ता व जनता दोनों हमारे साथ है। 

प्रश्न:- नोटबंदी का काफी विरोध हुआ, बावजूद चुनाव परिणाम भाजपा के पक्ष में आए ?

उत्तर:- नोटबंदी व जीएसटी का असर गुजरात चुनाव में प्रधानमंत्री देख चुके है, जो भी परिणाम इसके बाद आए है, वो ईवीएम महारानी की कृपा का परिणाम है, शाह और तानाशाह का जादू अब पूरी तरह बिखरने को है, लोकसभा चुनाव आने तक मोदी व शाह के खिलाफ भाजपा में खुली बगावत होगी यह मेरी भविष्यवाणी है। 

प्रश्न:- प्रदेश में हुए उप चुनावों में कांग्रेस बेहतर प्रदर्शन नही कर पाई:- 

उत्तर:- हमने लगातार छह विधानसभा, एक लोकसभा व नगरीय निकायों के चुनाव में 55 प्रतिशत स्थानों पर विजय पताका फहराई है, कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा है, वहीं भाजपा का वोट प्रतिशत गिरा है। 

प्रश्न:- ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी सामने आने के बाद क्या कांग्रेस आगामी चुनाव मतपत्र से कराने की मांग करेगी ?

उत्तर:- अटेर में हुए विधानसभा चुनाव में साबित हो गया कि सरकार ने चुनाव जीतने के लिए ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की थी।  2019 में जब देश में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो अन्य राजनैतिक दलों से चर्चा कर आवाम की भावनाओं के अनुरुप निर्णय लेते हुए मतपत्रों से ही चुनाव कराए जाएंगें। ईवीएम मशीन से चुनाव पर प्रतिबंध लगाने के प्रयास होंगे। 

प्रश्न:- चुनाव में मतादाता सूचियों में हेरफेर हुआ, ईवीएम में भी गड़बड़ सामने आई, कांग्रेस ने क्या किया ? 

उत्तर:- कोलारस मंुगावली के विधानसभा उप चुनाव में मतादाता सूचियों में भारी धांधलियां हुई, प्रशासनिक अमला भाजपा का अनुशांगिक संगठन बना हुआ है, मुख्यमंत्री ने नौकरशाहों से भाजपा के पक्ष में चुनाव के दौरान काम कराया, और इसका प्रमाण इस बात से स्पष्ट हो रहा है, कांग्रेस की शिकायत पर जिन कलेक्टर, एसपी व एसडीएम को हटाया था, मतदान की घोषणा होने के सात दिन के भीतर मुख्यमंत्री ने उन अधिकारियों को पुनः वहीं पदस्थ कर दिया। यह कौन सा ईमानदारी का सौदा है ? अन्त में केके मिश्रा ने कहा कि देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत (जो मप्र के ही निवासी है) वे वास्तविक तौर पर ईमानदार अधिकारी है, उनके रहते अब निर्वाचन आयोग में बड़बड़ी का आशंका कम दिखाई देगी। 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.