BIG BULLETIN: AIIMS में वाजपेयी : मुलाकात और दुआओं का सिलसिला जारी, पंडित नेहरू के बाद भिलाई स्टील प्लांट जाने वाले दूसरे प्रधानमंत्री होंगे मोदी, के साथ जाने आज की खबरे

Image not avalible

BIG BULLETIN: AIIMS में वाजपेयी : मुलाकात और दुआओं का सिलसिला जारी, पंडित नेहरू के बाद भिलाई स्टील प्लांट जाने वाले दूसरे प्रधानमंत्री होंगे मोदी, के साथ जाने आज की खबरे

नीमच :-

संदेह के घेरे में भय्यूजी महाराज का सुसाइड नोट

आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज की मौत के रहस्यों की गुत्थी उलझती जा रही है भय्यूजी महाराज के द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं. आम लोगों और भय्यूजी महाराज के रिश्तेदारों के बाद उनके सुसाइड नोट पर अब उनके परिजन ही सवाल उठा रहे हैं दरअसल, भय्यूजी महाराज ने सुसाइड नोट के दूसरे पन्‍ने में अपने आश्रम, प्रॉपर्टी और वित्‍तीय शक्‍तियों की सारी जिम्‍मेदारी अपने वफादार सेवादार विनायक को सौंप दी है. सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि आम लोगों के बाद उनके सुसाइड नोट पर अब उनके परिजन ही सवाल उठा रहे हैं. हालांकि अभी कोई खुलकर इस बारे में बात नहीं कर रहा है. भय्यूजी के परिवार से कोई भी अभी तक मीडिया से बात नहीं कर रहा है. लेकिन सुसाइड नोट पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं पुलिस इस मामले से निपटने के लिए हैंडराइटिंग एक्सपर्ट की मदद लेने जा रही है  सूत्रों का यह भी कहना है कि इस पर शक जताया जा रहा है कि सुसाइड नोट भय्यूजी ने ही लिखा है. वहीं भय्यूजी महाराज के रिश्तेदारों का भी कहना है कि वह सभी मामलों में विनायक के दखल से खुश नहीं थे. दरअसल, विनायक पर दिवंगत भय्यूजी महाराज को इतना भरोसा था कि उनकी जिंदगी से जुड़ी हर बात विनायक को पता होती थी. उनके हर फैसले में विनायक सहभागी होते थे. महाराज भी उनकी बात का आदर करते थे

एक साल से कॉलेज में हो रही थी रैगिंग, छात्र ने रिश्तेदार के घर में किया सुसाइड

मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के एक छात्र ने रैगिंग से परेशान होकर खुदकुशी कर ली है. बताया जा रहा है कि छात्र के साथ कॉलेज में पिछले एक साल से रैगिंग हो रही थी. वह भोपाल में एक मेडिकल कॉलेज में पढ़ता था दरअसल, छात्र भोपाल के लक्ष्मीनारायण मेडिकल कॉलेज में पढता था. और पिछले एक साल से रैंगिंग का शिकार था. कॉलेज में पिछले एक साल से रैगिंग हो रही थी. छात्र इससे परेशान रहता था. इसी परेशानी के चलते छात्र ने बैतूल में रिश्तेदार के घर पर फांसी लगाकर की खुदकुशी कर ली घटना की खबर मिलते ही कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस इस मामले में जांच कर रही है. पुलिस ने बताया कि भोपाल के कॉलेज में हुई रैगिंग की घटना की भी जांच की जा रही है. और छात्र यश के दोस्तों से भी करने की कोशिश की जा रही है

रूस में फुटबॉल महाकुंभ का आज से आगाज

डेस्क। आज से फुटबॉल के महाकुंभ का आगाज होने जा रहा है। पहले मुकाबले में मेजबान रूस का मुकाबला सऊदी अरब से होगा फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण का पहला मैच में मास्को के लुज्निकी स्टेडियम में खेला जाएगा इस मैच को लेकर दर्शकों में उत्साह अपने चरम पर है। हेरिटेज म्यूजिम में मौजूद एचिलेस नामक बिल्ली ने गुरुवार से शुरू हो रहे फीफा विश्व कप के पहले मैच में मेजबान रूस के जीतने की भविष्यवाणी की है खैर ऐसा पहली बार नहीं है जब किसी जानवर ने फीफा विश्व कप में जीत की भविष्यवाणी की है। इससे पहले ऑक्टोपस पॉल ने फीफा विश्व कप को लेकर भविष्यवाणियां की थीं जो काफी हद तक सही साबित हुई थीं। देखना होगा कि एचिलेस नामक इस बिल्ली की भविष्यवाणियां कितनी सही साबित होती हैं रूस के 11 शहरों के 12 स्टेडियम में विश्व कप के मैच खेले जाएंगे। इनमें कुछ स्टेडियम को खासतौर पर फीफा विश्व कप के लिए तैयार किया गया है। पहला मैच जिस स्टेडियम में खेला जाएगा, उसी स्टेडियम में फाइनल मैच भी खेला जाएगा। फीफा विश्व कप में शामिल होने वाली 32 टीमों को आठ ग्रुप में बांटा गया है

ई-टेंडर घोटाला: व्हिसल ब्लोअर IAS को जबरन छुट्टी पर भेजा

भोपाल। करीब 3 लाख करोड़ के ई-टेंडर घोटाले में खबर आ रही है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले सीएम शिवराज सिंह के निर्देश पर घोटाले का खुलासा करने वाले व्हिसल ब्लोअर एवं पीएचई के प्रमुख सचिव प्रमोद अग्रवाल आईएएस को जबरन छुट्टी पर भेज दिया गया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने आरोप लगाया है कि सरकार मामले की लीपापोती कर रही है। यह मध्यप्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है। सीएम शिवराज सिंह का इस संदर्भ में कोई बयान नहीं आया है। मजेदार बात तो यह है कि ई-टेंडर का सिस्टम घोटालों से बचने के लिए ही बनाया था बता दें कि मप्र के बड़े घोटालो में शुमार ई-टेंडर घोटाला मामले में श्री अग्रवाल ने मैप-आइटी के डायरेक्टर मनीष रस्तोगी को पत्र लिखकर मामले की तकनीकी जांच करने को कहा है। सूत्रों का कहना है कि इसमें सीएम शिवराज सिंह के नजदीकी कहे जाने वाले 05 आईएएस अफसर शामिल हैं। अब सरकार इस मामले को दबाने में पूरी ताकत से जुट गई है। कांग्रेस में कमलनाथ के अलावा किसी दिग्गज का बयान सामने नहीं आया है। शायद इस ई-टेंडर घोटाला कुछ कांग्रेसी नेता भी लाभान्वित हुए हैं

यूनिवर्सिटी में शिक्षक भर्ती के लिए Phd अनिवार्य

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने यूनिवर्सिटी में शिक्षकों की भर्तियों के लिए पीएचडी डिग्री अनिवार्य कर दी है। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को बताया कि 2021-22 से असिस्टेंट प्रोफेसर पद के लिए केवल राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) नहीं, बल्कि पीएचडी की डिग्री जरूरी होगी। यूजीसी के नए नियमों का ऐलान करते हुए जावड़ेकर ने कहा, "अकेडमिक परफॉर्मेंस इंडिकेटर (एपीआई), जो अभी तक कॉलेज के सभी शिक्षकों के लिए अनिवार्य था, इसे समाप्त कर दिया गया है उन्होंने बताया कि ऐसा इसलिए किया गया ताकि शिक्षक अपना पूरा ध्यान बच्चों को पढ़ाने में दे सकें। नियमों में बदलाव उच्च शिक्षा को और बेहतर बनाने के लिए किए गए हैं, जिससे देश में अच्छी प्रतिभा बनी रहे। उन्होंने कहा, नई भर्तियां केवल पीएचडी के आधार पर होंगी इसलिए सरकार ने नए नियम लागू करने के लिए तीन सालों का वक्त दिया है उन्होंने बताया, "प्रोत्साहन राशि और बाकी के नियम पहले जैसे ही अनिवार्य रहेंगे। केवल एपीआई को खत्म किया गया है। शिक्षकों को कोई भी रिसर्च अनिवार्य नहीं होगी, लेकिन उन्हें पूरा ध्यान बच्चों की शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करना होगा। शिक्षा की गुणवत्ता के आधार पर शिक्षकों का प्रमोशन होगा। अगर कोई शिक्षक अपनी रिसर्च पूरी करता है तो यह उसके प्रमोशन के लिए अतिरिक्त लाभ होगा


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.