TOTKE: आधी रात को लग गया सूर्यग्रहण का सूतक, बरतें सावधानियां

Image not avalible

TOTKE: आधी रात को लग गया सूर्यग्रहण का सूतक, बरतें सावधानियां

डेस्क :-

11 अगस्त यानी आज दोपहर लगनेवाला सूर्यग्रहण इस साल का पांचवां और आखिरी सूर्यग्रहण है। भारतीय समय के अनुसार सूर्यग्रहण आज दोपहर 1 बजकर 32 मिनट पर शुरू होगा और शाम को 5 बजकर 1 मिनट पर ग्रहण खत्म होगा। सूर्यग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले लग जाता है, ऐसे में आज रात 1 बजकर 32 मिनट से सूतक काल प्रारंभ हो गया है। आइए, जानते हैं सूर्यग्रहण के दौरान क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए..

ग्रहण शुरू होने से पहले खाने की बनी हुई चीजों में तुलसी के पत्ते डाल दें। दूध में भी तुलसी डालना न भूलें। तुलसी के पत्ते ग्रहण के समय निकलनेवाली हानिकारक तरंगों से भोजन को दूषित नहीं होने देते।

आजकल घरों में पीने का पानी भी भरकर रखा जाता है। ऐसे में पीने के पानी में धुलकर साफ किए हुए तुलसी के पत्ते और कुछ बूंदें गंगाजल की मिला दें। इससे यह दूषित नहीं होगा।

क्लिक कर पढ़ेंः Solar eclipse horoscope: साल का अंतिम सूर्यग्रहण, देखें आपकी राशि पर कैसा रहेगा प्रभाव

रात लगे सूतक काल के कारण आज हमारे दिन की शुरुआत सूतक काल में ही हुई है। सनातन धर्म में कई कार्यों को सूतक काल के दौरान करने की मनाही है। इस समय गर्भवती महिलाओं को चाकू और कैंची के प्रयोग से बचना चाहिए।

मंदिर या घर के मंदिर में पूजा न करें। भगवान की मूर्ति को स्पर्श न करें। आप रोज सुबह पूजा करते हैं तो आज मंदिर में पूजा न करके किसी साफ जगह बैठकर मन हीमन भगवान का स्मरण करें।

ग्रहण खत्म होने के बाद पूरे घर में झाडू़ लगाकर गंगाजल का छिड़काव करें। भगवान के मंदिर को गंगाजल छिड़ककर पवित्र करें और धूप-दीप कर उन्हें भोग अवश्य लगाएं।

वैसे भारत में सूर्यग्रहण नहीं दिखने के कारण आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। बस पूजा-पाठ से जुड़े नियमों का ध्यान रखें। चूंकि सूर्यग्रहण के साथ आज शनि अमावस्या भी है इसलिए दान-पुण्य करना शुभ रहेगा।

इस साल का पहला सूर्यग्रहण 15 फरवरी को, दूसरा 13 जुलाई को और अब तीसरा 11 अगस्त को पड़ने जा रहा है। इस साल कुल 5 ग्रहण के योग बने, जिनमें तीन सूर्यग्रहण और 2 चंद्रग्रहण शामिल हैं। साल का पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी और दूसरा चंद्रग्रहण 27 जुलाई को लगा था।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.