खबरे Exit Poll 2019: इस हिंदी भाषी राज्य में NDA पर भारी पड़ा UPA, मिलीं इतनी सीटें, पढें खबर EDUCATION: 12वीं पास छात्र-छात्राओं को दिया निशुल्‍क प्रशिक्षण, बताया बेहतर भविष्‍य बनानें का तरीका, पढें खबर BIG BREAKING: पुलिस की बडी कार्रवाही, बल्‍क मात्रा में की अवैध मादक पदार्थ अफीम जब्‍त, कार्रवाही जारी, पढें खबर VIDEO LIVE: वन विभाग की लापरवाही के चलते यू मारा गया तेंदुआ, ग्रामीणो के हाथो, देखेंगे तो हो जायेगे रोंगटे खडें, तेंदुए की मौत का लाईव विडियों Analysis: मैदानी तौर पर कमजोरी और अपनी ही योजनाओं को लोगों तक नहीं पहुंचा पाई कांग्रेस, पढें खबर ELECTION 2019: वोटिंग के बाद अब काउंटिंग की टेंशन, सीधे PHQ रखेगा सब पर नज़र, पढें खबर BIG NEWS: गर्भवती महिला को किया रतमाल रैफर, रास्‍तें में मौत, आक्रोशित परिजनों ने की पीएचसी में तोड-फोड, पढें खबर OMG ! उल्टी-दस्त से पिता-पुत्र की मौत, परिवार के 5 लोग बिमार, पुलिस जांच में जुटी, पढें खबर OMG ! भाजपा प्रत्‍याक्षी द्वारा रूपए बांटनें की शिकायत पर प्रकरण दर्ज, डीएम के आदेश पर पुलिस ने की जांच शुरू, पढें खबर BIG NEWS: एसडीएम व एसडीएम रीडर को नहीं हटाने तक जारी रहेगी हड़ताल, कलेक्‍टर को पत्र भी भेजा, पढें खबर NEWS: शादी की 50वीं सालगिरह पर नाहर दंपति ने की देहदान की घोषणा, पढें खबर ELECTION 2019: सभी नोडल अधिकारी मतगणना दायित्वो को तत्परता पूर्वक पूरा करें, डीएम मीना, पढें खबर BIG NEWS: घर के सामने मिला युवक का शव, परिजन ने लगाया हत्या का आरोप, पुलिस जांच में जुटी, पढें खबर

MP NEWS: भारत बंद, 45 जिलों में गुस्सा, पूरा मध्यप्रदेश अलर्ट पर, पढें खबर

Image not avalible

MP NEWS: भारत बंद, 45 जिलों में गुस्सा, पूरा मध्यप्रदेश अलर्ट पर, पढें खबर

:-

एससी एसटी एक्ट और जातिगत आधार पर आरक्षण के खिलाफ 6 सितम्बर भारत बंद के आह्वान ने शिवराज सिंह सरकार की नींद उड़ा दी है। खुफिया जानकारी मिली है कि मध्यप्रदेश के 45 जिलों में लोग आक्रोशित हैं। अत: अब पूरे मध्यप्रदेश को अलर्ट पर ले लिया गया है। पुलिस मुख्यालय ने निर्देश जारी कर दिए हैं। इस बंद का सपाक्स के साथ 35 संगठनों ने समर्थन किया है। इस इनपुट के बाद PHQ ने सभी संभागों में अतिरिक्त पुलिस फोर्स मुहैया करा दिया है। शिवपुरी सहित कई जगहों पर धारा 144 लगा दी गयी है।

एससी-एसटी एक्ट और जातिगत आधार पर आरक्षण के ख़िलाफ मध्यप्रदेश में तेज़ी से माहौल बनने लगा है। सवर्णों की तरफ से छह सितंबर को बंद की घोषणा की गई है। प्रदेश के कई जिलों में बंद के समर्थन में उतरे संगठनों ने प्रदर्शन और रैली करने के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी है। सोशल मीडिया पर भी बंद का तेज़ी से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। ये बंद राजनीतिक हिसाब से इसलिए भी मायने रखता है, क्योंकि कई नेताओं का विरोध एससी-एसटी एक्ट और जातिगत आधार पर आरक्षण को लेकर शुरू हो गया है।

प्रदेश के ग्वालियर, चंबल, उज्जैन, कटनी, सतना, जबलपुर, सीधी, रीवा, हरदा, विदिश, सागर, टीकमगढ़ सहित 45 जिलों में सपाक्स ने सवर्णों के दूसरे संगठनों के साथ बैठक की। संगठनों ने व्यापारी संगठनों से समर्थन मांगा है। सपाक्स की सक्रियता के कारण नेताओं में खलबली है। प्रदेश से लेकर दिल्ली तक टेंशन का माहौल है। भोपाल के एक गांव में तो बैनर लगाकर लिख दिया गया कि ये सवर्णों का गांव है। बंद के व्यापक असर की आशंका देखते हुए खुफिया एजेंसियों ने नई रणनीति बनाई है।

सवर्णों के बंद के बीच सीएम की जनआशीर्वाद यात्रा में पथराव की घटना को लेकर भी पुलिस मुख्यालय सतर्क है। पुलिस मुख्यालय ने सभी एसपी को स्थानीय स्तर पर विधायकों, सांसदों और मंत्रियों की सुरक्षा व्यवस्था पुख़्ता करने के लिए कहा है। पुलिस मुख्यालय के निर्देश के बाद ज़िला और संभाग स्तर पर आईजी और एसपी स्थिति के हिसाब से कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र हैं। ज़रूरत पड़ने पर इंटरनेट सेवा भी बंद की जा सकती है। ज़िला प्रशासन संवेदनशील क्षेत्रों के आधार पर धारा 144 लागू कर रहा है। पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टी निरस्त कर दी गई है।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.