खबरे VIDEO: बंधवार गोलीकांड, पहले दादा को किया था नमस्‍कार, फिर ठोक दिया दादा को, गली गली घूमकर पहुंचा प्रतापगढ, सुनिए आग जलाते हुवें क्‍या बोला कातिल बैरागी, देखे विडियों NEWS: नगर में जैन समाज ने निकाला ध्वजा जुलूस, समाज ने दिया जियों और जीने दो का संदेश, पढें खबर NMH MANDI: सोयाबीन में आई तुफानी तेजी, उपर में बिकी 3900 रूपए, कलोंजी व चना डालर 200 तेज, अजवाईन 300, चना 50 नरम के साथ एक क्लिक में पढें नीमच मंडी भाव, जाने महेन्‍द्र अहीर के साथ किस धान में आया उछाल BIG NEWS: कृषि उपज मंडी में पहले उपज और अब ट्रैक्‍टर भी चोरी, एक महीनें में दूसरी ट्रैक्‍टर चोरी की घटना, पढें महेंद्र अहीर प्‍यासा की खबर NEWS: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद रामपुरा का विवेकानंद जीवन दर्शन कार्यक्रम संपन्न, पढें खबर BREAKING NEWS: नपाध्‍यक्ष के हत्‍यारें की कोर्ट में पेशी, कोर्ट से मिला 4 दिन का पुलिस रिमांड, खुल सकते है हत्‍या से जुडे और भी राज, पढें खबर VIDEO: बंधवार गोलीकांड, आरोपी मनीष ने अगले राज, बोला हां में भाजपा का हूँ, घर पर पड़ी थी माँ की लाश दादा से मांगे थे रूपये, बस उसके बाद खा ली थी कसम, सुनिये और क्‍या बोला कातिल मनीष बैरागी NEWS: गौमाता के दुध से उम्र बढ़ जाती है लेकिन मनुष्य दारु पीकर उम्र घटा रहा है देवकृष्ण शास्त्री, पढें खबर NEWS: नपाध्‍यक्ष प्रहलाद बंधवर हत्‍याकांड, स्‍वेच्छिक व्‍यवसाय बंद, तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन, पढें खबर NEWS: मध्‍यान भोजन के अभाव में कैसे करें योजना का संचालन, महिला एवं बाल विकास की बडी लापरवाही, नहीं दे रहें ध्‍यान, पढें खबर VIDEO: भावांतर के आ‍खरी दिन कुछ इस तरह हुआ मालवा की सबसे बडी कृषि उपज मंडी में खेल, राजस्‍थान के किसानों को मिला लाभ, बता रहे हमारे रिपोर्टर श्‍याम गुर्जर NEWS: ऋण माफी योजना के चलते किसानों ने भरे आवेदन, किसानों को आवेदन भरने की रसीद भी प्राप्‍त, पढें खबर NEWS: नगर में भागवत कथा का आयोजन, निकाली भव्य कलश यात्रा, पं. माधव मुखिया के मुखारविंद होगा कथा का वाचन, पढें खबर

TOTKE: जानिए क्यों मनाया जाता है भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक भैया दूज का त्योहार

Image not avalible

TOTKE: जानिए क्यों मनाया जाता है भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक भैया दूज का त्योहार

डेस्क :-

दीपों के त्योहार दीवाली के एक दिन बाद भाई दूज का त्योहार आता है. ये त्यौहार भाई बहन के प्रेम का प्रतीक है. हर हिंदू त्योहार की तरह इस दिन की भी अपनी अलग कहानी है यानी एक ऐसी पौराणिक कथा जिसके लिए इस दिन को मनाया जाता है. आइये हम आपको बताते हैं क्या है वो पौराणिक कथा- दरअसल संज्ञा से सूर्य की दो संतान थीं पुत्र यमराज और पुत्री यमुना. वहीं सूर्य का तेज बर्दास्त न कर पाने की स्थिति में संज्ञा ने अपनी छायामूर्ति बनाई और दोनों बच्चों के उन्हें सौंपकर चली गई. हालांकि छाया को यम और यमुना से कोई प्रेम नहीं था लेकिन दोनों भाई बहनों में बहुत प्यार था.

बेहद लगाव के बावजूद यमराज बहुत कामकाज का कारण अपनी बहन से मिलने का वक्त नहीं निकाल पाते थे. एक दिन वे लंबे समय बाद बहन की नाराजगी दूर करने पहुंचे यमराज को देखकर यमुना खुशी से झूम उठीं. यमुना ने बाई का खूब स्वागत किया और ढेरों व्यंजन बनाकर उन्हें खिलाए. यमराज को इतना अधिक प्रेम आदर और सत्कार की आशा न थी.

ऐसे में उन्होंने अपनी बहन यमुना को विविध भेंट समर्पित की. जब वे जाने लगे तो बहन यमुना से बोले अपनी इच्छा का वरदान मुझसे मांग लो. इसपर यमुना ने कहा कि अगर कोई वरदान ही मुझे देना है तो वचन दीजिए कि आज के दिन प्रतिवर्ष आप मेरे यहां आया करेंगे और मेरा आतिथ्य स्वीकार करेंगे.यमराज ने बहन से वादा किया. तब से आजतक इस दिन को भाईदूज के रूप में मनाया जाता है. इसे भाई बहन के प्रेम का प्रतीक माना जाता है.


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.