खबरे NEWS: गुस्‍साएं मगरमच्‍छ ने वन विभाग कर्मचारी पर किया हमला, बाल-बाल बचा कर्मचारी, पढें खबर VIDEO: मालवा में बारिश के साथ गिरे ओले, किसान बेहाल, काले सोने पर संकट, देखे विडियों BIG NEWS: मध्य प्रदेश में 41 लाख 50 हजार रुपए के पुराने नोट जब्त, 6 गिरफ्तार, पढें खबर NEWS: गणतंत्र दिवस फुटबॉल स्‍पर्धा के चलते आज होंगे दो मैच, एनएफए और न्‍यूं स्‍टार क्‍लब की टक्‍कर, पढें खबर NEWS: उठावना NEWS: अवैध शराब के साथ एक युवक गिरफ्तार, पढें खबर NEWS: नाले में निकला 7 फिट लम्बा मगरमच्छ, नगर में दहशत का माहौल, पढें खबर NEWS: शराब कंपनी के संचालक ने होटल संचालक से मारपिट की, प्रकरण दर्ज, पढें खबर NEWS: वाईस ऑफ एमपी की खबर का असर, नगर में सड़क का पेचवर्क निमाणकार्य शुरू, पढें खबर NEWS: दुसरों के लिए जियों और उनका दर्द समझों, यहीं सच्‍चा धर्म है, मानव सेवा सर्वश्रेष्ठ धर्म है, डॉ. सोहानी, पढें खबर COMMODITY MARKET: कमोडिटी बाजार में आज कहां लगाएं दांव BUSINESS: यहा क्लिक करेगें तो जानेगें नीमच सर्राफा भाव AUTOMOBILE: 2 साल बाद हिंदुस्तान भी लेगा उड़ने वाली कार का मजा, जानिए कीमत से लेकर फीचर्स तक GADGETS: आप भी है इस लोकप्रिय एप के दीवाने, तो तुरंत कर दें डिलीट, नहीं तो...

NEWS: नगर कोट राजा घास भेरू घुमे नगर में, पहले मदीरा पान किया फिर बेठे पालकी मे, पढ़ें दिनेश वीरवाल की खबर सालों से चली आ रही इस पंरपरा का सरवानिया की जीवन शैली से नाता

Image not avalible

NEWS: नगर कोट राजा घास भेरू घुमे नगर में, पहले मदीरा पान किया फिर बेठे पालकी मे, पढ़ें दिनेश वीरवाल की खबर सालों से चली आ रही इस पंरपरा का सरवानिया की जीवन शैली से नाता

नीमच :-

सरवानिया महाराज । शहर में पिछले कई दशकों से नगर कोट राजा घास भेरू को शहर भ्रमण की चली आ रही परंपरा का प्रति वर्ष अनुसार निर्वहन करते हुए माली मोहल्ला स्थित घास भेरू जी ने पूरे नगर का भ्रमण किया। मान्यता है कि घास भेरू के नगर भ्रमण से पूरे वर्ष भर नगर में रोग दोष नहीं आते हैं वही जो बैलों की जोड़ी  घास भैरू के भ्रमण में सहायता करती हैं वह पूरे वर्ष निरोगी रहती है।

सब्सक्राइब करे हमारे यूट्यूब चैनल को और पाए हर वीडियो ब्रेकिंग न्यूज़ सबसे पहले 

VIDEO NEWS : परशुराम और देवड़ा समर्थक हुए आमने सामने

VIDEO NEWS : मारू ने दिखाया दम, सुनिए क्या बोले भाजपा के लिए माधव मारु

घास भैरू के नगर भ्रमण के दौरान सभी  धर्म प्रेमी लोग घास भेरू जी को मदिरा पान करातें है तथा तेल प्रसाद के रूप में चढ़ाते हैं। आज भी प्रात: काल शहर भ्रमण के लिए घास भेरू जी माली मोहल्ला से निकल कर सदर बाजार सुथारों की  गली से होकर जावी चौराहे पर आए यहां से मुख्य रोड से होते हुए बस स्टैंड रावला चौक होते हुए वापस माली मोहल्ला पहुंच कर स्थान पर विराजमान हुए।

आतिशबाजी होती है चरम पर
घास भेरू के शहर भ्रमण के दौरान बैलों की जोड़ी  द्वारा घास भेरू को आगे की ओर ले जाने के दौरान नगर में आतिशबाजी चरम पर होती हैं । पटाखों की गूंज दीपावली को भी पीछे छोड़ देती है ।देखा जाए तो आतिशबाजी के दौरान किसी के भी द्वारा किसी प्रकार की कोई सावधानी नहीं रखी जाती हैं वही मान्यता है कि अब तक इस प्रकार की आतिशबाजी के बाद भी  शांतिपूर्ण तरीके से परंपरा का निर्वहन होता रहा है।

बैलों की कमी बनाम युवाओं का सहारा

पुराने समय के दौरान कृषि संबंधी समस्त कार्य बैलों की सहायता से होने के चलते नगर में बैलों की अधिकता थी ऐसे में घास भेरू के नगर भ्रमण के दौरान किसानों द्वारा अपने अपने बैलों की जोड़ी को जोतने के लिए कशमकश का माहौल रहता था किंतु समय के साथ बैलों की कमी होती गई जिसके चलते वर्तमान में कई बार  भ्रमण के दौरान कुछ स्थानों पर  बेल उपलब्ध नहीं हो पाते हैं ऐसे में नगर के युवा आगे बढ़कर घास भेरू के नगर भ्रमण में सहायता करते हैं।

आस-पास के गांव से आते हैं लोग

वर्षों से चली आ रही इस परंपरा को देखने के लिए आसपास के कई गांवों से बड़ी संख्या में लोग नगर में आते हैं वह घास भैरू के नगर भ्रमण के साथ ही आतिशबाजी में भी  हिस्सा लेते हैं ।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.