खबरे NEWS: जिला स्‍वास्‍थ्‍य समिति की बैठक 26 को, पढें खबर NEWS: जिला स्‍वास्‍थ्‍य समिति की बैठक 26 को, पढें खबर NEWS: जिले में अब तक 1036.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज, पढें खबर NEWS: कक्षा 5 व 8 में होगी त्रैमासिक परीक्षा का आयोजन, पढें खबर NEWS: जावद के ग्राम मोरवन में आपकी सरकार आपके द्वार शिविर 30 को, पढें खबर NEWS: तीन रेती के डम्‍बर जप्‍त, पढें खबर NEWS: मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड जागरूकता अभियान, पढें खबर OMG ! कांग्रेस नेता के दामाद ने चेक बुक चुराकर 2 करोड़ की धोखाधड़ी की रची साजिश, पढें खबर WOW: आर्थिक मंदी से घबराने की ज़रुरत नहीं, मोदी सरकार ने आम आदमी को दिए ये 6 तोहफे, पढें खबर NEWS: ब्राउन शुगर की तस्‍करी करनें वालें 4 वर्ष से फरार वारंटी को किया गिरफ्तार, पढें खबर NEWS: कुशाभाऊ ठाकरे की जन्म जयंती मनाने जुटे भाजपाई, पढें दिनेश वीरवाल की खबर NEWS: ठाकरे जी राष्ट्र को मजबूत और शक्तिशाली राष्‍ट्र के रूप में देखना चाहते, जीरन सरोवर किनारे मनी कुशाभाऊ की जयंती, पढें हरिओम माली की खबर NEWS: पंचायत समिति बनाने की मांग, बंद रहा सालमगढ़ कस्बा, पढें खबर OMG ! जेल के 25 में से 21 कैमरे बंद मिले, अव्यवस्थाओं पर जताई नाराजगी, पढें खबर NEWS: छात्रसंघ चुनाव के लिए 13 विद्यार्थियों ने दाखिल किए नामांकन, पढें खबर BIG NEWS: भाजपा ने किया विरोध प्रदर्शन, प्रदेश में कानून और प्रशासनिक व्यवस्था बिगडऩे का लगाया आरोप, पढें खबर NEWS: जीवन प्रशस्त करती है राम कथा, उत्तम स्वामी, पढें खबर

OMG ! दुर्लभ कंजेनिटल हाइपर ट्राईकोसिस सिंड्रोम से पीड़ित है रतलाम का ललित, रोग में बालों से ढंक जाता है शरीर, पढें खबर

Image not avalible

OMG ! दुर्लभ कंजेनिटल हाइपर ट्राईकोसिस सिंड्रोम से पीड़ित है रतलाम का ललित, रोग में बालों से ढंक जाता है शरीर, पढें खबर

रतलाम :-

रतलाम। शरीर में असामान्य बालों की अजोबोगरीब बीमारी जिससे की ललित जूझ रहा है. उस बीमारी का नाम कंजेनिटल हाईपर ट्राईकोसिस सिंड्रोम है. यह बीमारी बहुत ही कम लोगों में देखते को मिलती है. दुनियाभर में करीब 100 लोग इस बीमारी से पीड़ित पाए गए हैं. इस बीमारी का कोई स्थायी इलाज नहीं है.

ललित पाटीदार की बीमारी के बारे में जबलपुर मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर अव्यक्त अग्रवाल का कहना है कि इस बीमारी का नाम कंजेनिटल हाइपर ट्राईकोसिस है. ये एक किस्म का जेनेटिक डिफेक्ट है. अब तक करीब 100 मामले प्रकाश में आए हैं, जिनके बारे में दुनिया को जानकारी है.

नहीं है बीमारी का स्थायी इलाज

डॉक्टर का कहना है यह जन्मजात बीमारी है और इसका कोई इलाज नहीं है. चेहरे से बाल अलग किए जा सकते हैं, लेकिन यह पूरी तरह से चले जाएंगे, ऐसा नहीं कहा जा सकता. लेजर और सर्जरी के जरिए कुछ ठीक किया जा सकता है. हालांकि डॉक्टर का कहना है बच्चे को कोई दूसरी समस्या नहीं होगी और यह शारीरिक बीमारी से ज्यादा सामाजिक समस्या ज्यादा है, क्योंकि समाज ऐसे बच्चों को आसानी से स्वीकार नहीं करता और उनका मजाक बनाया जाता है.

इस बीमारी का कारण

डॉक्टर का कहना है यह किस वजह से होता है इसकी भी कोई ठोस कारण नहीं है. लाखों मामलों में कोई एक मामला ऐसा होता है, जिसमें जेनेटिक चेंज हो जाते हैं और इस तरह के डिफेक्ट देखने को मिलते हैं. चिकित्सा जगत के लिए भी ऐसे बच्चे अनुसंधान का विषय होते हैं और इनसे जो जानकारियां मिलती हैं, वे विज्ञान को समझने में मदद करती हैं. डॉक्टर का कहना है कि समाज बहुत जल्दी ऐसी चीजों को स्वीकार नहीं करता और ऐसे बच्चों को धार्मिक मान्यताओं से जोड़कर भी देखा जाता है.

बता दें कि रतलाम जिले के नांदलेटा गांव में रहने वाले 13 साल के ललित के चेहरे और शरीर पर बाल ही बाल हैं. यहां तक कि बालों के कारण इसे देखने, खाने और सांस लेने में भी दिक्कत होती है. मगर बहुत इलाज के बाद भी जब जिले के डॉक्टर्स इसका इलाज नहीं कर सके, तो गरीब माता-पिता बेबस हो गए. 
ललित के परिजनों की आर्थिक स्थित भी मजबूत नहीं है, जिससे देश के बड़े अस्पतालों और रिसर्च केन्द्रों में ललित का इलाज करवाया जा सके. ललित और उसके परिजनों को अब सरकार और प्रशासन से उम्मीद है कि उसके इलाज के लिए उन्हें मदद मिले. 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.