खबरे WOW: बारिश का दौर थमा, खेतों में भरा पानी सूखा , अब रबी की बुवाई करने जुटे किसान, पढें कैलाश शर्मा की खबर NEWS: उदय पब्लिक स्कूल में मनाई दीपावली, बच्चों ने दी मनमोहक प्रस्तुतियां, पढें कैलाश शर्मा की खबर NEWS: तेज रफ्तार कार ने बाइक सवार को मारी टक्‍कर, महिला गंभीर, पढें खबर NEWS: नगर में समाजजनों द्वारा मनाया जाएगा मोहर्रम पर्व, निकाले जाएंगे ताजिये, बाजार में भीड, नहीं है यातायात सुरक्षा के इंतजाम, पढें अब्‍दुल ईरानी की खबर NEWS: शहर में निःशुल्‍क स्‍वास्‍थ्‍य परीक्षण शिविर का आयोजन, हुई 250 मरीजों की जांच, पढें खबर WOW: शतरंज क्‍लब के तत्‍वाधान में 2 दिवसीय जिला स्‍तरीय अभिभाषक शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन, पढें खबर NEWS: क्रोध मुक्त और शांतिपूर्ण जीवन के लिए प्रभु के प्रति आस्थावान होना जरुरी, पढें खबर NEWS: भारतीय शिक्षण मंडल की मनाई जाएगी 50वीं वर्षगांठ, पढें खबर NEWS: 11 साल से फरार स्थाई वारंटी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, पढें कैलाश शर्मा की खबर BIG NEWS: करोड़ों के अस्पताल पर भारी पड़ रही एम्बुलेंस में मुफ्त डिलीवरी, 108 एम्बुलेंस स्टाफ ने 6 माह में कराई 30 सामान्य डिलीवरी, पढें खबर NEWS: जीवनोपयोगी सामग्री गरीबों को करें दान, पढें खबर WOW: सुरश्री प्रतियोगिता में 5 गायक पहुंचे क्वाटर फाइनल में, पढें खबर BIG REPORT: सोमवार सुबह मंडी में किसानों का मेला, दोपहर में हुआ व्‍यपारी पर जानलेवा हमला, शाम को किया व्‍यापारियों ने किया मंडी बंद का ऐलान, मंगलवार को छाया सन्‍नाटा, अब मंडी में दौड रही हवाएं, पढें अभिषेक शर्मा और महेंद्र अहीर की खबर NEWS: नगर में निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन, गोमाबाई की टीम ने की नेत्रों की जांच, पढें महेंद्र भटनागर की खबर WOW: Top 10 Value Destinations for 2020: मध्यप्रदेश दुनिया का तीसरा सबसे किफायती डेस्टिनेशन, पढें खबर TOP NEWS: भारत के खिलाफ बड़ी साजिश रच रहा पाकिस्तान, LoC की तरफ भेजे कई टैंक, कमांडो किए तैनात, सूत्र, पढें खबर DIWALI SPECIAL: महालक्ष्मी का अद्भूत स्वर्णाभूषण से श्रृंगार, दूर-दूर से भक्‍तों को खिंच लाया इस शहर में, पढें खबर

Inspirational story: पिता गुजर गए, मां अस्पताल में, झाड़ू-पोंछा किया, फिर भी बन गई स्टेट चैंपियन, पढें एक बेटी की संघर्ष भरें जीवन की कहानी

Image not avalible

Inspirational story: पिता गुजर गए, मां अस्पताल में, झाड़ू-पोंछा किया, फिर भी बन गई स्टेट चैंपियन, पढें एक बेटी की संघर्ष भरें जीवन की कहानी

डेस्‍क :-

होशंगाबाद। कभी-कभी जिंदगी में ऐसा वक्त भी आता है किसी बेटी के सिर पर से बचपन में ही पिता का साया छूट जाता है। मां को भी लकवा लग जाता है। इकलौती बेटी पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ता है। बेटी को दूसरों के घरों में झाड़ू-पोछा करना पड़ता है। इसके बावजूद भी बेटी की लगन और मेहनत काम आती है और वो एक दिन स्टेट लेवल की चैम्पियन बन जाती है।

मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में जब इस बेटी के बारे में लोगों को पता चला तो हर कोई उसके जज्बे और मेहनत को सलाम करने लगा। हाल ही में मुरैना में हुई 27वीं मिनी राज्य स्तरीय वॉलीबाल चैम्पियनशिप में न्रमदापुरम संभाग को इस बेटी ने जीत दिला दी। यह बेटी है सोनम जाटव।

मां के पैर छूने पहुंची अस्पताल-

नर्मदापुरम संभाग की कैप्टन सोनम जाटव मुरैना से स्टेट चैम्पियन बनकर लौटी तो होशंगाबाद में अपने घर नहीं गई। क्योंकि उसके घर में पिता का निधन हो चुका है और मां लकवे से पीड़ित अस्पताल में भर्ती थी। वो अपनी मां का आशीर्वाद लेने के लिए सीधे अस्पताल पहुंच गई। उसने पलंग पर बैठी अपनी मां के पैर छूए और उनके हाथों में इस चैम्पियनशिप की ट्राफी थमा दी। मां के चेहरे पर हल्की सी मुस्कान आ गई। बेटी और मां के इस भावविभोर मिलन से अस्पताल के अन्य मरीज और स्टाफ की आंखों में भी आंसू छलक आए।

छोटी थी तभी उठ गया था पिता का साया-

सोनम के परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ उस समय आ गया था जब वह पांच साल की थी। सिर से पिता का साया उठने के बाद जैसे-तैसे मां ने कुछ समय अपना गुजारा किया, लेकिन तंगहाली में ही उसकी मां लकवे की चपेट में आ गई। वालीबाल खेलने की इच्छा रखने वाली सोनम ने जैसे तैसे पढ़ाई और खेल में ध्यान दिया। लेकिन, तंग हाली में घर चलाने की भी मजबूरी थी। सोनम कभी खेलती, कभी पढ़ाई करती तो कभी अपनी मां के इलाज के लिए झाड़ू-पोछा तक करती।

परिवार और खेल दोनों में बनी कप्तान-

सोनम के जज्बे की बात करें तो उसने हिम्मत नहीं हारी। कम उम्र में ही घर की कप्तानी संभाली। इसके साथ-साथ कुछ कर गुजरने की चाह में उसने खेलना भी शुरू कर दिया। सोनम सुबह स्कूल जाने से पहले कुछ घरों में झाड़ू पौंछा और बर्तन तक साफ करती है। पढ़ाई और खेलने के बाद वो मां की भी सेवा करती है। इसके बाद फिर शाम को खेलने पहुंच जाती है। सोनम इस संघर्ष में भी अपने कोच बख्तावर खान, मां, साथियों को अपनी सफलता का श्रेय देती है।

खेल में कमाया नाम-

-गर्ल्स टीम ने जीते 6 मैच
-जीत ली स्टेट चैंपियनशिप
-27वीं राज्य स्तरीय अंडर-14 मिनी राज्य स्तरीय स्पर्धा ओरछा में हुई।
-इसमें होशंगाबाद ने फाइनल समेत 6 मैच खेल गए थे।
-पूल मैच कटनी, राजगढ़, जबलपुर से हुए। होशंगाबाद की गर्ल्स टीम ने 3-0 से मैच जीतकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई।
-क्वार्टर फाइनल मंदसौर से हुआ। जिसमें 3-0 से क्वार्टर फाइनल जीत लिया। 
-सेमीफाइनल मुरैना से हुआ, जिसमें भी नर्मदापुरम संभाग 3-0 से जीत गई।
-इसके बाद नरसिंहपुर से फाइनल मैच हुआ जिसमें 3-0 से नर्मदापुरम ने स्टेट चैम्पियनशिप जीत ली।
-खास बात यह है कि इस टीम की कप्तान सोनम जाटव थीं।
-मैन आफ द टूर्नामेंट भी सोनम के नाम रहा।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.