खबरे Exit Poll 2019: इस हिंदी भाषी राज्य में NDA पर भारी पड़ा UPA, मिलीं इतनी सीटें, पढें खबर EDUCATION: 12वीं पास छात्र-छात्राओं को दिया निशुल्‍क प्रशिक्षण, बताया बेहतर भविष्‍य बनानें का तरीका, पढें खबर BIG BREAKING: पुलिस की बडी कार्रवाही, बल्‍क मात्रा में की अवैध मादक पदार्थ अफीम जब्‍त, कार्रवाही जारी, पढें खबर VIDEO LIVE: वन विभाग की लापरवाही के चलते यू मारा गया तेंदुआ, ग्रामीणो के हाथो, देखेंगे तो हो जायेगे रोंगटे खडें, तेंदुए की मौत का लाईव विडियों Analysis: मैदानी तौर पर कमजोरी और अपनी ही योजनाओं को लोगों तक नहीं पहुंचा पाई कांग्रेस, पढें खबर ELECTION 2019: वोटिंग के बाद अब काउंटिंग की टेंशन, सीधे PHQ रखेगा सब पर नज़र, पढें खबर BIG NEWS: गर्भवती महिला को किया रतमाल रैफर, रास्‍तें में मौत, आक्रोशित परिजनों ने की पीएचसी में तोड-फोड, पढें खबर OMG ! उल्टी-दस्त से पिता-पुत्र की मौत, परिवार के 5 लोग बिमार, पुलिस जांच में जुटी, पढें खबर OMG ! भाजपा प्रत्‍याक्षी द्वारा रूपए बांटनें की शिकायत पर प्रकरण दर्ज, डीएम के आदेश पर पुलिस ने की जांच शुरू, पढें खबर BIG NEWS: एसडीएम व एसडीएम रीडर को नहीं हटाने तक जारी रहेगी हड़ताल, कलेक्‍टर को पत्र भी भेजा, पढें खबर NEWS: शादी की 50वीं सालगिरह पर नाहर दंपति ने की देहदान की घोषणा, पढें खबर ELECTION 2019: सभी नोडल अधिकारी मतगणना दायित्वो को तत्परता पूर्वक पूरा करें, डीएम मीना, पढें खबर BIG NEWS: घर के सामने मिला युवक का शव, परिजन ने लगाया हत्या का आरोप, पुलिस जांच में जुटी, पढें खबर

HEALTH: आपकी खराब नींद के लिए आपकी जीवन शैली नहीं, ये हैं जिम्‍मेदार

Image not avalible

HEALTH: आपकी खराब नींद के लिए आपकी जीवन शैली नहीं, ये हैं जिम्‍मेदार

डेस्‍क :-

क्या आप नींद संबंधी विकार से पीड़ित हैं? यह आनुवांशिक दोष है. शोधकर्ताओं ने यह खोज की है कि हमारे शरीर के कई भागों के आनुवांशिक कोड खराब नींद के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं. मेसाचुसेट्स जनरल अस्पताल और एक्सेटर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने 47 ऐसी कड़ियों की पहचान की है, जो आनुवांशिक कोड और नींद के गुण और मात्रा से संबंधित हैं.

जीनोमिक क्षेत्रों में पीडीई11ए नामक जीन खोजा गया. समूह ने यह खोज निकाला कि असाधारण व भिन्न प्रकार का यह जीन न सिर्फ नींद के समय को प्रभावित करता है, बल्कि उसकी गुणवत्ता पर भी असर डालता है. एक्सेटर विश्वविद्यालय के मुख्य लेखक सैमुएल जोन्स ने कहा कि यह अध्ययन नींद की विशेषता को प्रभावित करने वाली आनुवांशिक भिन्नताओं की पहचान करने के साथ मनुष्यों की नींद में आणविक भूमिका को जानने में नया दृष्टिकोण प्रदान करेगा.

यह भी पढ़ेंः अगर आपको भी आते हैं नींद में डरावने सपने तो हो जाइए सावधान

इस बात को आगे बढ़ाते हुए विश्वविद्यालय के ही एंड्र्यू वुड ने कहा कि नींद की गुणवत्ता व मात्रा और समय में बदलाव से मनुष्य कई तरह की बीमारियां- मधुमेह, मोटापा, मनोविकार वगैरह की गिरफ्त में आ जाते हैं. जनरल नेचर कम्युनिकेशन में प्रकाशित शोध रिपोर्ट में अध्ययनकर्ताओं ने यूके बायोबैंक के करीब 85,670 और अन्य अध्ययनों से करीब 5,819 प्रतिभागियों के आकड़े एकत्रित किए थे. इन्होंने अपनी कलाइयों पर त्वरणमापक यंत्र बांध रखी थी, जो इनकी गतिविधियों के स्तर को लगातार रिकॉर्ड कर रहा था.

उन्होंने पाया कि आनुवांशिक क्षेत्रों के साथ तो नींद की गुणवत्ता का संबंध है ही इसके साथ ही यह खुशी और सुख जैसी भावनाओं को संचारित करने वाले सेरोटोनिन के उत्पादन से भी संबंधित है. सेरोटोनिन निंद्रा चक्र में भी मुख्य भूमिका अदा करता है और गहरी व आरामदायक नींद प्रदान करता है.


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.