खबरे NEWS: पोरवाल समाज युवा संगठन ने हत्‍यारों को गिरफ्तार करनें और पीडित परिवारों को 20 लाख का मुआवजा देनें की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन, पढें खबर WOW: जिला पुलिस की ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि संबंधी विवादों के निराकरण हेतु नई पहल ग्राम शांति अभियान, अभियान के तहत 72 भूमि संबंधी शिकायतों का किया निराकरण, पढें खबर NEWS: अखिल भारतीय पोरवाल युवा संगठन ने अनुविभागीय अधिकारी को सौंपा ज्ञापन, पढें खबर BIG NEWS: वेतन विसंगती को लेकर आंगनवाडी कार्यकर्ताओं में आक्रोश, शहर के मुख्‍य चौराहें पर लगाया जाम, पढें खबर NEWS: नगर प्रेस क्लब के चुनाव सम्पन्न, संजय व्यास अध्यक्ष, शाहिद अंसारी सचिव, पढें खबर BIG NEWS: महू-नीमच हाईवे पर महज 30 मीनट में 2 सडक हादसें, 2 युवक गंभीर घायल, पढें रवि पोरवाल की खबर BIG NEWS: संस्‍था के प्रबंधक ने अस्‍थाई कर्मचारी के खिलाफ कराई थानें में शिकायत दर्ज, अब कर्मचारी परिवार सहित गुमशुदा, पढें खबर OMG ! 24 किसानों के 26 लाख रुपए के गेहूं तौलकर दी कच्ची रसीद, अब अटका भुगतान, पढें खबर BIG NEWS: सीएम हेल्‍पलाईन की शिकायत का निराकरण नहीं करनें पर एसडीएम ने पटवारी को किया निलंबित, पढें खबर BIG REPORT: आधी रात में गोली चली और फिर कार में मिली बाप-बेटी की खुन से सनी लाश, ईलाकें में फैली दहशत, पढें खबर NEWS: कांठल की धरा पर बगुलों का गूंज रहा कलरव, पढें खबर NEWS: जमानत अर्जी खारिज, न्यायालय ने कहा-बैंकों से लोन लेकर भागने की बढी है प्रवृत्ति, पढें खबर WOW: आखिरकार हटा ही दिए ईट भट्टे, अब शहरवासियों को प्रदूषण से मिलेगी मुक्ति, पढें खबर OMG ! बारावरदा सीएचसी पर नर्सिंग स्टाफ पर गिरी गाज, अस्पताल से किया रिलीव, पढें खबर

OMG ! देर रात घर में घूसें लुटेरें, महिला ने कहा, जो चाहिए वो ले जाओं, 60 हजार की नकदी सहित 1 लाख का माल लूटा, पढें खबर

Image not avalible

OMG ! देर रात घर में घूसें लुटेरें, महिला ने कहा, जो चाहिए वो ले जाओं, 60 हजार की नकदी सहित 1 लाख का माल लूटा, पढें खबर

चित्तौडग़ढ़ :-

चित्तौडग़ढ़, यहां भोईखेड़ा इलाके में आधी रात बाद घर में घुसे लाठियों से लेस करीब दर्जन भर लुटेरों ने कमरे में सो रहे दंपती पर प्राण घातक हमला कर दिया। दंपती के पहने हुए सोने-चांदी के आभूषण व साठ हजार रूपए की नकदी सहित करीब एक लाख रूपए का माल लूट ले गए। लुटेरों को घर में देख महिला बोली कि जो चाहिए वो ले जाओ पर बच्चों को मत मारना।

जानकारी के अनुसार भोई खेड़ा निवासी रामलाल (४६) पुत्र गोमा भोई, उसकी पत्नी प्यारीबाई (४२), नातीन सल्लू (६) व पौत्र कम्मू (५) मकान के एक कमरे में सो रहे थे। सोमवार को आधी रात बाद करीब पौने तीन बजे लाठियों से लेस करीब दर्जन भर लुटेरे वहां पहुंचे और कमरे का दरवाजा तोड़कर अंदर घुस गए। कूलर की आवाज और गहरी नीन्द में होने से गृहस्वामी व उसकी पत्नी को लुटेरों के आने का पता नहीं चल सका। लुटेरों ने कमरे में खंूटी पर टंगी रामलाल की पेंट की तलाशी लेकर उसमें रखे साठ हजार रूपए निकाल लिए। रामलाल खान पर मजदूरी करता है और कल ही मजदूरी की एकत्रित हुए यह राशि लेकर वह घर पहुंचा था। लुटेरों ने पूरे कमरे की तलाशी लेने के बाद वहां सो रहे रामलाल पर ल_ से वार कर दिया। 

चिल्लाने पर उसकी पत्नी प्यारी बाई की भी नींद खुल गई। लुटेरों ने प्यारी बाई व रामलाल के पहने हुए सोने के मांदलिए, मोती, रामनामी, कान के टॉप्स, आठ हजार रूपए की चांदी की पायजेब, चांदी की चेन आदि खुलवा लिए। इसके बाद भी लुुटेरों ने और माल निकालने को कहा। जिस पलंग पर दंपती व बच्चे सो रहे थे, उस पलंग की भी तलाशी ली। विरोध करने पर लुटेरों ने गृहस्वामी पर ल_ से वार कर हाथ तोड़ दिया। प्यारी बाई के हाथ की कोहनी पर दांतली से वार कर लहूलुहान कर दिया। दंपती के चिल्लाने पर वहां गश्त कर रहा नेपाली चौकीदार भाग कर आया, लेकिन तब तक लुटेरे करीब एक लाख का माल लूट कर वहां से भाग छूटे। बाद मे आस-पड़ोस के लोगों की भी जाग हो गई, जो मौके पर पहुंचे। बाद में दंपती को सांवलियाजी अस्पताल ले जाया गया। मंगलवार को सुबह गृहस्वामी को शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसके हाथ का ऑपरेशन किया गया।
सूचना मिलने पर रात को करीब सवा तीन बजे कोतवाली से सहायक उप निरीक्षक दाड़मचंद व पुलिस जाप्ता मौके पर पहुंचा और वारदात के बारे में जानकारी ली।

जो चाहिए वो ले लो पर बच्चों को मत मारना-

प्यारी बाई ने बताया कि लुटेरे हमला कर रहे थे, तब उसे मासूम नातिन और पौत्र को बचाने की चिन्ता हो रही थी। वह बार-बार लुटेरों से यही करती रही कि तुम्हें जो चाहिए वो ले लो, लेकिन बच्चों को मत मारना। इसके बाद लुटेरों ने प्यारी बाई के गले, कान व पैरों में पहने हुए आभूषण खुलवा लिए।

बच्चों को बिस्तर के नीचे दबाया-

प्यारी बाई ने बताया कि हमले के दौरान दोनों बच्चों की भी नीन्द खुल गई थी, जो मारपीट होते देख सहम गए थे। लुटेरों ने दोनों बच्चों पर वहां रखे बिस्तर डाल दिए। काफी देर तक बच्चों का बिस्तर के नीचे दबे होने से दम घुटता रहा। बाद में प्यारी बाई ने दोनों बच्चों पर से बिस्तर हटाए।

आस-पड़ोस के मकानों पर लगाए कुंदे-

लुटेरों ने वारदात को अंजाम देने से पहले रामलाल के आस-पड़ोस में रहने वाले श्यामलाल भोई, अर्जुनलाल आदि के मकानों के मुख्य द्वार के कुंदे व सांकळें लगा दी, ताकि एकाएक कोई मकानों से बाहर नहीं आ सके। हल्ला होने पर आस-पड़ोस के लोग मकान से बाहर आने लगे, लेकिन कुंदे व सांकळें लगी होने से वे नहीं आ सके। बाद में कुंदे खुलवाकर वे रामलाल के घर पहुंचे।

बेटा-बहू व मां भी नहीं थी-

यह भी संयोग रहा कि लूट की वारदात के दौरान रामलाल की मां रूकमा, पुत्र रतनलाल व बहू भी नहीं थी। रतनलाल गाड़ी चलाने का काम करता है, इसलिए बाहर गया हुआ था। रूकमा भी अपनी बेटी के घर गई हुई थी और बहू पीहर गई हुई थी। वारदात की जानकारी मिलने पर मंगलवार को सुबह ये सब घर लौटे।

खुले बरामदे में है दो कमरे-

रामलाल खदान पर मजदूरी करता है। उसने कई माह तक मजदूरी करके साठ हजार रूपए कमाए थे। उसके मकान में कोई चार दीवारी नहीं है। खुले बरामदे में ही पास-पास दो कमरे बने हुए होने से लुटेरे आसानी से कमरे में घुस गए। दूसरे कमरे पर ताला लगा हुआ था, जहां लुटेरे नहीं गए।
 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.