खबरे BIG NEWS: पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष मूंदड़ा ने की मंत्री औमप्रकाश सखलेचा से मुलाकात, रतनगढ को तहसील बनाने सहित अन्य मांगो के लिये सौपा मांग पत्र, पढें खबर BIG NEWS: मध्‍यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ जावद तहसील ईकाई अध्‍यक्ष एवं वरिष्‍ठ पत्रकार कमलेश जैन पर जानलेवा हमला, पत्रकार जगत में आक्रोश, पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार रॉय से कार्रवाही की मांग, पढें खबर OMG ! मास्क न पहनने की ऐसी सजा, युवक गिड़गिड़ाता रहा, मगर पुलिसवाला बेल्ट बरसाता रहा, पढें खबर BIG NEWS: कनिष्ठ सहायकों की भर्ती परीक्षा में चयनित कनिष्ठ सहायकों के पोस्टिंग ऑर्डर जारी, पढें खबर CORONA FIGHT: कोरोना वायरस से जंग, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग अलर्ट मोड पर, राजस्थान आने वाले यात्रियों की थर्मल स्केनिंग के बाद ही प्रवेश, पढें खबर BIG NEWS: बिल जमा नहीं करनें वालों के खिलाफ विभाग ने बरती सख्‍ती, सूची तैयार कर उपभोक्ताओं को जारी किए नोटिस, पढें खबर VIDEO NEWS: नीमच फुल माली सैनी समाज आज एकजुट होकर पहुंचे कलेक्ट्रेट, मांगों को लेकर नायब तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन, देखे दीपक खताबिया की रिपोर्ट EXCLUSIVE: जयपुर पहुंचे ओम माथुर, जानिए सचिन पायलट के भाजपा में आने की अटकलों पर क्या बाले, पढें खबर OMG ! मध्य प्रदेश में यहां अनोखी बारात, नेताजी को गधे पर बिठाकर घुमाया, देखने पड़े ये दिन, ग्रामीणों ने बताया ये कारण, पढें खबर VIDEO NEWS: ग्राम थड़ोद में चंद मिनटों की बारिश कई परिवारों के लिए साबित हो जाती है मुसीबत, जिम्मेदारों की लापरवाही, देखे रवि पोरवाल की रिपोर्ट WEATHER: मानसून की दस्‍तक के बाद मौसम विभाग की चेतावनी, मध्‍यप्रदेश-राजस्‍थान सहित इन राज्‍यों में भारी बारिश, प्रदेश के इस शहर में किसान कर रहें इंतजार, पढें खबर TOP NEWS: शिवराज के मंत्री, मंत्रालय में कहां मिलेंगे आपको, करें एक क्लिक, जानिए पूरा पता, पढें खबर BIG REPORT: देवास और आगर-मालवा जिले में शिवराज और सिंधिया का तूफानी दौरा, शिवराज बोले- महाराज को बनाना था सीएम, कमलनाथ को बना दिया, पढें खबर BIG NEWS: जिला कलेक्‍टर मनोज पुष्‍प पहुंचे जिला अस्‍पताल, सेंट्रल ऑक्‍सीजन एवं आईसीयू वॉर्ड का किया औचक निरीक्षण, पढें कमलेश चौहान की खबर

HEALTH: डॉक्टरों से पहले और बेहतर तरीके से लंग कैंसर का पता लगाएगा गूगल का AI

Image not avalible

HEALTH: डॉक्टरों से पहले और बेहतर तरीके से लंग कैंसर का पता लगाएगा गूगल का AI

डेस्‍क :-

गूगल के वैज्ञानिकों ने एक नया आर्टिफिशल इंटेलिजेंस मॉडल विकसित किया है और वैज्ञानिकों का दावा है कि यह मॉडल एक्सपर्ट डॉक्टरों की तुलना में ज्यादा जल्दी और बेहतर तरीके से फेफड़ों के कैंसर का पता लगा सकता है। आंकड़ों पर गौर करें तो सभी तरह के कैंसर के बीच फेफड़ों के कैंसर की वजह से सबसे ज्यादा लोगों की मौत होती है। 

रेडियॉल्जिस्ट्स से आगे है नया डीप लर्निंग सिस्टम 
अनुसंधानकर्ताओं की मानें तो डीप लर्निंग जो आर्टिफिशल इंटेलिजेंस का एक फॉर्म है उसमें कम्प्यूटर्स को इस तरह से ट्रेन किया गया है कि वे फेफड़ों में मौजूद प्राणघातक कैंसर की मौजूदगी का जल्दी और बेहतर तरीके से पता लगाने में किसी भी एक्सपर्ट रेडियॉल्जिस्ट की तुलना में कहीं आगे है। इस डीप-लर्निंग सिस्टम में पहले से किए गए सीटी स्कैन और जब भी जरूरत हो मरीज से इनपुट के तौर पर फिर से एक सीटी स्कैन लेकर दोनों का ही इस्तेमाल करता है। 

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस 3डी इमेज की जांच करता है 
एक्सपर्ट्स की मानें तो आमतौर पर रेडियॉल्जिस्ट्स सैंकड़ों 2डी इमेजेज या सिंगल सीटी स्कैन इमेज को एग्जैमिन करते हैं। लेकिन यह नया मशीन लर्निंग सिस्टम 3डी इमेज में फेफड़ों को देखता है। आर्टिफिशल इंटेलिजेंस AI, 3डी में बहुत ज्यादा सेंसेटिव हो जाता है और रेडियॉल्जिस्ट्स की आंखों की तुलना में कहीं जल्दी और बेहतर तरीके से फेफड़ों में मौजूद कैंसर का पता लगा लेता है। 

इस नए सिस्टम की क्लिनिकल जांच की जरूरत 
हालांकि इस नई सिस्टम की क्लिनिकल जांच करने की जरूरत है ताकि इस मॉडल के जरिए फेफड़ों के कैंसर से जूझ रही एक बड़ी आबादी की मदद की जा सके और उन्हें बेहतर और जल्दी इलाज मुहैया कराया जा सके।

 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.