खबरे NEWS: गौतमेश्वर में स्नान और गदालोट की परिक्रमा से होता है कष्टों का निवारण श्रावण मास में लगी हुई है रेलमपेल, पढें खबर REPORT : हम क्यों डरे सहमे है, आज़ाद भारत में आज हमारे में सच को सच कहने का माद्दा है, या फिर एक भारतीय पूरा जीवन डर में निकाल देता है, पढ़िए वरिष्ठ पत्रकार मुस्तफा हुसैन की फेसबुक वाल से NEWS: बसों पर यात्री कर कम करने की मांग को लेकर ज्ञापन, पढें खबर OMG ! तस्‍करों ने ढूंढा तस्‍करी का नया तरीका, जीप के डीजल टैंक में भरा था यें अवैध मादक पदार्थ, पुलिस ने देखा तो रह गई दंग, पढें खबर BIG REPORT: बेटे को लेने जा रही थी स्कूल, अश्लील हरकत से तंग आकर महिला ने चलते ऑटो से लगाई छलांग, पढें खबर NEWS: वार्ड 2 के उपचुनाव को लेकर प्रत्याशियों ने भरे नामांकन, पढें खबर OMG ! पुलिस और तस्‍करों के बीच गोलियों का घमासान, 15 किलोंमीटर तक होती रहीं फायरिंग, पुलिस ने मारी बाजी, बल्‍क मात्रा में डोडाचूरा किया जब्‍त, पढें खबर BIG REPORT: खेत में सौ रहा थे वृध्‍द दंपती, अचानक हुआ कुछ ऐसा, जिसनें भी देखा चौक गया, पढें खबर और जानें WOW: इस मंदिर में भगवान से आशीर्वाद चाहिए तो लगाने होंगे पौधे, पढें खबर NEWS: सदन में बोले विधायक आक्या, हाइवे पर पुलिस संरक्षण में होती है अवैध वसूली, पढें खबर BIG NEWS: पुलिस ने अवैध खनन करते पकड़ा, 500 पौधे लगाने का भरवाया बॉण्ड, पढें खबर BIG REPORT: संस्कारधानी जबलपुर बनी सुसाइड सिटी, हर दिन 2 लोग कर रहे हैं आत्महत्या, पढें खबर NEWS: बारह मासी मंडी में हो रही जिन्सों की बम्पर आवक, पढें खबर NEWS: क्यों रातभर गुल रही बिजली, रहवासी होतें रहें परेशान, पढें खबर TOP NEWS: माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्व विद्यालय के पूर्व कुलपति बी के कुठियाला भगौड़ा घोषित, पढें खबर

BIG NEWS: हताशा में लोग मौत को लगा रहे गले, 10 दिन में 10 ने की आत्महत्याएं, पढें खबर

Image not avalible

BIG NEWS: हताशा में लोग मौत को लगा रहे गले, 10 दिन में 10 ने की आत्महत्याएं, पढें खबर

रतलाम :-

रतलाम। भीषण गर्मी का दौर चल रहा है, ऐसे में पिछले एक पखवाड़े से शहर और आसपास क्षेत्र में आत्महत्या का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। केवल 10 दिन की बात करे तो 10 लोग आत्महत्या कर चुके हैं। यानि की औसत हर दिन एक व्यक्ति ने किन्हीं कारणों के चलते जीवन समाप्त कर लिया है। आत्महत्या के ये आंकड़े केवल जिला अस्पताल में आए मामले ही है जबकि बाजना में दो दिन पहले एक युवक ने जहर पीकर आत्म्हत्या कर ली तो जावरा में भी केरवासा में युवक ने आत्महत्या करने का मामला आ चुका हैं।

50 फीसदी मामले फांसी लगाने के-

आत्महत्या जैसा बड़ा कदम कितनी आसानी से लोग उठा लेते हैं यह लोगों की मानसिक स्थिति को बयां करती है। आत्महत्या के 10 दिन में जो प्रकरण सामने आए हैं उनमें 50 फीसदी मामले फांसी लगाकर अपना जीवन समाप्त करने के हैं जबकि कमोबेश इतने ही मामले जहरीली दवाई, कीटनाशक या सल्फास खाने के हैं। सल्फास खाए हुए व्यक्ति के शरीर में सल्फास पहुंचे एक घंटे से ज्यादा समय हो जाता है तो उसका बचना मुश्किल होता है। कुछ ऐसा ही 10 दिनों में सामने आए प्रकरणों में हुआ है।

आत्महत्या के कारण-

मनोवैज्ञानिक ने मुताबिक आत्महत्या के कई कारण हो सकते हैं। मोटेतौर पर जिन कारणों से व्यक्ति इस तरफ तेजी से बढ़ता है। इन कारणों में मानसिक तनाव या अवसाद, आर्थिक कमजोरी, निराशा, मादक पदार्थों के सेवन की आदत, शारीरिक कमजोरी या अक्षमता, बहुत ज्यादा दार्शनिक होना, सामाजिक, पारिवारिक असहयोग्तामक रवैया, व्यक्ति में आवेगशीलता का होना है आत्महत्या की वजह बनता है।

एक्सपर्ट व्यू-

मनोचिकित्सक डॉ. गौरव चित्तौड़ा ने बताया कि आ त्महत्या का मुख्य कारण डिप्रेशन है। यह किसी भी कारण से हो सकता है। व्यक्ति की परिस्थितियां, परिवार, मानसिक तनाव, आर्थिक कमजोरी या बहुत ज्यादा खुशी में भी व्यक्ति डिप्रेशन में आ सकता है। आत्महत्या करने वाले व्यक्ति के ब्रेन के न्यूरो में सिरोटोनिन केमिकल होता है जो कम हो जाता है जिससे व्यक्ति आत्महत्या की तरफ कदम बढ़ा लेता है। यह केमिकल व्यक्ति का दिमाग संतुलित रखता है और इसकी कमी से वह डिप्रेशन में आ जाता है और आत्महत्या की तरफ प्रेरित होता है। इससे बचने के लिए परिवारजनों को उस व्यक्ति के साथ ज्यादा वार्तालाप करना चाहिए। उसे किसी भी स्थिति में अकेला नहीं छोड़ते हुए मनोचिकित्सक से इलाज करवाना चाहिए। ऐसे व्यक्ति के दोस्तों को भी चाहिए कि वह उससे संपर्क में रहे और उससे बातें करके उसकी मानसिक स्थिति में सुधार करें।

रतलाम में आत्महत्या के प्रकरण-

- 8 जून को रावटी क्षेत्र के गरवाड़ा गांव में एक अधेड़ पेड़ से फांसी के फंदे से लटका मिला।
- 9 जून को सरवन के सरकरावदा निवासी एक 40 साल के युवक ने कीटनाशक पी ली जिससे मृत्यु हो गई।
- 12 जून को शहर के गोपालनगर निवासी एक 42 साल के युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
- 14 जून को रुंडीकला के 24 वर्षीय युवक ने जहरीली दवा पीकर जान दे दी।
- 14 जून को उमरन के 32 साल के युवक ने जहर पी लिया बाद में उसकी मौत हो गई।
- 16 जून को शिवपुर के 30 साल के युवक ने जगर और बांगरोद में 65 साल के किन्नर ने सल्फास खाकर जान दे दी।
- 16 जून को बाजना के ग्रामीण क्षेत्र के 25 साल के युवक ने जहरीली दवाई पीकर जान दे दी।
- 17 जून को जावरा के केरवासा में युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
- 18 जून को टाटानगर के 28 वर्षीय प्रदीपसिंह पिता केसरसिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या 
कर ली।
- 18 जून को ही अलकापुरी में डी सेक्टर निवासी निर्मलसिंह पिता भारतसिंह उम्र 45 साल ने आत्महत्या कर ली।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.