खबरे OMG ! बिगड़ती कानून व्यवस्था पर MP विधानसभा में हंगामा, विपक्ष ने मांगा कमलनाथ सरकार का इस्तीफ़ा, पढें खबर NEWS: बैंक अधिकारी और कर्मचारी पर गबन का आरोप, पढें खबर BIG REPORT: कुएं में तैरती मिली युवक की लाश, ईलाकें में फैली सनसनी, पहली कोशिश में पुलिस नाकाम, दूसरी कोशिश में कुएं से बाहर निकाली लाश, पढें खबर NEWS: हत्या के विरोध में पोरवाल समाज ने दिया ज्ञापन, पढें खबर NEWS: साइकिलें भेंट कर रोपे पौधे, पढें खबर NEWS: रोग निदान शिविर आज से, पढें खबर NEWS: किसानों की समस्याओं को लेकर दिया ज्ञापन, पढें खबर NEWS: नए सदस्यों का किया स्वागत, पढें खबर BIG NEWS: चोरी की बाइक पर दूसरी बाइक के पुर्जे बेचनें जा रहे थे 2 युवक, पुलिस ने किया गिरफ्तार, जांच शुरू, पढें खबर BIG REPORT: मां-बेटे की एक ही अर्थी, दसों शवों का अंतिम संस्कार, शोक में डूबा रतलाम जिले का यह गांव, आखिरकार क्‍या हुआ था ऐसा, पढें और जानें BIG NEWS: बंबोरिया परिवार ने किये चंदादेवी के नैत्र दान, गोमाबाई नेत्रालय टीम द्वारा किया गया नैत्र उत्साहरण, पढें दिनेश वीरवाल की खास खबर WOW: आराध्या वेलफेयर सोसायटी ने किया 10 कन्याओं को जन्म देने वाली माताओं का सम्मान, पढें खबर OMG ! ज्योतिरादित्य सिंधिया के महल में चाय पर चर्चा, बीजेपी ने कहा, ये क्या हो रहा है, पढें खबर BIG NEWS: राशमी पुलिस को मिली बडीं सफलता, 15 दिन पूर्व हुई लूट का किया खुलासा, 1 आरोपी गिरफ्तार, जांच अब भी जारी, पढें खबर OMG ! रतलाम में युवतीं के ऊपर केमिकल अटैक, जिला अस्पताल में कराया भर्ती, पुलिस ने किया प्रकरण दर्ज, आरोपियों की तलाश शुरू, पढें खबर

MANDSAUR SHOOTOUT: मंदसौर गोलीकांड मामले में बहस पूरी, फैसला सुरक्षित, पढें खबर

Image not avalible

MANDSAUR SHOOTOUT: मंदसौर गोलीकांड मामले में बहस पूरी, फैसला सुरक्षित, पढें खबर

मंदसौर :-

इंदौर। मंदसौर गोलीकांड को लेकर विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित होगा या नहीं, गुरुवार को इसे लेकर उच्च न्यायालय में करीब आधा घंटा बहस चली। अदालत ने सभी पक्षों को सुनने के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया। निर्णय आने के बाद ही तय होगा कि गोलीकांड के लिए कौन जिम्मेदार था? इसमें किसी तरह की अनियमितता हुई थी या नहीं। मृतकों के परिजन को मुआवजा देने में क्या सरकार ने नियमों की अनदेखी की थी।

करीब दो साल पहले प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान मंदसौर में पुलिस की गोली से 5 लोगों की मौत हो गई थी। इन सभी के परिजन को तत्कालीन मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा मिल चुका है। गोलीकांड को लेकर 6 अलग-अलग याचिकाएं उच्च न्यायालय में हैं।

इनमें तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के उस निर्णय को भी चुनौती दी गई है जिसके आधार पर मृतकों के परिजन को एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा दिया गया। याचिका के कहा गया है कि मुआवजे की घोषणा से पहले यह जानने की कोशिश तक नहीं की गई कि मारे गए लोगों की आंदोलन में भूमिका क्या थी?

वे घटनास्थल पर क्यों गए थे? इन याचिकाओं में से एक याचिका मृतकों के परिजन की तरफ से भी दायर है। इसमें कहा है कि सिर्फ मुआवजा देने से कुछ नहीं होगा। जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई भी होनी चाहिए।

याचिकाकर्ता की तरफ से वरिष्ठ अभिभाषक आनंद मोहन माथुर ने पिछली सुनवाई पर आवेदन देकर गुहार लगाई थी कि मामले की दोबारा जांच करवाई जाए और इसके लिए विशेष जांच दल गठित किया जाए।

गुरुवार को न्यायमूर्ति एससी शर्मा और न्यायमूर्ति वीरेंदरसिंह की युगल पीठ में याचिकाओं पर बहस हुई। अभिभाषक माथुर ने एसआईटी के गठन को लेकर न्याय दृष्टांत भी प्रस्तुत किए। दूसरे याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी कर रहे अभिभाषक मोहनसिंह चंदेल ने गोलीकांड के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर हत्या का केस दर्ज करने की मांग की।

एक अन्य याचिकाकर्ता की तरफ से अभिभाषक आयुष पांडे ने मांग की कि पूरे मामले में एक बार फिर से जांच करवाई जानी चाहिए। कोर्ट ने सभी पक्षकारों की बहस सुनने के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.