खबरे BIG NEWS: मां के दरबार ग्राम आंत्री माता में पानी-पानी, ग्रामीणों ने छत पर चढ बचाई जान, रेस्‍क्‍यूं टीम भी मौके पर, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर OMG ! ग्राम देवरानन हुआ जलमग्‍न, नाव की मदद से रहवासियों को पहुंचाया सुरक्षित स्‍थान पर, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर BIG REPORT: जिलें में आफत की बारिश के बाद ग्राम झारडा के हालात, इस नदी पर बना पुल हुआ क्षतिग्रस्‍त, मौके पर बचाव के लिए पुलिसबल तैनात, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर OMG ! गांधी सागर बांध ने दिखाया अपना रंग, हमेशा 1308 पर गेट खुले, बारिश को देखतें हुए प्रशासन ने किया इंतजार, फिर खोलें वॉटर लेवल इतना होनें पर गेट, बांध का पानी घुसा इन गांवों में, पढें खबर VIDEO: नीमच में सरपंच पति की ग्रामीणो ने की चप्‍पल व डंडे से धुनाई, विडियों हुआ वायरल, देखे बद्रीलाल गुर्जर की विडियों न्‍यूज OMG ! गांधी सागर के गेट खुले, पहली बार डैम के पानी ने किया रिंगवाल को पार, पानी घुसा रामपुरा में, पढें खबर BIG REPORT: रामपुरा में बाढ के हालात, मछुआरों ने अपनी नावों से बाढ प्रभावितों को सुरक्षित स्‍थान पर पहुंचाया, पढें खबर BIG NEWS: जिलें में आफत की बारिश का मंजर, रामपुरा नगर बना डूब क्षेत्र, प्रशासन की टीम सहित सीआरपीएफ मौके पर, पढें खबर NEWS: आंतरी माता में चंबल के पानी का तांडव, मंदिर की छत पर फंसे लोगो को रेस्‍क्‍यू कर बाहर निकाला, पढें खबर NEWS: आफत की बारिश, झारर्डा पुल हुई क्षतिग्रस्‍त, आवागमन चालु, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर  VIDEO: चंबल के पानी ने कैसे मचाई तबाही, कैसे आफत की घडी ने एक हुवे हिन्‍दुस्‍तानी, देखे बाढ के भयावाह हालातो पर वरिष्‍ठ पत्रकार मुस्‍तफा हुसैन से खास बात श्‍याम गुर्जर के साथ SHOK KHABAR: नही रहे ओम प्रकाश बिंदल, परिवार में शोक की लहर, शवयात्रा आज पांच बजे, पढें खबर VIDEO: रामपुरा में चंबल का तांडव, एक रात में सब कुछ तबाह, जहां कभी दौड़ती थी बस आज यहां तैर रही है नाव, छतो पर गुजारी रात, कई परिवार अभी भी फंसे, देखे अजय सिंह सिसौदिया के साथ रूपेश सारू की विडियों न्‍यूज

MANDSAUR SHOOTOUT: मंदसौर गोलीकांड मामले में बहस पूरी, फैसला सुरक्षित, पढें खबर

Image not avalible

MANDSAUR SHOOTOUT: मंदसौर गोलीकांड मामले में बहस पूरी, फैसला सुरक्षित, पढें खबर

मंदसौर :-

इंदौर। मंदसौर गोलीकांड को लेकर विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित होगा या नहीं, गुरुवार को इसे लेकर उच्च न्यायालय में करीब आधा घंटा बहस चली। अदालत ने सभी पक्षों को सुनने के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया। निर्णय आने के बाद ही तय होगा कि गोलीकांड के लिए कौन जिम्मेदार था? इसमें किसी तरह की अनियमितता हुई थी या नहीं। मृतकों के परिजन को मुआवजा देने में क्या सरकार ने नियमों की अनदेखी की थी।

करीब दो साल पहले प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान मंदसौर में पुलिस की गोली से 5 लोगों की मौत हो गई थी। इन सभी के परिजन को तत्कालीन मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा मिल चुका है। गोलीकांड को लेकर 6 अलग-अलग याचिकाएं उच्च न्यायालय में हैं।

इनमें तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के उस निर्णय को भी चुनौती दी गई है जिसके आधार पर मृतकों के परिजन को एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा दिया गया। याचिका के कहा गया है कि मुआवजे की घोषणा से पहले यह जानने की कोशिश तक नहीं की गई कि मारे गए लोगों की आंदोलन में भूमिका क्या थी?

वे घटनास्थल पर क्यों गए थे? इन याचिकाओं में से एक याचिका मृतकों के परिजन की तरफ से भी दायर है। इसमें कहा है कि सिर्फ मुआवजा देने से कुछ नहीं होगा। जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई भी होनी चाहिए।

याचिकाकर्ता की तरफ से वरिष्ठ अभिभाषक आनंद मोहन माथुर ने पिछली सुनवाई पर आवेदन देकर गुहार लगाई थी कि मामले की दोबारा जांच करवाई जाए और इसके लिए विशेष जांच दल गठित किया जाए।

गुरुवार को न्यायमूर्ति एससी शर्मा और न्यायमूर्ति वीरेंदरसिंह की युगल पीठ में याचिकाओं पर बहस हुई। अभिभाषक माथुर ने एसआईटी के गठन को लेकर न्याय दृष्टांत भी प्रस्तुत किए। दूसरे याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी कर रहे अभिभाषक मोहनसिंह चंदेल ने गोलीकांड के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर हत्या का केस दर्ज करने की मांग की।

एक अन्य याचिकाकर्ता की तरफ से अभिभाषक आयुष पांडे ने मांग की कि पूरे मामले में एक बार फिर से जांच करवाई जानी चाहिए। कोर्ट ने सभी पक्षकारों की बहस सुनने के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया।


SHARE ON:-

image not found image not found

लोकप्रिय

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.