खबरे VOICE OF MP: अगर आप भी चाहतें है अपने मोबाइल फोन पर ब्रैकिंग न्‍यूज, तो अपनी अपने वाट्सएप्‍प ग्रुप में वॉईस ऑफ एमपी के ऑफिशल नंबर को करें एड, पढें खबर COMMODITY MARKET: सोयाबीन के वायदा भाव में आ सकता है उछाल BUSINESS: यहा क्लिक करेगें तो जानेगें नीमच सर्राफा भाव BIG BREAKING : नहीं रहे अली अकबर, बोहरा समाज में शोक की लहर, मंगलवार को होंगे सुपुर्दे ख़ाक, वरिष्ठ पत्रकार मुस्तफा हुसैन के थे भांजे OMG ! नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म, दरिंदों में एक शिक्षक भी शामिल, पुलिस जांच में जुटी, पढें खबर BIG BREAKING: जिला कलेक्‍टर का आदेश, किराना दुकानें और आटा चक्‍की खुलेगी सुबह 8 से 12 बजें तक, पढें खबर CORONA FIGHT: आंगनवाड़ी और एएनएम कार्यकर्ता कंटेनमेंट क्षेत्र में मुस्‍तैद, भीषण गर्मी में पहनती है पीपीई किट, रोजाना करती है 30 घरों के 165 सदस्‍यों की स्क्रिनिंग, दी जाती है समझाईश, पढें डेस्‍क इंचार्ज अभिषेक शर्मा की ये खास खबर BIG NEWS: हिंदू जागरण मंच के जिला संयोजक पर बदमाशों ने की फायरिंग, हालत गंभीर, किया उदयपुर रैफर, पढें खबर BIG NEWS: डिजिटल स्‍कूल में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी टैबलेट से करेंगे विधार्थी, विधायक सखलेचा ने की पहल, किया टैबलेट का वितरण, होगी JEE व NEET की तैयारी, पढें खबर BIG NEWS: शिवराज मामा के बिजली के बिल जनता को करंट मार रहे, रमेश राजोरा, पढें हरिओम माली की खबर NEWS: ब्लाक कांग्रेस कमेटी जीरन ने भी जलाई बिजली बिलों की होली, भाजपा सरकार की करनी और कथनी में हमेशा अंतर, विनोद दक, पढें हरिओम माली की खबर BIG NEWS: गरोठ पुलिस को मिली बड़ी सफलता, बल्‍क मात्रा में अवैध मादक पदार्थ और पिकअप जब्‍त, एक आरोपी गिरफ्तार, पढें खबर BIG NEWS: मनमानें बिजली के बिलों ने तोड़ी उपभोक्‍ताओं की कमर, मनासा में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जलाई बिजली बिलों की होली, पढें शब्‍बीर बोहरा की खबर NEWS: जिला प्रधानाचार्य बैठक संपन्न, लक्ष्य न ओझल होने पाए, कदम मिलाकर चल मंजिल तेरे पग चूमेगी आज नहीं तो कल, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर

MANDSAUR SHOOTOUT: मंदसौर गोलीकांड मामले में बहस पूरी, फैसला सुरक्षित, पढें खबर

Image not avalible

MANDSAUR SHOOTOUT: मंदसौर गोलीकांड मामले में बहस पूरी, फैसला सुरक्षित, पढें खबर

मंदसौर :-

इंदौर। मंदसौर गोलीकांड को लेकर विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित होगा या नहीं, गुरुवार को इसे लेकर उच्च न्यायालय में करीब आधा घंटा बहस चली। अदालत ने सभी पक्षों को सुनने के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया। निर्णय आने के बाद ही तय होगा कि गोलीकांड के लिए कौन जिम्मेदार था? इसमें किसी तरह की अनियमितता हुई थी या नहीं। मृतकों के परिजन को मुआवजा देने में क्या सरकार ने नियमों की अनदेखी की थी।

करीब दो साल पहले प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान मंदसौर में पुलिस की गोली से 5 लोगों की मौत हो गई थी। इन सभी के परिजन को तत्कालीन मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा मिल चुका है। गोलीकांड को लेकर 6 अलग-अलग याचिकाएं उच्च न्यायालय में हैं।

इनमें तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के उस निर्णय को भी चुनौती दी गई है जिसके आधार पर मृतकों के परिजन को एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा दिया गया। याचिका के कहा गया है कि मुआवजे की घोषणा से पहले यह जानने की कोशिश तक नहीं की गई कि मारे गए लोगों की आंदोलन में भूमिका क्या थी?

वे घटनास्थल पर क्यों गए थे? इन याचिकाओं में से एक याचिका मृतकों के परिजन की तरफ से भी दायर है। इसमें कहा है कि सिर्फ मुआवजा देने से कुछ नहीं होगा। जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई भी होनी चाहिए।

याचिकाकर्ता की तरफ से वरिष्ठ अभिभाषक आनंद मोहन माथुर ने पिछली सुनवाई पर आवेदन देकर गुहार लगाई थी कि मामले की दोबारा जांच करवाई जाए और इसके लिए विशेष जांच दल गठित किया जाए।

गुरुवार को न्यायमूर्ति एससी शर्मा और न्यायमूर्ति वीरेंदरसिंह की युगल पीठ में याचिकाओं पर बहस हुई। अभिभाषक माथुर ने एसआईटी के गठन को लेकर न्याय दृष्टांत भी प्रस्तुत किए। दूसरे याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी कर रहे अभिभाषक मोहनसिंह चंदेल ने गोलीकांड के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर हत्या का केस दर्ज करने की मांग की।

एक अन्य याचिकाकर्ता की तरफ से अभिभाषक आयुष पांडे ने मांग की कि पूरे मामले में एक बार फिर से जांच करवाई जानी चाहिए। कोर्ट ने सभी पक्षकारों की बहस सुनने के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया।


SHARE ON:-

image not found image not found

लोकप्रिय

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.