खबरे NEWS: गौतमेश्वर में स्नान और गदालोट की परिक्रमा से होता है कष्टों का निवारण श्रावण मास में लगी हुई है रेलमपेल, पढें खबर REPORT : हम क्यों डरे सहमे है, आज़ाद भारत में आज हमारे में सच को सच कहने का माद्दा है, या फिर एक भारतीय पूरा जीवन डर में निकाल देता है, पढ़िए वरिष्ठ पत्रकार मुस्तफा हुसैन की फेसबुक वाल से NEWS: बसों पर यात्री कर कम करने की मांग को लेकर ज्ञापन, पढें खबर OMG ! तस्‍करों ने ढूंढा तस्‍करी का नया तरीका, जीप के डीजल टैंक में भरा था यें अवैध मादक पदार्थ, पुलिस ने देखा तो रह गई दंग, पढें खबर BIG REPORT: बेटे को लेने जा रही थी स्कूल, अश्लील हरकत से तंग आकर महिला ने चलते ऑटो से लगाई छलांग, पढें खबर NEWS: वार्ड 2 के उपचुनाव को लेकर प्रत्याशियों ने भरे नामांकन, पढें खबर OMG ! पुलिस और तस्‍करों के बीच गोलियों का घमासान, 15 किलोंमीटर तक होती रहीं फायरिंग, पुलिस ने मारी बाजी, बल्‍क मात्रा में डोडाचूरा किया जब्‍त, पढें खबर BIG REPORT: खेत में सौ रहा थे वृध्‍द दंपती, अचानक हुआ कुछ ऐसा, जिसनें भी देखा चौक गया, पढें खबर और जानें WOW: इस मंदिर में भगवान से आशीर्वाद चाहिए तो लगाने होंगे पौधे, पढें खबर NEWS: सदन में बोले विधायक आक्या, हाइवे पर पुलिस संरक्षण में होती है अवैध वसूली, पढें खबर BIG NEWS: पुलिस ने अवैध खनन करते पकड़ा, 500 पौधे लगाने का भरवाया बॉण्ड, पढें खबर BIG REPORT: संस्कारधानी जबलपुर बनी सुसाइड सिटी, हर दिन 2 लोग कर रहे हैं आत्महत्या, पढें खबर NEWS: बारह मासी मंडी में हो रही जिन्सों की बम्पर आवक, पढें खबर NEWS: क्यों रातभर गुल रही बिजली, रहवासी होतें रहें परेशान, पढें खबर TOP NEWS: माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्व विद्यालय के पूर्व कुलपति बी के कुठियाला भगौड़ा घोषित, पढें खबर

NEWS: बता रहे है नीमच से टेक्‍स गुरू, इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की अंतिम तारीख क्या है?, पढें खबर

Image not avalible

NEWS: बता रहे है नीमच से टेक्‍स गुरू, इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की अंतिम तारीख क्या है?, पढें खबर

डेस्‍क :-

जिनके खातों को ऑडिट करने की जरूरत नहीं है, उनके लिए वित्त वर्ष 2018-19 का आईटीआर फाइल करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई, 2019 है.
क्या आप अलग-अलग श्रेणी के करदाताओं के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने की अंतिम तारीख के बारे में जानते हैं? दरअसल, जिनके खातों को ऑडिट करने की जरूरत नहीं है, उनके लिए वित्त वर्ष 2018-19 का आईटीआर फाइल करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई, 2019 है. इनमें सामान्य लोग यानी इंडिविजुअल टैक्सपेयर और हिंदू अविभाजित परिवार (एचयूएफ) शामिल हैं. 

कंपनी और फर्म के वर्किंग पार्टनर जैसे अन्य श्रेणी के करदाताओं के लिए 31 जुलाई की समयसीमा लागू नहीं है. यहां हम विभिन्न श्रेणियों के करदाताओं के लिए आईटीआर फाइल करने की अंतिम तारीख के बारे में बता रहे हैं
1: ऐसे सभी व्यक्ति जिनके खातों को ऑडिट करने की जरूरत नहीं है (इंडिविजुअल, एचयूएफ, व्यक्तियों का संगठन, व्यक्तियों की संस्था इत्यादि)  :   - 31 जुलाई 
2 : जिनके खातों को ऑडिट करने की जरूरत है –कंपनी
   -ऐसे व्यक्ति या संस्थाएं 
  जिनके खातों को ऑडिट करने की जरूरत है 
   (जैसे प्रॉपराइटरशिप, फर्म इत्यादि)
   -फर्म के वर्किंग पार्टनर  - 30 सितंबर
3: ऐसे करदाता जिन्हें सेक्शन 92ई के तहत रिपोर्ट देने की जरूरत पड़ती है - 31 जुलाई
इनकम टैक्स रिटर्न की फाइलिंग में अक्सर आकलन वर्ष (Assesment Year) का जिक्र आता है. यह वह वर्ष होता है, जिसमें आप रिटर्न फाइल करते हैं. गुजरे वित्त वर्ष की कमाई का आकलन एसेसेमंट ईयर में किया जाता है. उदाहरण के लिए 2018-19 के लिए आकलन वर्ष 2019-20 होगा. 


समयसीमा चूकने पर क्या होगा? 
इंडिविजुअल टैक्सपेयर 31 जुलाई, 2019 तक आईटीआर नहीं फाइल कर पाते हैं तो भी उनके पास रिटर्न फाइल करने का मौका होगा. इसे बिलेडेट ITR कहा जाता है. वित्त वर्ष 2018-19 के लिए बिलेटेड आईटीआर फाइल करने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2020 है. यह समयसीमा चूक जाने पर आप तब तक आईटीआर फाइल नहीं कर सकेंगे जब तक टैक्स विभाग से नोटिस नहीं मिलता है. 

भले ही बिलेटेड आईटीआर फाइल करने की समयसीमा 31 मार्च तक हो, लेकिन इससे बचना चाहिए. कारण है कि 31 जुलाई के बाद आईटीआर फाइल करने पर लेट फाइलिंग फीस लागू होगी.
आईटीआर देर से फाइल करने पर कितनी पेनाल्टी? समयसीमा के बाद आईटीआर फाइल करने परपेनाल्टी का एलान बजट 2017 में हुआ था. ये नियम आकलन वर्ष 2018-19 से लागू हो गए थे
यह है देर से रिटर्न फाइल करने की फीस का स्ट्रक्चर

31 जुलाई के बाद लेकिन 31 दिसंबर से पहले – 5000
1 जनवरी और 31 मार्च के बीच – 10000

जिन करदाताओं की कुल इनकम 5 लाख रुपये से ज्यादा नहीं है, उनके लिए अधिकतम लेट फीस 1,000 रुपये से ज्यादा नहीं होगी.

याद रखें कि अगर किसी की ग्रॉस टोटल इनकम बेसिक एक्जेम्प्शन लिमिट से ज्यादा नहीं है तो उसे लेट फाइलिंग फीस नहीं देना होगा. मौजूदा आयकर कानूनों के अनुसार, बेसिक एक्जेम्प्शन लिमिट इस तरह है: 


करदाता की उम्र       बेसिक एक्जेम्प्शन (रुपये)
60 साल से कम        2,50,000
60 साल से ज्यादा पर 80 साल से कम        3,00,000
80 साल से ज्यादा                                5,00,000


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.