खबरे WOW: मोर कुएं में गिरा, ग्रामीणों में अपनी जान पर खेल बचाई मौर की जान, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर RAILWAYS CHANGED RULES: रेलवे ने बदला नियम, इंजन चलाने वालों को होगी परेशानी, पढें खबर TOP NEWS: मध्य प्रदेश, सीएम कमलनाथ छोड़ेंगे पीसीसी अध्यक्ष का पद, बाला बच्चने होंगे नए अध्यक्ष, पढें खबर NEWS: दुर्गादास राठौर की 381 वीं जयंती पर ढोल और डीजे के साथ निकाली भव्‍य कलश यात्रा, पढें कैलाश शर्मा की खबर ARTICLE 370: थार लिंक एक्सप्रेस बंद होने से पाकिस्तान में फंसे कई लोग, पीएम मोदी से लगाई गुहार, पढें खबर BIG REPORT : यूएई (UAE) के ख्यातनाम अस्पताल "अल्ज़हारा" के एक्सपर्ट कैंसर सर्जन नीमच में 20 अगस्त को देंगे अपनी निशुल्क सेवा, पढ़िए परामर्श के लिए कहा करवाना है रजिस्ट्रेशन WOW: वरिष्ठ अधिवक्ता गुलाब सिंह चन्द्रावत मनासा तहसील अपर लोक अभियोजक नियुक्त, पढें शब्‍बीर बोहरा की खबर MANDSOUR UPDATE: अनिल सोनी हत्‍याकांड मामला, पुलिस पहुंची चुन्‍नू लाला के पुश्‍तैनी गांव, दी दबिश, पढें खबर BIG REPORT: कश्मीर घाटी में आगे भी अमन बनाए रखने के लिए सरकार ने बनाया यह प्लान, पढें खबर BIG NEWS: एशिया की सबसें बडीं मानव निर्मित झील का वॉटर लेवल पहुंच 1304, पढें खबर और जानें कब होगी गेट खोलनें की तैयारी, पढें खबर NEWS: नवागत टीआई जादोन ने संभाला पदभार, पुलिस बल के साथ किया नगर भ्रमण, पढें रवि पोरवाल की खबर BIG NEWS: नारायणगढ में बस और ट्रक की जोरदार भिडंत, पुलिस मौके पर, पढें खबर WOW: मां की ममता और मानवता की अनूठी सोच, बच्ची के जन्म के बाद उठा मां का साया, न्यायाधीश ने कराया स्तनपान और ले लिया गोद, पढें खबर BIG NEWS: ग्राम पालसोडा स्थित तालाब में मिला अज्ञात युवक का शव, ईलाकें में फैली सनसनी, पुलिस जांच में जुटी, पढें हरिओम माली की खबर

BIG REPORT: मां-बेटे की एक ही अर्थी, दसों शवों का अंतिम संस्कार, शोक में डूबा रतलाम जिले का यह गांव, आखिरकार क्‍या हुआ था ऐसा, पढें और जानें

Image not avalible

BIG REPORT: मां-बेटे की एक ही अर्थी, दसों शवों का अंतिम संस्कार, शोक में डूबा रतलाम जिले का यह गांव, आखिरकार क्‍या हुआ था ऐसा, पढें और जानें

रतलाम :-

रतलाम/ताल/किशनगढ़। नईदुनिया न्यूज गुजरात के भुज जिले के मनकुआं थाना क्षेत्र के ग्राम डाकडाई में सोमवार को हुए सड़क हादसे में रतलाम जिले के ग्राम नीमसाबदी के तीन परिवारों को उजाड़ दिया। इन परिवारों के कमाने वाले और पत्नी व अन्य रिश्तेदारों की मौत हो गई। वहीं एक परिवार के दो बच्चों की भी मौत हो गई।

मंगलवार दोपहर दस शवों को पांच एंबुलेंस से गांव लाया गया। शव आते ही परिजन विलाप करने लगे। इससे पूरा गांव शोक में डूब गया। दुर्घटना में मृत पप्पू, पत्नी, पुत्र व छोटे भाई के शव एक साथ देखकर पप्पू के पिता रतनलाल व दादा मांगू बेहोश हो गए।

कुछ देर बाद दस शवों की अंतिम यात्रा नौ अर्थियों में एक साथ निकाली गई। मृतका रीना व उसके तीन वर्षीय पुत्र रोहित को एक ही अर्थी में रखा गया था। गौरतलब है कि नीमसाबदी के पप्पूलाल पिता रतनलाल, राधेश्याम, ईश्वरलाल व मुकेश व अन्य परिजन के साथ मजदूरी करने भुज गए थे।

वे वहां के रिलायंस सर्कल मुद्रा रोड के पास झुग्गी बस्ती में रहकर मजदूरी कर रहे थे। सोमवार को पप्पू के पुत्र रोहित का मन्नात कार्यक्रम रखा गया था। पप्पूलाल व अन्य लोग भुज के आसापुरा माताजी मंदिर पर मन्नात उतारने गए थे।

मन्नत उतारकर सभी लोग दोपहर में ऑटो व बाइक से घर लौट रहे थे, तभी ग्राम डाकडाई के समीप सामने से आ रहे ट्रक ने ऑटो व बाइक को जोरदार टक्कर मार दी थी। इससे पप्पूलाल (25), पत्नी रीना (22), पुत्र रोहित (1) व छोटा भाई महेश (6), राधेश्याम पिता शंकरलाल (37), पत्नी पूजा उर्फ कृष्णा (32), मुकेश पिता रणछोड़ (30), मां वसुंधरा उर्फ वस्सुबाई (51), ईश्वरलाल की पुत्री खुशी (5) आशा (3) सहित 13 लोगों की मौत हो गई थी।

मृतकों में उज्जैन जिले के ग्राम निनावटखेड़ा (नागदा) के माधू पिता लालू व आक्यालिम्बा (महिदपुररोड) के पर्वत पिता भागीरथ भी शामिल हैं। ईश्वर सहित पांच लोग घायल हो गए थे। सूचना मिलने पर प्रशासन भी अलर्ट हो गया था और मृतकों व घायलों की जानकारी लेकर पंचायत की तरफ से अंतिम संस्कार कराने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे

मंगलवार सुबह शव करीब दस बज तक पहुंचने की सूचना मिलने पर नीमसाबदी और आसपास के गांवों के लोग, अधिकारी, जनप्रतिनिधि सुबह से गांव पहुंच गए थे। शव दोपहर ढाई बजे एंबुलेंस से पहुंचे। इस दौरान विधायक मनोज चावला, आलोट जनपद सदस्य संतोष पालीवाल, आलोट एसडीएम चंद्रसिंह सोलंकी, जनपद पंचायत सीईओ गोवर्धनलाल मालवीय, ताल थाना प्रभारी संगीता सोलंकी, मेडिकल ऑफिसर प्रकाश फुलम्ब्रीकर सहित पुलिस व जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी भी थे।

पिता व दादा बेहोश, अंतिम संस्कार में भाग नहीं ले सके

पप्पू, उसकी पत्नी, पुत्र व छोटे भाई के शव जब घर आए तो पप्पू के पिता रतनलाल, दादा मांगू दादी कैलाशबाई व तीन वर्षीय पुत्री सुमित्रा विलाप करने लगे। उनका रुदन देखकर आसपास खड़े लोगों की भी आंखे भर आईं। इसी बीच पप्पू के पिता व दादा बेहोश हो गए। ताल से पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उनका इलाज किया। पिता व दादा बेटे व अन्य परिजन के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं हो पाए। मुखाग्नि अन्य परिजन ने दी।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.