खबरे BIG REPORT: सड़क बनाने में गड़बड़ी की या गुटख़ा बेचा, EOW आ रहा है ऐसे 12 लोगों पर छापा मारने, पढें खबर OMG ! ट्रेन का करना होगा इंतजार, क्योंकि धीमी चल रही यह परियोजनाएं, पढें खबर POLITICS: कांग्रेस के मंत्री से मिले भाजपा विधायक, राजनीति में मची खलबली, पढें खबर WOW: मोदी सरकार ने निकाली यह तरकीब, अब सस्ती होने लगी प्याज, पढें खबर BIG NEWS: पहली बार ब्राह्मण समाज द्वारा युवक-युवती परिचय सम्मेलन का आयोजन, हजारों की संख्‍या में शामिल होंगे समाजजन, पढें खबर OMG ! प्रदेश के कृषि मंत्री व झाबुआ विधायक के सम्मान दौरान बत्ती गुल, पढें खबर BIG NEWS: चुनाव को लेकर जीरन नगर परिषद की वार्ड आरक्षण प्रक्रिया सम्‍पन्‍न, जानें कौनसा वार्ड किसके लिए आरक्षित, पढें हरिओम माली की खबर BIG NEWS: नगर पालिका चुनाव को लेकर वार्ड आरक्षण प्रक्रिया सम्‍पन्‍न, जानें कौनसा वार्ड किसके लिए आरक्षित, पढें खबर VIDEO: देवास में बडा हादसा टला, भोपाल से उज्‍जैन लोट रहे पुलिस कर्मी घायल, ट्रक में जा घुसी कार, देखे विडियों न्‍यूज VIDEO: मंदसौर में कृषि उपज मंडी के बाहर किसानों ने किया चक्‍काजाम, प्‍याज निलामी बंद को लेकर आक्रोश, देखे रवि पोरवाल की विडियों न्‍यूज BIG NEWS: वरिष्‍ठ नागरिक मंच संस्‍थान द्वारा कपकपाती ठंड से ठिठुरतें गरीब के लोगों को वितरित किए कंबल, पढें कैलाश शर्मा की खबर WOW: मध्य प्रदेश में बिड़ला ग्रुप तलाशेगा हीरा, 55 हज़ार करोड़ की बंदर खदान नीलाम, पढें खबर BIG REPORT: बिजली विभाग के कर्मचारी 25 हजार की रिश्वत लेते पकड़े गए, लोकायुक्त की कार्रवाई, पढें खबर BIG NEWS: विवादों की नगर पालिका में भेंट चढ़ा विकास व आमजन के काम भी प्रभावित, पढें खबर

BIG REPORT : क्या मालवा का युवा खो चुका है अपने हक़ के लिए बोलने की आजादी, 4000 करोड़ की फैक्ट्री बिक जाएगी 400 करोड़ में, देखिये ख़ास बात वरिष्ठ पत्रकार मुस्तफा हुसैन की फेसबुक वॉल से

नीमच :-

मैने अपनी पुरानी पोस्ट में लिखा नीमच के बच्चे हुआ करते थे कभी मंदसौर और चित्तौड़, आज नीमच बच्चा दिखाई देता है. इसके कई कारण है, जिसमे एक प्रमुख कारण जिले के नेताओ की कमजोर पॉल्टिकल विल भी है, हर मामले में जनता के मुद्दे दम तोड़ते दिखते लेकिन कोई बोलने वाला नहीं.

अपनी राय देने के लिए यहाँ क्लिक करे 

इस समय नयागांव की सीसीआई सीमेंट फैक्ट्री के बिकने का मामला गरम है, कुछ संगठन इसे बेचे जाने का विरोध करने में लगे है लेकिन उनकी आवाज़ नक्कारखाने में तूती की तरह ही है क्योकि सबसे ख़ास बात यह है की आम आदमी सोया हुआ है, वो सोचता है अपना क्या लेना देना, और यही सोच हमें रसातल और गड्ढे में ले जाती है. 

अपनी इस पोस्ट के साथ सीसीआई सीमेंट फैक्ट्री का एक वीडियो भी अपलोड कर रहा हूँ, जो करीब दस साल पहले मेरे साथी दीपक ख़ताबिया ने कैमरे से शूट किया था, यह फैक्ट्री अब ऐसी नहीं दिखती अब पूरी तरह घना जंगल हो चुकी है, फैक्ट्री में खतरनाक जानवरो का बसेरा है. लेकिन सबकी नज़र इसकी 1332 हेक्टेयर यानी करीब 8 हज़ार बीघा ज़मीन पर है इसमें करीब 1200 हेक्टेयर जमीन के नीचे बेशकीमती लाईम स्टोन है जिसके बारे में अनुमान है की यदि यहाँ 3000 हज़ार टन पर डे के 3 प्लांट चले तो 50 साल तक यह लाईम स्टोन खत्म नहीं होगा, इसमें एक ख़ास बात और है की यह लाईम स्टोन लाईट ग्रीन कलर का है जो सबसे उम्दा क्वालिटी का है ऐसा लाईम स्टोन एमपी और राजस्थान की किसी सीमेंट फैक्ट्री के पास नहीं जबकि खोर की अल्ट्रा टेक सीमेंट फैक्ट्री ने अब जाकर अपने लाईम स्टोन भण्डार को 25 साल का किया है, जब उसने सुवाखेड़ा तरफ की ज़मीने ली.

सूचनाएं बताती है यह फैक्ट्री 500 करोड़ के आस पास बिक सकती है, जबकि इसकी बाज़ार में कीमत 4 हज़ार करोड़ के आसपास बैठती है. 

मेरी यह पोस्ट कोई आंकड़ों की बाजीगरी नहीं है, वरन एक बड़ा सवाल है, यह सवाल इस व्यवस्था से है, राजनैतिक सूरमाओ से है, वह यह की आखिर चल क्या रहा है और सवाल आम लोगो से भी है की वे अपने हक़ के लिए कब जागेगी ? या फिर केवल फ़रियाद ही करती रहेगी. 

सवाल मेरे ज़हन में यह है की नीमच/निम्बाहेड़ा में अल्ट्रा टेक, वंडर, लाफार्ज, आदित्य बिड़ला और जैके सीमेंट फैक्ट्रियां आयी इन सीमेंट फेक्ट्रियो ने एक एक प्लांट लगाया लेकिन आज सभी के तीन प्लांट हो गए.लेकिन जिस सीसीआई के पास बेहिसाब लाईम स्टोन, पानी, रेलवे और सड़क ट्रांसपोर्टेशन का इंतज़ाम था वो आज बिकने वाली है. 

सवाल यह भी है की जब फैक्ट्री की नीव रखी तो किसानो ने जमीन दी आज वो जमीने निजी हाथो में बिक जायेगी, कल फैक्ट्री लगाईं तब भी करोडो का खेल तमाशा हुआ और आज जब बिकने की बात की जा रही है तो हज़ारो करोड़ के खेल तमाशे का अंदेशा है.

ये फैक्ट्री जब चालू थी तो करीब 800 लोग नौकरी में थे और करीब 2 हज़ार लोग रोज़गार पाते थे आज यदि इसके तीन प्लांट चालू होते तो 5 हज़ार से भी अधिक लोगो को रोजगार मिल रहा होता.मेरा सवाल यह है की इस फैक्ट्री के लगने से लेकर बिकने तक यहाँ के आम बाशिंदे को क्या मिला, जो निजी फैक्ट्रियां चल रही है वो जिले के बेरोजगार युवाओ को नौकरी देती नहीं, जैसे दिखें के सोलर प्लांट में स्थानीय आदमी नहीं रखा जाता लेकिन सरकारी उपक्रम में इस बात की गुंजाईश है की स्थानीय नौजवान रोज़गार पा सकेंगे 

समस्या यह है की हम भावनाओ पर चलते है मुद्दों पर नहीं, जब सवाल पूछने का टाइम था तो हम सवाल नहीं पूछा की आपने सीसीआई को चालू करने का वादा किया था अब बिक क्यों रही है, दिक्कत यह है की हमारा ज़मीर अंदर से मर चुका है, ठोकरे खाते खाते हम हताश हो चुके है, और सोचते है आसमान से कोई आएगा और सब कुछ सही कर देगा. आज हमारे जिले में लाखो नौजवान बेरोजगार है, लेकिन सीटू के शैलेन्द्र भाई ठाकुर जब आंदोलन की बात करते है तो 5 बेरोजगार भी नहीं पहुंचते, आखिरकार आपकी लड़ाई कैसे और कौन लड़ेगा. सोचिये क्या नीमच के साथ जो हो रहा है वो न इंसाफ़ी नहीं है, या फिर राजनैतिक दलों के प्रति चलती अपनी प्रतिबद्धताओ के कारण हम मुंह सिल कर रहेंगे, जयहिंद !

#mustafareporter #independenceday #15august #azadi #india #malwa #neemuch #cci #15अगस्त #सीसीआईसीमेंट


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.