खबरे NEWS: गरीब लोगों को आटा दाल चावल तेल शक्कर साबुन का वितरण किया गया वनवासी किसान मजदूर संघ द्वारा, पढें खबर NEWS: बडा हादसा टला, रतलाम में बच्चों से भरी स्कूल बस की स्‍टेरिंग टूटी, बच्‍चे घायल, पढें खबर POLITICS: नीमच आ रहे है पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह 21 सितंबर को, जावद में पूर्व मंत्री स्व. घनश्याम पाटीदार की प्रतिमा का करेंगे अनावरण, पढें खबर OMG: फिर हो सकती है 10 सितंबर से एमपी राजस्‍थान सहित कई राज्‍यो मे भारी बारिश, पढें दिनेश वीरवाल की खबर NEWS: रामपुरा-देवरान में बाढ पिडितों के लिये दिन रात मेहनत कर रहे है राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ व विहिप, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर NEWS: मनासा में ग्राम रोजगार सहायक संघ ब्‍लॉक की बैठक सम्‍पन्‍न, राम वल्‍लभ चौहान बने ब्‍लॉक अध्‍यक्ष, पढें शब्‍बीर बोहरा की खबर NEWS: दिल्ली की आपदा प्रबन्धक टीम मल्हारगढ तहसील के गाँवो में पहुंची, पढें पप्पु सोलंकी की खबर COMMODITY MARKET: कच्चा तेल उछला, सोने की चमक बढ़ी BUSINESS: यहा क्लिक करेगें तो जानेगें नीमच सर्राफा भाव GADGETS: Vivo V17 Pro की लॉन्चिंग आज, इतनी हो सकती है कीमत NEWS: प्रीमियम WagonR लाने की तैयारी में मारुति, XL5 हो सकता है नाम RELASHANSHIP: इन तेलों के इस्तेमाल से Sex Drive में कमी की समस्या होगी दूर HEALTH: चमकते सेब से लिवर और किडनी कैंसर का खतरा, रहें सावधान

OMG ! मध्‍यप्रदेश के इस शहर में क्‍यों हो रहीं है इतनी बारिश, आखिरकार क्‍या है कारण, पढें और जानें

Image not avalible

OMG ! मध्‍यप्रदेश के इस शहर में क्‍यों हो रहीं है इतनी बारिश, आखिरकार क्‍या है कारण, पढें और जानें

डेस्‍क :-

भोपाल. भोपाल(bhopal) के लोग बेहाल हैं. ऐसी बारिश (rain)की कामना और उम्मीद किसी ने हरगिज़ नहीं की थी. मॉनसून (monsoon)आने में देर हुई तो सबने बारिश के लिए दुआ शुरू कर दी, लेकिन बारिश ने तो देर आए दुरुस्त आए की तर्ज़ पर ऐसी एंट्री मारी कि अब वापस ही नहीं जा रही. मौसम विभाग ने फिर 35 ज़िलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. भोपाल के लिए ऑरेंज अलर्ट(orange alert) जारी हुआ है

सितंबर में मॉनसून की विदाई का इंतज़ार कर रहे भोपाल के लोग अब उठे ठेलने में लगे हैं. सब कह रहे हैं कि अब बस भी करो इंद्रदेव.बहुत हुआ. अगस्त में शुरू हुई बारिश सितंबर में तो क़हर ढा रही है. राजधानी में बाढ़ के हालात हैं. शहर की लाइफ लाइन बड़ा तालाब और कोलार डैम ने अपने गेट ऐसे खोले कि बंद होने का नाम ही नहीं ले रहे

पूरा भोपाल तरबतर है. रोज घने बादल छा जाते हैं और अचानक ऐसी मूसलाधार बारिश होती है मानो नॉर्थ-ईस्ट का कोई शहर हो. मंगलवार को भी डेढ़ घंटे में 33 मिमी पानी बरस गया. भोपाल के बुज़ुर्ग बताते हैं कि ऐसी बारिश उन्होंने पहले कभी नहीं देखी. सिंतबर में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हो चुकी है

भोपाल में भारी बारिश की वजह-

मौसम विज्ञानी बता रहे हैं कि वो क्या वजह है जिसके कारण इस बार भोपाल में इतनी बारिश हो रही है. उनका कहना है मध्य प्रदेश के ऊपर से शियर ज़ोन गुजर रहा है. वैसे ये हमेशा दक्षिण भारत में रहता है. लेकिन इस बार भोपाल और उसके आसपास से गुजर रहा है. इसलिए ये भोपाल और पड़ोसी जि़लों होशंगाबाद, बैतूल, रायसेन, विदिशा सहित अन्य जिलों में भारी बारिश कर रहा है

क्या है शियर ज़ोन-

शियर जोन वो क्षेत्र होता है जहां पूर्व-पश्चिमी मॉनसूनी हवाएं मिलती हैं.हवाएं आपस में टकराती हैं और बारिश करती हैं. इसी सिस्टम के कारण पूरे प्रदेश में 23सितंबर तक लगातार बारिश होती रहेगी. शियर जोन समुद्र तल से 1.5 से 5.8 किमी ऊपर होता है. लेकिन इस बार ये1.5 किमी नीचे है. शियर ज़ोन रतलाम, उज्जैन, भोपाल, इंदौर, देवास, सागर,दमोह के ऊपर से गुजर रहा है और पानी बरसाता जा रहा है

बाढ़ के हालात-

लगातार मूसलाधार बारिश के कारण भोपाल में बाढ़ के हालात हैं.सड़कों से लेकर निचली बस्तियों तक में पानी भरा हुआ है. घरों में पानी भर गया है. ऐसा मंजर है मानो बाढ़ आ गई है.घरों में दो से तीन फीट पानी भरने से सामान खराब हो गया है

पानी में बही सड़क-

भोपाल के कई इलाके जलमग्न हो गए हैं.कोलार ब्रिज के पास सर्वधर्म बी सेक्टर दामखेड़ा की निचली बस्तियों में पानी ही पानी नजर आ रहा है..कलियासोत नदी के पास ही स्थित झुग्गियां बस्तियां पानी की चपेट में हैं.नदी से सटे घरों में दो से तीन फीट पानी भर गया है..कुछ घर पानी में आधे डूब चुके हैं. किसी का छज्जा बह गया है और किसी की दीवार ढह रही है. समरधा,कोलार रोड,चूनाभट्टी रोड,लिंक रोड,पर पानी भर गया है.सेकंड नंबर स्टॉप पर दो फीट पानी भरने के कारण सड़क अब नदी में तब्दील हो गयी है. कोलार से 10 किलोमीटर दूर गोल गांव में बारिश अपने साथ सड़क बहा ले गयी है

रिकॉर्ड  टूटा-

इस बार भोपाल में जैसी बारिश हुई वैसी 72 साल में कभी नहीं हुई. खुद मौसम विज्ञानी कह रहे हैं कि 4 दशक में  भोपाल में इतनी बारिश होते नहीं देखी. ख़ासतौर से सितंबर में तो कभी इतनी बारिश नहीं हुई. अगर दस साल के आंकड़े देखें तो 2009 में 126.9 मिमी बारिश हुई थी. लेकिन इस साल ये अब तक 271.1 मिमी हो चुकी है

राजधानी के सारे डेम लबालब- 

भोपाल में भदभदा,कोलार,कलियासोत और केरवा के साथ ही बड़ा तालाब लबालब है.भदभदा डेम के गेट करीब 15 बार खोले जा चुके हैं. केरवा और कलियासोत डैम के गेट भी खोले गए.कोलार डेम के गेट 1984के बाद चौथी बार खोले गए


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.