खबरे NEWS: किसानों की चेतावनी एक महीने के अंदर दे हमें हमारी जमीन की राशि नही तो परिवार सहित कर देंगे आत्महत्या, पढें खबर NEWS: किसानों की चेतावनी एक महीने के अंदर दे हमें हमारी जमीन की राशि नही तो परिवार सहित कर देंगे आत्महत्या, पढें खबर VIDEO: चंबल के तांडव पर सुनिए आंखो देखा सच, किस तरह देवरान के गांव डुब गये कुछ घंटो में, बता रहे श्‍याम गुर्जर के साथ ग्रामीण, देखे विडियों न्‍यूज EXCLUSIVE VIDEO: नीमच/मंदसौर में कैसे आया सैलाब, चम्बल की तबाही का हुआ राज़ फाश, देखिए ये स्पेशल रिपोर्ट NEWS: शिवना नदी में बहे सागर नाम के युवक की लाश मिली, 24 घंटे से चल रहा था रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन, पढें खबर WOW: अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू सेना जिला उपाध्यक्ष मोहित अहीर का जन्मदिवस आज मूक बधिर बच्चों के साथ मनाया गया, पढें खबर NEWS: पुरानी तस्‍वीर के साथ जाने गांधी सागर बांध की पूरी कहानी, जिससे मध्यप्रदेश में आई है 'तबाही', जानें कब और क्यों बना, पढें खबर NEWS: रामपुरा बाढ पिडितो के लिये जावद के लोग आये आगे, तेल, शक्‍कर, आटा, घी, बिस्किुट लेकर रवाना, पढें खबर OMG: मौत को मात दे दी दिनेश धाकड़ ने, कुछ यू हुआ हादसा, जिसने भी सुना खडे हो गये रोंगटे, पढें खबर VIDEO: रामपुर में चंबल के तांडव के बीच हुआ बड़ा चमत्‍कार, पक्‍के से लेकर कच्‍चे मकान ढहे, लेकिन ना डुबी ना तेरी बाबा की चौकी, देखे नवीन पाटीदार की विडियों न्‍यूज NEWS: अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू सेना नीमच की नगर कार्यकारिणी का विस्तार, पढें खबर NEWS: स.शि.मं. चडोल में विद्यालय की प्रगति के लिये अधिकारिक बैठक सम्पन्न, पढें खबर NEWS: कांग्रेस नेता पोरवाल का अरोप, बोले नगर पालिका की अनदेखी से इंदिरा नगर की सड़कों के हालात बिगड़े, पढें खबर NEWS: अयोध्या केस, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 18 अक्टूबर तक पूरी हो सकती है बहस, पढें खबर NEWS: मंदसौर में चंबल के तांडव में 44 लोगो की मौत, 516 पशु, 2700 कच्‍चे मकान ढहे, पढें खबर 

WOW: साटोला गवरी नृत्य में कलाकारों ने किया शानदार प्रदर्शन, आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से उमडे दर्शक, पढें कैलाश शर्मा की खबर

Image not avalible

WOW: साटोला गवरी नृत्य में कलाकारों ने किया शानदार प्रदर्शन, आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से उमडे दर्शक, पढें कैलाश शर्मा की खबर

छोटीसादड़ी :-

छोटीसादड़ी। उपखण्ड के साटोला गांव में गुरुवार को बालाजी चौक पर गवरी नृत्य का आयोजन झाझंरवा (मगंलवाड-डुगंला) के कलाकारो ने शानदार प्रदर्शन कर ग्रामीणों का मन मोह लिया। गवरी नृत्य को देखने के लिए साटोला सहित आसपास के गांवो से बड़ी संख्या में महिला पुरुष एवं बच्चे उमड पड़े।

गांव के राम रतन रेगर साटोला ने बताया कि गवरी नृत्य में खेतुडी, कालुकीर, हटिया, खडुलिया भुत, कालबेलिया खेल, भोल्या भुत, कानगुजरी, शकंरिया-ईडोणी, कुट कडिया, वरजु, काजंरी देवी अम्बा, मियावड नाहर राजा का शीश लेना, दाणी -चोर, लाखीबिणजारा आदि खेल प्रस्तुत कर लोगो का मनोरंजन किया। गवरी नृत्य में दो राई, राई बुडिया व मुख्य भोपा होता है। ग्रामीणों का कहना है कि

गावं में गवरी नृत्य होने से बीमारिया नही आती है और सुख शांति बनी रहती है। राजस्थान में मेवाड क्षैत्र में राई नृत्य राजस्थान ही नही बल्कि पुरे भारत में प्रसिद्ध है।भील समाज ने आज भी प्राचीन काल से अब तक शिव पार्वती का खेल एक प्रमुख लोकनाट्य है जिसे प्राय दिन में गावं चोराया पर किया जाता है। भारतीय संस्कृति को बनाऐ रखने मे इनका विशेष योगदान है।

गवरी नृत्य रक्षाबन्धन के अगले दिन से लगभग सवा महिने तक किया जाता है। राई (गवरी) नृत्य के प्रारम्भ और अन्त में पार्वती माता की पूजा मां गोरजा के रुप मे की जाती है। राई नृत्य का मुख्य आकर्षण राई बुडिया  होता है। कलाकार रामलाल भील ने बताया की राई बुडिया के वस्त्र पांच देवताओं के होते है जिसमे मुखोटा हनुमानजी का, घुघरा-भेरुजी के भगवा -भोलनाथ, भाला तलवार-माताजी की व पायजामा- पीर का होता है। 

यह नृत्य पुरूष वर्ग द्वारा किया जाता है। वर्तमान समय में इन्टरनेट के युग में भी गवरी नृत्य में भारी भीड जमा होना एक आश्चर्यचकित है। गवरी नृत्य में साटोला सहित आसपास के रावतपुरा, मालिखेडा, करजू, मानपुरा जागीर, फतेहसिह जी का खेडा, देवली, नेगडिया, हरिसिंह जी का खेडा, कांकरा, भचेडी, करणपुर, उण्डावेला, उदपुरा आदि गांव के लोगों ने दिन भर  गवरी नृत्य का आनंद लिया।
 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.