खबरे BIG NEWS: पुलिस को मिली बडीं सफलता, ढाबों पर टैंकरों से तेल चुरानें का पर्दा किया फाश, मिनी ट्रक चालक सहित 2 आरोपी गिरफ्तार, पढें खबर BIG NEWS: गुमटी माफियाओं पर शिकंजा, 14 केबिन जब्त, हटाया अतिक्रमण, पढें खबर BIG NEWS: शहर में दिन-दहाडें बीच चौराहें पर युवक की चाकू मारकर हत्‍या, परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल, परिवार में पसरा मातम, पुलिस जांच में जुटी, पढें खबर EXCLUSIVE NEWS: नीमच में कान फोड़ डीजें का शोर, मासूम नौनिहालों की परीक्षा और बेखबर जिला प्रशासन, बता रहे है डेस्क इंचार्ज अभिषेक शर्मा, पढ़े ये खबर NEWS: पंचायतों की मतदाता सूची तैयार करने के लिए रजिस्‍ट्रीकरण एवं सहायक रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी नियुक्‍त, पढें खबर VIDEO NEWS:नीमच जिले मे 48 भूखंडों के आवंटन की प्रक्रिया पर सवाल उठने लगे हैं। नगर पालिका परिषद और उसके राजस्व विभाग की भूमिका पर प्रश्न चि- लगाते हुए शिकायत भी की गई है, देखे दीपक खताबिया की विडियो न्‍युज VIDEO: मालवा-मेवाड का लाचार किसान, हर रोज गिर रहे लहसुन और प्याज के दाम, मुनाफा खोरी के खेल पर बडा खुलासा, न्यूज रूम से जर्नलिस्ट मुस्तफा हुसैन EDUCATION: MP बोर्ड परीक्षाओं का काउंटडाउन शुरू, 19 लाख से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स होंगे शामिल, पढें खबर BIG NEWS: संदिग्‍ध परिस्थितियों में युवक की मौत का मामला, गुर्जर समाजजन पुलिस अधीक्षक को सौंपेंगे ज्ञापन, करेंगे निष्‍पक्ष जांच की मांग, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर OMG ! अज्ञात कारणों के चलतें 17 वर्षीय बालक ने फांसी लगाकर की आत्‍महत्‍या, पुलिस जांच में जुटी, पढें संदीप बाफना की खबर BIG NEWS: जांच का सच, सवेरा योजना के सत्यापन के बाद नीमच जिले में 59 हजार श्रमिक पाए गए अपात्र, भाजपा के शासन काल में संबल योजना का हुआ था दुरूपयोग, भगत वर्मा, पढें खबर NEWS: आपकी सरकार आपके द्वार शिविर का आयोजन 28 फरवरी को ग्राम नौंगावा में, पढें खबर BIG NEWS: अशासकीय विद्यालय पाठय सामग्री क्रय करने के लिए दुकान विशेष के लिए बाध्‍य नहीं कर सकते, कलेक्‍टर पुष्‍प, पढें खबर VIDEO NEWS: देवास : जिले में दो दिनों पूर्व सीवरेज कार्य के लिए खोदे गड्ढे में मट्टी धंसने से एक युवक की मौत हो गई थी जिसके चलते भाजपा विधायक गायत्री राजे पवार पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची, देखे राजेश पंवार की विडियो न्‍युज NEWS: ग्राम खानखेडी में पंडित नरोत्‍तम शर्मा के मुखारविंद भव्‍य भागवत कथा का आयोजन, मनाया रूकमाणि विवाह का प्रसंग, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर

WOW: मोदी सरकार उठाने जा रही है बड़ा कदम, इन 10 लाख लोगों की बढ़ सकती है सैलेरी, पढें खबर

Image not avalible

WOW: मोदी सरकार उठाने जा रही है बड़ा कदम, इन 10 लाख लोगों की बढ़ सकती है सैलेरी, पढें खबर

डेस्‍क :-

नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) के अंतर्गत आने वाले 10 लाख अनियमित (Casual) कर्मचारियों के लिए सरकार की ओर से खुशखबरी आई है. कहा जा रहा है कि इन कर्मचारियों के लिए सरकार ने दीवाली मनाने का प्रबंध कर दिया है. इन सभी को अब नियमित कर्मचारियों के बराबर वेतन मिलेगा क्योंकि सरकार ने माना है कि दोनों ही बराबर काम (Equal Pay for Equal Work) करते हैं. इस बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के अधीन कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (DoPT) के बुधवार को इस संदर्भ में आदेश दिया है

केंद्र सरकार के इस आदेश के अनुसार, "सभी अनियमित कर्मचारियों को 8 घंटे काम करने पर उसी पद पर काम करने वाले नियमित कर्मचारियों के वेतनमान (Pay Scale) के न्यूनतम मूल वेतन और महंगाई भत्ते के बराबर ही भुगतान होगा. वे जितने दिन काम करेंगे, उन्हें उतने दिनों का ही भुगतान होगा. हालांकि आदेश संख्या 49014/1/2017 के अनुसार उन्हें नियमित रोजगार पाने का हक नहीं होगा

दोगुनी से भी ज्यादा हो सकती है सैलरी-

अभी तक इन कर्मचारियों को संबंधित राज्य सरकारों का तय किया न्यूनतम वेतन ही दिया जाता था. मसलन दिल्ली ने अकुशल श्रमिकों (Unskilled Workers) के लिए 14,000 रुपये प्रति महीने का वेतन तय किया गया था लेकिन अब इस आदेश के बाद उन्हें ग्रुप डी (Group D) के वेतनमान का न्यूनतम वेतन यानि 30,000 रुपये प्रति महीने दिया जाएगा. यानि एक बार में ही उनकी आमदनी दोगुनी से भी ज्यादा हो जाएगी.

आदेश में यह भी स्पष्ट किया गया है कि यदि किसी अनियमित कर्मचारी का काम नियमित कर्मचारी के काम से अलग है तो उसे राज्य सरकार के निर्धारित वेतन के आधार पर भी भुगतान किया जाएगा. ऐसा करने के लिए आदेश सभी मंत्रालयों और विभागों को भेज दिया गया है. DoPT का यह आदेश समान कार्य के लिए समान वेतन के सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद आया है

ट्रेड यूनियन नेताओं ने आदेश के लागू होने पर जताया शक-

हालांकि सरकार की ओर से इसके लिए स्पष्ट आदेश जारी किया जा चुका है लेकिन इसके लागू होने पर ट्रेड यूनियन (Trade Union) के कई नेताओं ने संदेह जताया है. कुछ नेताओं ने कहा है कि ऐसे आदेश पहले भी दिए गए हैं लेकिन लागू नहीं हो सके हैं

हालांकि सरकार ने ग्रुप सी और डी की अधिकतर नौकरियां आउटसोर्स कर निजी ठेकेदारों के जिम्मे कर दी हैं, ऐसे में आदेश को लागू करा पाना सबसे बड़ी चुनौती है. जानकार कहते हैं कि केवल केंद्रीय कर्मचारियों के लिए आदेश को जारी किए जाने के चलते इसे DoPT के जरिए जारी किया गया है. अगर यही आदेश श्रम मंत्रालय जारी करता तो यह सभी कर्मचारियों पर लागू होता


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.