खबरे BIG NEWS: मध्यप्रदेश शासन के मंत्री हरदीप सिंह डंग 4 जुलाई को पहुंचेंगे मंदसौर, पार्टी कार्यकर्ताओं से करेंगे मुलाकात, पत्रकारों से होंगे रूबरू, पढें कमलेश चौहान की खबर BIG NEWS: जावद नगर की सभी सीमाए तुरंत प्रभाव से खोली जाए, केबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने की कलेक्टर से चर्चा, पढे खबर OMG ! शराब पीने के लिए नहीं दिए पैसे, बदमाशों ने घर के बाहर ही कर दी 2 दोस्तों की हत्या, एक अस्पताल में भर्ती BIG REPORT: पिता की उंगली छोड़ दौड़कर मां से लिपटा तीन साल का मासूम... और हो गया फैसला, पढें खबर CORONA FIGHT: खुशियों की दास्तां, 4 लोगों ने फिर जीती कोरोना से जंग, स्वस्थ होकर खुशी-खुशी पहुंचे अपने घर, पढें कमलेश चौहान की खबर SHIVRAJ CABINET: 24 मंत्री हैं करोड़ों के मालिक, कोई 5 वीं पास तो कोई पीएचडी होल्डर, पढें खबर BIG NEWS: अब बदला दुकानों के संचालन का समय, खुलेगी इतनें से इतनें बजें तक, जिला कलेक्‍टर जितेंद्र राजें ने जारी किया आदेंश, पढें योगिता प्‍लास की खबर UNLOCK WEDDING: सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियमों के साथ वर-वधु ने लिए सात फेरे, दिया ये बड़ा संदेश, पढें दिलीप सौराष्‍ट्रीय की खबर BIG NEWS: हमारा घर-हमारा विद्यालय पर विशेष रेडियो प्रसारण 4 जुलाई को, आकाशवाणी के सभी प्राथमिक प्रसारण केंद्रो से होगा प्रसारित, पढें खबर VIDEO NEWS: इंडियन आर्मी में अपनी सेवा देकर लोटे सैनिक, गले लगते ही पिता की आँख भर आई, बहन ने विधिविधान से की पूजा अर्चना, देखे रवि पोरवाल की रिपोर्ट BIG NEWS: एक लक्‍जरी कार, चार कट्टें और 60 किलों डोडाचूरा का खेल, पुलिस ने की कार्रवाही, 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर OMG ! निम्‍बाहेंड़ा के किसानों से धोखा, व्‍यापारी ने खरीदे 1 करोड़ के गेहूं, फिर हुआ फरार, अब होगा यह, पढें खबर NEWS: लोकेश पारीक विप्र फाउंडेशन युवा मंच के प्रदेश सचिव नियुक्त, पढें कैलाश शर्मा की खबर BIG NEWS: किसानों को बारिश की आस, ग्राम बंबोरी में हवन का आयोजन, किया इंद्रदेव को प्रसन्‍न, पढें कैलाशचंद्र शर्मा की खबर NMH MANDI: चना 100, इसबगोल 200 एवं तिल्‍ली 100 रूपए तेज, कलोंजी 500 लहसुन 300 एवं अजवाईन 300 रूपए नरम, एक क्लिक में पढें नीमच मंडी भाव, पोस्‍ता जाने महेन्‍द्र अहीर के साथ किस धान में आया उछाल

TOP NEWS: सिंधिया का मिशन दिल्ली, दिग्विजयसिंह भी होंगे दावेदार, किसके साथ है कमल नाथ, पढें खबर

Image not avalible

TOP NEWS: सिंधिया का मिशन दिल्ली, दिग्विजयसिंह भी होंगे दावेदार, किसके साथ है कमल नाथ, पढें खबर

डेस्‍क :-

भोपाल. सियासत में कब क्या होगा और कौन दोस्त है या दुश्मन मौजूदा दौर में कुछ नहीं कहा जा सकता है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को लेकर लंबे समय से अटकलें लगाई जा रही हैं। लेकिन इसके साथ-साथ राज्य में राज्यसभा चुनाव को लेकर भी सियासी पैंतरेबाजी शुरू हो गई है। अप्रैल 2020 में मध्यप्रदेश में राज्यसभा की तीन सीटें खाली हो रही हैं। इन तीन सीटों में एक सीट कांग्रेस के खाते की है जबकि दो सीटें भाजपा के खाते की हैं।

दिसबंर 2018 में मध्यप्रदेश में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है लेकिन कांग्रेस सबसे बड़ा दल है और उसके साथ निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन है। ऐसे में प्रदेश अध्यक्ष के साथ-साथ राज्यसभा के लिए राजनीतिक खेल शुरू हो गया है। हालांकि अभी इस पर कोई भी नेता बोलने को तैयार नहीं है। लेकिन जानकारों का कहना है कि अंतिम फैसला पार्टी अध्यक्ष को लेना है, लेकिन राय प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं से जरूर ली जाएगी।

कौन सी सीटें हो रही हैं खाली-

मध्यप्रदेश में राज्यसभा की 11 सीटें हैं। 3 सीटों का कार्यकाल 2020 में पूरा हो रहा है। जिन सांसदों का कार्यकाल पूरा हो रहा है उनमें कांग्रेस के दिग्विजय सिंह, भाजपा के प्रभात झा और पूर्व मंत्री सत्य नारायण जाटिया का है।

भाजपा के खाते में एक और कांग्रेस के खाते में एक सीट जाएगी लेकिन तीसरी सीट को लेकर पेंच फंस सकता है। जहां भाजपा को मुश्किलों का सामना कर पड़ सकता है जबकि कांग्रेस के पास संख्याबल है।

कांग्रेस में कई दावेदार-

दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश की राजनीति में सक्रिय हैं और इस समय वो केवल राज्यसभा सांसद हैं। ऐसे में ये माना जा रहा है कि दिग्विजय सिंह एक बार फिर से अपना दावा पेश कर सकते हैं। वहीं, अगर दिग्विजय सिंह अपना दावा पेश नहीं करते हैं तो वो पूर्व सीएम अर्जुन सिंह के बेटे अजय सिंह का नाम आगे बढ़ा सकते हैं।

अजय सिंह लोकसभा चुनाव में एक रैली के दौरान कह चुके हैं कि अगर मैं हार गया तो कार्यकर्ताओं का क्या होगा क्योंकि पार्टी मुझे तो राज्यसभा भेज देगी। अजय सिंह को दिग्विजय सिंह का करीबी भी माना जा रहा है। अजय सिंह का नाम मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की रेस भी भी आ चुका है।

दूसरी तरफ सीएम कमल नाथ भी अपने खेमे के किसी नेता को राज्यसभा भेजने की कोशिश कर सकते हैं। हालांकि वो किसे भेजते हैं या किसके नाम का समर्थन करते हैं इसको लेकर अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी लेकिन एक नाम का जिक्र किया जा सकता है वो नाम है पूर्व विधायक दीपक सक्सेना का। दीपक सक्सेना वही विधायक हैं जिन्होंने कमलनाथ के लिए अपनी विधानसभा सीट छोड़ी थी।

ज्योतिरादित्य सिंधिया को लंबे समय से प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग चल रही है। ज्योतिरादित्य सिंधिया 2019 में अपना लोकसभा का चुनाव भी हार चुके हैं और मौजूदा समय में उनके पास कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी ही सरकार पर कई बार निशाना साध चुके हैं। ऐसे में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी एक दावेदार हो सकते हैं। जानकारों का कहना है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा भेजकर पार्टी सिंधिया को केन्द्रीय राजनीति में सक्रिय रखेगी और व मध्यप्रदेश की सक्रिय राजनीति से भी दूर रहेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष के लिए रेस में क्यों आ रहे हैं नाम-

जानकारों का कहना है कि जिस तरह से कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष को लेकर कई नाम सामने आ चुके हैं उससे साफ ही कि ये दबाव की राजनीति है। ये नेता प्रदेश अध्यक्ष के लिए अपना दावा इसलिए पेश कर रहे हैं कि अगर इन्हें अध्यक्ष नहीं बनाया जाता है तो कम से कम राज्यसभा के लिए इनका दावा मजबूत रहेगा।

राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का चयन होना है ऐसे में सभी नेताओं के समर्थक अपने-अपने नेताओं का नाम आगे कर रहे हैं लेकिन कोई भी नेता खुद को इस रेस का दावेदार नहीं बता रहा है।

 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.