खबरे LOCK DOWN: शहरवासियों के जज्बे से हम कोरोना महामारी को शीघ्र देंगे मात, विधायक परिहार, पढें रतन पंडित की खबर Covid 19: क्वारेंटाइन या आइसोलेशन में जाने से किया इनकार, तो दर्ज होगी FIR, पढें खबर BIG NEWS: मल्हारगढ़ SDM-SDOP द्वारा राज्य चेक पोस्ट का किया औचक निरीक्षण, सक्रियता बरतने के दिए शख्त आदेश, पढें रवि पोरवाल की खबर LOCK DOWN: मध्‍यप्रदेश के इस शहर में अब लॉक डाउन के दौरान 1 दिन लगेगा CURFEW और 1 दिन मिलेगी छूट, पढें खबर COVID 19: पति की मौत के बाद 2 दिन से भूखी थी खुर्शिदा, भोपाल पुलिस ने खिलाया खाना, पढें खबर BIG NEWS: पुलिस का मानवीय चेहरा, 8 गर्भवती महिलाओं को पहुंचाया अपने-अपने घर, पढें कमलेश चौहान की खबर #LOCKDOWN: कर्फ्यू के ढील के दौरान बाजार में उमड़ी लोगों की भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं किया पालन, देखे राजेश पंवार की विडियो नयूज VIDEO NEWS: होटलों व मिठाई की दुकानों पर पड़ी पुरानी मिठाईयां अधिकारियों जब्‍त, नगर की कचरा गाड़ी में डाल कर फेंकी नगर के बहार, देखे बद्रीलाल गुर्जर की विडियो न्‍यूज LOCK DOWN: लॉक डाउन, पुलिस ने बढ़ाए अपने हाथ, जरूरतमंदो को वितरित किया आटा और खाद्य सामग्री, पढें दिलीप सौराष्‍ट्रीय की खबर LOCK DOWN: MP कांग्रेस कार्यालय रसोई में तब्दील, गरीबों में बांटा जा रहा है भोजन, पढें खबर VIDEO: कोरोना से लडने के लिये खरगोन में सर्व समाज ने उठाया बिडा, गरीबो को खिलाया खाना VIDEO: रेतम नदी के किनारे बसे प्रसिद्ध महामाया मां आंतरी में नवरात्रि में दिखा कोरोना का असर BIG REPORT: लॉक डाउन, व्‍यापारी संघ ने बनवाया भोजन, ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी भी घुमते है पैकेट साथ लेकर, समझाईश के साथ करतें है वितरण, पढें बद्रीलाल गुर्जर की खबर

HONEY TRAP: किसने लीक किए थे नेताओं और अफसरों के अश्लील वीडियो, रडार पर पुरानी SIT, पढें खबर

Image not avalible

HONEY TRAP: किसने लीक किए थे नेताओं और अफसरों के अश्लील वीडियो, रडार पर पुरानी SIT, पढें खबर

डेस्‍क :-

भोपाल. मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) के बहुचर्चित हनी ट्रैप (honey trap) केस में अब पुरानी SIT के अफसर रडार पर आ गए हैं. शक है कि नेताओं और अफसरों के अश्लील वीडियो (Video leak) उन्हीं अफसरों ने लीक किए हैं

पुरानी दोनों SIT के सदस्यों के नाम जांच में घेरे में हैं. नई SIT अब उन सदस्यों की जानकारी जुटा रही है साथ ही इंटेलिजेंस उन पर नजर रखे हुए है. शक है कि कुछ सदस्यों के पास अभी भी वीडियो हैं, जो उन्होंने किसी को दे दिए हैं या फिर वो आगे किसी को दे सकते हैं. कुछ अफसर और राजनेताओं के सोशल मीडिया में हनीट्रैप से जुड़े वीडियो वायरल होने के बाद नई SIT, पुरानी SIT में शामिल अफसरों की गोपनीय तरीके से जांच कर रही है

नई SIT के चीफ हैं डीजी राजेंद्र कुमार- 

इस बहुचर्चित मामले की जांच के लिए गठित SIT में सबसे पहले श्रीनिवास वर्मा और फिर संजीव शमी को SIT का प्रमुख बनाया गया था. अब स्पेशल डीजी राजेंद्र कुमार नई SIT के मुखिया हैं. राजेन्द्र कुमार की नई टीम में मिलिंद कानस्कर, रुचि वर्धन सदस्य हैं. सबसे पहले श्रीनिवासन वर्मा को एसआईटी चीफ बनाया गया था

लेकिन 24 घंटे में ही वर्मा को हटाकर संजीव शमी को बनाया गया था. इस पर सरकार की काफी किरकिरी हुई थी. जब नई एसआईटी बनाई गई, तब सायबर सेल के स्पेशल डीजीपी पुरुषोत्तम शर्मा को लोक अभियोजन संचालनालय भेजा गया है. शर्मा वहां संचालक बनाए गए हैं

इंदौर पुलिस ने किया था खुलासा- 

17 सितंबर को इंदौर पुलिस ने इस केस का खुलासा किया था. पुलिस ने एटीएस और इंटेलिजेंस के साथ मिलकर इंदौर से दो महिला, एक पुरुष और भोपाल से तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया था

गैंग की महिला आरोपी कई बड़े राजनेताओं और नौकरशाहों को हनी ट्रैप कर ब्लैकमेल कर रही थीं. इंदौर नगर निगम का एक अफसर भी इसका शिकार था. उसकी शिकायत पर ही पुलिस ने आरोपी महिलाओं को पकड़ा था. 23 सितंबर को पहली बार एसआईटी बनाई गई. आईजी सीआईडी डी. श्रीनिवास वर्मा को एसआईटी की कमान सौंपी गई

24 सितंबर को एसआईटी चीफ वर्मा ने जांच करने से इंकार कर दिया. उसके बाद शाम तक नई एसआईटी का गठन कर संजीव शमी को कमान सौंपी गई. लेकिन फिर 2 अक्टूबर को एसआईटी चीफ संजीव शमी को भी हटा दिया गया. उसके बाद पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल हुआ और फिर नए सिरे से एसआईटी बना दी गई

12 सदस्यीय थी पहली SIT- 

आईजी सीआईडी डी. श्रीनिवास वर्मा की अध्यक्षता वाली टीम में आईपीएस अफसर विकास सहवाल, कमांडेंट 25 वीं बटालियन मनोज कुमार सिंह, एसपी सायबर इंदौर जितेंद्र सिंह, थाना प्रभारी पलासिया शशिकांत चौरसिया सहित कुल 12 लोगों की टीम थी. डी. श्रीनिवास वर्मा 1996 बैच और विकास साहवाल 2014 बैच के आईपीएस अफसर हैं, जबकि कमाडेंट मनोज सिंह और एसपी सायबर सेल इंदौर जितेंद्र सिंह राज्य पुलिस सेवा के अफसर है

8 सदस्यों वाली थी दूसरी एसआईटी- 

दूसरी एसआईटी जो एडीजी संजीव शमी के नेतृत्व बनाई गई उसका आकार घट गया और उसमें सिर्फ 8 अफसर रह गए. आठ सदस्यीय एसआईटी में संजीव शमी (एडीजी), रुचि वर्धन मिश्रा (एसएसपी, इंदौर), विकास शहवाल (एसपी), जितेंद्र सिंह (एसपी), अमरेंद्र सिंह (अतिरिक्त एसपी), नीता चौबे (सीएसपी), मनोज शर्मा (सीएसपी), शशिकांत चौरसिया (एसएचओ, पलासिया थाना, इंदौर) शामिल थे


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NEWS NETWORK 2017. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.