खबरे REPORT : वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने संभाली चुनावी प्रचार की कमान तो भाजपामय हुआ माहौल, विधानसभा क्षेत्र के कई गांवों में पहुंचे तो मिला मतदाताओं का अपार समर्थन, पढ़े पीडी बैरागी की खबर  BIG NEWS : रामपुरा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर की बड़ी कार्रवाई, दो अलग-अलग जगहों पर दबिश, बड़ी मात्रा में अवैध शराब जब्त, राकेश और भंवरलाल को मौके से किया गिरफ्तार, पढ़े खबर  BIG NEWS : पंचायत चुनाव का दूसरा चरण जिले के जावद तहसील में हुआ संपन्न, नीमच सहित राजस्थान का मोस्ट वांटेड तस्कर पंहुचा वोट देने, लंबे समय से तलाश में जुटी पुलिस हुई सतर्क, आरोपी गिरफ्त में, पढ़े खबर  KHABAR : डॉक्टर्स डे पर पैथोलॉजिस्ट एवं मेडिकल संचालकों ने चिकित्सकों का किया सम्मान, पढ़े खबर  KHABAR : मुरैना में मतदान खत्म हाेने के बाद हुई फायरिंग, पुलिस पहुंची मौके पर, बंदूक के साथ एक आराेपित काे किया गिरफ्तार, पढ़े खबर   BIG NEWS : कटनी मे भगवान जगन्नाथ माता सुभद्रा ओर भ्राता बलदाऊ की निकली भव्य शोभायात्रा, भक्तों का उमड़ा सैलाब, पढ़े प्रवीण कुमार पाराशर की रिपोर्ट  BIG NEWS : नीमच पंचायत चुनाव, भाजपा को लगा बड़ा झटका, वार्ड 8 में बदले समीकरण, धापूबाई श्यामलाल वसीटा ने बदली पार्टी, जाने क्या रहा कारण, पढ़े शब्बीर बोहरा की खबर   KHABAR : नहीं रहे कलावती कानुडा (भिलाई वाले), परिवार में शोक की लहर, उठावना आज, पढ़े खबर 

NEWS : पूर्णाहुति के साथ ही 11 दिवसीय श्री नागोरिया भैरव महायज्ञ महोत्सव सम्पन्न, 27 कुण्डीय हवन कुण्ड में यजमानो ने दी 27 लाख 25 हजार आहूतियां, श्रृद्वालुओं ने बोलियां लगाते हुए किया ध्वजारोहण, पढ़े रेखा खाबिया की खबर 

Image not avalible

NEWS : पूर्णाहुति के साथ ही 11 दिवसीय श्री नागोरिया भैरव महायज्ञ महोत्सव सम्पन्न, 27 कुण्डीय हवन कुण्ड में यजमानो ने दी 27 लाख 25 हजार आहूतियां, श्रृद्वालुओं ने बोलियां लगाते हुए किया ध्वजारोहण, पढ़े रेखा खाबिया की खबर 

चित्तौड़गढ़ :-

सावा/चित्तौड़गढ़। मेवाड़ के प्रसिद्ध श्री नागोरिया भैरव तीर्थ जोगणी पर वेशाख सुदी पंचमी शुक्रवार से 11 दिवसीय श्री नागोरिया भैरव 27 कुण्डीय महायज्ञ महोत्सव भैरवनाथ, माताजी एवं कृष्ण कुन्ज कन्नौज के ठाकुर जी की कृपा से विषाल शोभायात्रा के साथ आरम्भ हुआ तत्पष्चात नित नये किर्तिमान स्थापित करते हुऐ 11 दिवसीय नागोरिया भेरव 27 कुण्डीय महायज्ञ में देष के कोने कोने से आये यजमानो द्वारा 27 लाख 25 हजार आहुतियां दी गई एवं 11 वे दिन पूर्णाहुति के साथ ही श्रृद्वालुओं द्वारा भैरव मन्दिर में ध्वजारोहण , कुल सतिमाता को चुंदड ओढाने सहित कई तरह की बोलियां श्रृद्वालुओं द्वारा लगाई गई महायज्ञ के प्रथम दिन से ही श्रद्वालुओं में अपार उत्साह व आस्था देखने को मिली जो अन्तिम दिन तक बरकरार रही, विश्व शान्ति, सर्वरोग मुक्ति, आदि व्याधि विपत्ति, बाधा दूर करने व लक्ष्मी प्राप्ति हेतु सर्व समाज व श्रेष्ठीय नागोरिया भैरव भक्तो द्वारा क्षेत्र में पहली बार श्री नागोरिया भैरव मन्दिर जोगणी चिकसी सावा रोड पर यह  विषाल एवं दिव्य अनुष्ठान भैरव देव व कुल माताजी के निर्देशानुसार किया गया जहां विधि विधान से मुख्य आचार्य द्वारा नवग्रह की पुजा अर्चना कर भैरव देव कुल माता सहित ठाकुर जी एवं आमन्त्रित सभी देवों से देष एवं प्रदेष में सुख शान्ति की प्रार्थना कर आर्षिवाद मांगा।


11 दिवसीय नागोरिया भैरव 27 कुण्डीय महायज्ञ महोत्सव की विगत एक माह से अधिक समय से तैयारियां चल रही थी जिसमें यज्ञ एवं भोजन के लाभार्थी बनकर या विभिन्न प्रकार से यज्ञ सामग्री व आर्थिक सहयोग प्रदान करने वाले भामाषाहों सहित कार्यकर्ताओें जिन्होने परोक्ष अपरोक्ष रूप से उक्त 11 दिवसीय महायज्ञ महोत्सव की विभिन्न प्रकार से प्ररोक्ष अपरोक्ष रूप से उत्कृष्ठ सहयोग करने वाले करीब 51 लोगो को मेवाडी पगडी, उपरणा,माला एवं स्मृत चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया साथ ही संचालक मण्डल के सदस्यों द्वारा सभी के द्वारा दिये गये सकारात्मक सहयोग के लिये आभार प्रकट किया।  

भैरवनामावली सहित कुल दी 27 लाख 25 हजार आहुतियां-
महोत्सव प्रवक्ता ने जानकारी देते हुऐ बताया कि श्री नागौरिया भैरव जोगणी में क्षेत्र में पहली बार 27 कुण्डीय विषाल हवन कुण्ड में 108 भेरवनाम की भैरवनामावली सहित विभिन्न आमन्त्रित देवो को कुल 27 लाख 25 हजार आहुतियां दी गई जबकि महायज्ञ के आरम्भ में 24 लाख आहुतियां लगाने का लक्ष्य था लेकिन यजमानों व श्रृद्वालुओ के उत्साह के चलते लक्ष्य तो कभी का ही पुरा हो गया वही लक्ष्य के मुकाबले कई अधिक विभिन्न औषधिय युक्त साम्रगी सहित साकल्य एवं गाय के देषी घी की आहूतियां यज्ञ कुण्ड में दी गई जिससे एक तरफ क्षेत्र में धर्म का वातावरण निर्मित हुआ वही दुसरी और इतनी बडी मात्रा में औषधी युक्त साकल्य एवं विभिन्न प्रदार्थाे सहित घी की आहुतियों से उत्पन्न धूंऐ से क्षेत्र रोग रहित होकर धन धान्य से परिपूर्ण होकर आर्थिक रूप से सक्षम होगा।

आपको बतादे वैसे तो श्री नागौरिया भैरव मन्दिर परिसर स्थल पर पूरे वर्षभर छोटे मोटे आयोजन सहित प्रति वर्ष वेषाखी पूर्णिमा पर वृहत स्तर पर भैरव देव व माताजी के नाम का रातीलगाते हुऐ स्वामी भक्ति एवं स्वामीवात्सल्य का आयोजन  विषाल स्थल पर किया जाता है जिसमें राजस्थान, मध्य प्रदेष, गुजरात, महाराष्ट्र व देष प्रदेष के कोने कोने सहित आस पास के क्षेत्रो से हजारो की तादाद में भैरवदेव व कुलदेवी माता को मानने वाले विभिन्न गोत्र के अनुयायी श्रद्वालुजन आस्था के साथ परिवार सहित हाजरी लगाने के लिये उपस्थित होतेे है, लेकिन पहली बार यहां 11 दिवसीय आयोजन किया गया है।

पूर्णाहुति पर जयकारो व सामुहिक स्वाहा के स्वर से गुंज उठा ब्रम्हाण्ड-
27 कुण्डीय महायज्ञ परिसर में मुख्य यज्ञाचार्य नर्बदेष्वर ज्योतिष कार्यालय मधुवन चित्तौडगढ के यज्ञाचार्य पण्डित राकेष शास्त्री द्वारा सहित अन्य सहयोगी यज्ञाचार्याे द्वारा जब पूर्णाहुति से पूर्व मां लक्ष्मी जी की पुजन कर उनकी आहूतियां लगवाई गई तत्पष्चात 10 दिग्पालो का पुजन कर उनके नाम से आहूतियां दी गई व अन्त में पूणाहुति के लिये यज्ञ मण्डप में बिराजीत समस्त देवी देवताओं को मन्त्रोंच्चारण उपरांन्त स्वाहाः बोलने के लिये कहा जाता तो ऐसे में यज्ञ परिसर में आहुतियां लगा रहे यजमानों द्वारा ऐसे जोष और उत्साह के साथ स्वाहाः का उच्चारण किया कि पुरा ब्रम्हाण्ड स्वाहाः की ध्वनी से गुजायमान हो उठा वही पूर्णाहुति उपरांत आरती के बाद सभी देवों के नाम के जयकारो के स्वर से पुरा ब्रम्हाण्ड गुंज उठा।  बाद में उत्तर पुजन कर सभी देवी देवताओं को ससम्मान विदाई दी गई।


सभी देवो की सजाई गई विषेष आंगी ने श्रृद्वालुओं को किया आकर्षित-
नागौरियां भैरव, माताजी एवं ठाकुर जी का प्रातः शुद्व जल, दूध, दही, शहद, घी, पानी व नानाविध पदार्थाे से अभिषेक किया गया तत्पष्चात गुलाब मोगरे व अन्य कई प्रकार के फूलो कें श्रृंगार में भैरव देव ने दर्शन देकर भक्तों को न केवल मोहित किया वरण उन्हें अपलक निहारने को भी विवश कर दिया। दूरदराज से आये कई भक्तों ने अपने आराध्य भैरवदेव की ऐसी अनुपम छवी ने श्रृद्वालुओं को किया आकर्षित।

12.39 पर चढाई ध्वजा व कुलदेवी को अपर्ण की चुंदड-
दोपहर ठिक 12.39 पर मन्त्रोच्चार के साथ भैरव मन्दिर पर लगी पुरा ध्वजा को उतारा गया और रनकपुर निवासी जितेन्द्र कुमार नागोरी के परिवार वालो की तरफ से मन्दिर की ध्वजा चढाई गई वहीं कुलदेवी माता के मन्दिर पर कुलदेवी माताजी को सिंगोली निवासी सुषील कुमार वैभव कुमार मेहता परिवार द्वारा मन्त्रोचारण एवं विधि विधान से चुंदड अपर्ण की इस दौरान भैरव व कुलदेवी माता के जयकारे गुजायमान होते रहें।
 
सवां ग्यारह किलो मेवा सवां सात किलो पंच मेवा सहित मोसमी फलो का धराया भोग-
11 दिवसीय श्री नागोरिया भैरव महायज्ञ महोत्सव के अन्तिम दिवस पूर्णाहुति उपरांत भव्य आरती की गई जिसमें सेंकडो की तादाद में भक्त जन उपस्थित थे वही भैरव जी, माताजी व कृष्णकुन्ज कन्नोज के ठाकुरजी को सवां गयारह किलो मेंवा , सवां सात किलो पंच मेवा 11 किलो कास्या एवं कई प्रकार के 31 किलो मौसमी फलों को न्यौछावर किए गए थे। जिनका सभी श्रृद्वालुओं में प्रषाद वितरण किया गया।

मुख्य यज्ञाचार्य को ससम्मान भेंट देकर दी विदाई-
श्री नागोरिया भैरव विकास समिति जोगणी सावा द्वारा 11 दिवसीय श्री नागोरिया भैरव 27 कुण्डीय महायज्ञ की पूर्णाहुति एवं सम्पूर्ण कार्यक्रम सफलता पुर्वक विधि विधान से समय पर सम्पन्न कराने के लिये मुख्य यज्ञाचार्य नर्बदेष्वर ज्योतिष कार्यालय मधुवन चित्तौडगढ के यज्ञाचार्य पण्डित राकेष शास्त्री सहित 21 सदस्यीय पुरी टीम को भैरव मन्दिर में साफा, उपरणा एवं नारियल के साथ भेंट देकर सम्मानित किया जाकर उनके आर्षिवाद प्राप्त कर विदाई दी।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright BABJI NETWORK PVT LTD 2020. Design and Developed By PIONEER TECHNOPLAYERS Pvt Ltd.