EXCLUSIVE : आप फिल्म देखने जा रहे है तो हो जाए सावधान, नीमच के मल्टीप्लेक्स में आम आदमी की जेब पर पड़ रहे डाके पर बड़ा खुलासा, पढ़िए अशरफ अली की स्पेशल रिपोर्ट

Image not avalible

EXCLUSIVE : आप फिल्म देखने जा रहे है तो हो जाए सावधान, नीमच के मल्टीप्लेक्स में आम आदमी की जेब पर पड़ रहे डाके पर बड़ा खुलासा, पढ़िए अशरफ अली की स्पेशल रिपोर्ट

नीमच :-

देश भर सहित नीमच में भी बने सिनेमाघरों में बाहर से कोई भी खाने की चीज अंदर नहीं ला सकते ऐसा सवाल हम इसलिए पूछ रहे है क्योंकि यह नियम कोई कानून की किताब में नहीं लिखा है बल्कि सिनेमाघरों के मालिक अपनी मनमानी के चलते ऐसा करते है लोग फिल्म का मजा उठाने के लिए अक्सर मूवी देखते हुए पॉपकॉर्न पिज्जा बर्गर आइसक्रीम खाना पसंद करते है यह चीजे खाने के लिए उन्हें बाहर से खरीदकर अंदर नहीं ले जाने दिया जाता है 

बल्कि उन्हें टॉकीज के अंदर से ही यह खाने पिने की चीजे खरीदनी होती है जो बाहर की तुलना में कई गुना महंगी होती है यह सिर्फ महंगी ही नहीं होती बल्कि कई दिनों पुरानी भी होती है जो लोगो को बिना किसी रोकटोक के विक्रय कर दी जाती है 

हमने अपनी पड़ताल में नीमच के एक सिनेमा से एक पेटिस का भाव पूछा तो उसने एक पेटिस 30 रुपये का बताया जबकि बाहर एक बेकरी से इसी पेटिस का भाव पता किया तो यह बाहर मात्र 10 रुपये का ही मिलता है 

पड़ताल अभी यही नहीं ख़त्म हुई हमने शहर के एक और नामचीन सिनेमाघर से पॉपकॉर्न का मूल्य पूछा तो उन्होंने पॉपकॉर्न का मूल्य 180 रूपये बताया जबकि यही पॉपकॉर्न बहार 20 से 30 में मिलता है सेंडविच का मूल्य 120 रुपए टॉकीज में है जबकि यही सेंडविच बाहर मार्केट में 51 रुपये का है इसके अलावा हमने सिनेमाघरों से कई चीजों के मूल्य पता किये जो बाहर की तुलना में काफी ज्यादा निकले

मूवी देखने आए लोग अपने उत्साह और मस्ती में इन चीजों के महंगे दाम तो चूका देते है लेकिन जब उन्हें पता चलता है की उन्होंने खाने की इन चीजों के कई ज्यादा मेहेंगे दाम चुकाए है तो उनके होश उड़ जाते है

कुछ दिन पहले मुंबई सिनेमाघरों से महाराष्ट्र हाईकोर्ट यही सवाल पूछ चूका है जिसका कोई असर इन सिनेमाघरों पर दिखाई नहीं देता है सिनेमाघरों में अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए लोगो से खाने की इन चीजों के कई ज्यादा दाम लिए जाते है जिसका सीधा असर आम आदमी के जेब पर पड़ता है प्रशासन इन टॉकीजों की और कोई ध्यान नहीं देता है अंदर खाने की कितनी पुरानी और बेकार हुई चीजों को कितने मेहेंगे दाम में जनता को विक्रय किया जा रहा है इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता

इस मामले में खाद्य विभाग अधिकारी राजू सोलंकी का कहना है- की मूल्य नियंत्रण का कार्य खाद्य विभाग के पास नहीं होता है टॉकीजों की तरफ से ही करते है लेकिन टॉकीजों में बिकने वाली खाने की इन चीजों की वह जांच करेंगे अगर कोई मिलावट करता है तो उस ओर खाद्य विभाग कार्यवाई करता है


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.