BIG NEWS: नीमच के किसान ने मांगी मुख्यमंत्री से इच्छा मृत्यु की इजाजत, कलेक्‍टर से लगाई गुहार, पढें खबर

Image not avalible

BIG NEWS: नीमच के किसान ने मांगी मुख्यमंत्री से इच्छा मृत्यु की इजाजत, कलेक्‍टर से लगाई गुहार, पढें खबर

नीमच :-

नीमच  सुप्रीम कोर्ट ने कुछ दिनों पहले ही इच्छा मृत्यु पर फैसला सुनाया सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद नीमच में एक किसान ने जनसुनवाई व सीएम हेल्प लाईन में  अपनी शिकायत का समाधान नहीं होने पर इच्छा मुत्य मांगी मंगलवार कलेक्टर कार्यालय में पहुँचकर पिडित किसान ने कलेक्टर विक्रम सिंह को एक आवेदन भी दिया

जिसमें किसान रमेश पिता बंसीलाल निवासी कुचडौद ने बताया की मैने १० माह पहले कलेक्टर जनसुवाई सीएम हेल्प लाईन मैं ग्राम पंचायत के खिलाफ  शिकायत दर्ज करवाई थी शिकायत एल ४ पर दो दो बार पहुँच गई मौके पर कोई अधिकारी नहीं पहुँचा और गलत प्रतिवेदन तैयार करके पंचायत ने शिकायत निराधार बता कर क्लास कर दी जिसके पुनः कलेक्टर को आवेदन दिया मगर पुनः शिकायत पंचायत सचिव ने निराधार बतकर गलत प्रतिवेदन के साथ क्लास कर वा दी गई 

ये है शिकायत
किसान के दारा सीएम हेल्पलाईन पर शिकायत दर्ज कराई गई की मेरे खेत के समीप ही एक खेत पर अवैध रूप से कालोनी काट दी गई है इस पंचायत के सरपंच पति ने कॉलोनी मालिक मिलि भगत कर अवैध कालोनी में सीसी सड़क व नाली का निर्माण कर दिया गया नाली निर्माण के समय पानी की निकासी मेरे खेत में दे दी गई । जिसे बारिश में नाली का गंदा पानी मेरे खेत में पहुँच रहा है जिससे मेरी फसल को काफी नुकसान पहुँच रहा है पिछली बारिश में मेरी फसल खराब हो गई थी किसान रमेश ने कलेक्टर को आवेदन देने के साथ मुख्यमंत्री व प्रभारी मंत्री अर्चना चिटनिस को भी शिकायत दर्ज कराई है

उसके बाद अब 
निवासी ग्रामीण ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर इच्छा मृत्यु की इजाजत मांगी है। किसान कहना है सीएम हेल्प लाईन दर्ज शिकायतों का निराकरण नहीं किया जा रहा जिले को प्रथम स्थान पर लाने के लिए अधिकारी पोर्टल पर गलत प्रतिवेदन तैयार करके शिकायत को बंद कर वा रहे गलत प्रतिवेदन तैयार करने वाले कर्मचारियों पर भी करवाई होनी चाहिए 

अवैध कॉलोनी कृषि भूमि पर बताया शास्त्रीय भूमि पर
अधिकारी सीएमहेल्प आदेशो की धज्जिया उड़ा कर रखी है ग्राम पंचायत के सचिव के द्वारा जांच प्रतिवेदन में कृषि भूमि की भूमि को शास्त्रीय भूमि बताकर शिकायत को बंद कर वा दिया गया पर सड़क नाली का निर्माण किया है और शासकीय रिकार्ड में खसरे अब भी इस भूमि पर फसल बोओनी बता रखा है डायवसन के लिए आवेदन एसडीए को दे रखा है


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.