NEWS: सत्‍तू गोयल बोले लहसुन उत्पादक किसानों के फायदे के लिये भावांतर योजना, लहसुन 1600 रु. से कम बिका तो भी मिलेगा भावांतर का लाभ, पढें खबर

Image not avalible

NEWS: सत्‍तू गोयल बोले लहसुन उत्पादक किसानों के फायदे के लिये भावांतर योजना, लहसुन 1600 रु. से कम बिका तो भी मिलेगा भावांतर का लाभ, पढें खबर

नीमच :-

मध्‍यप्रदेश की शिवराज सरकार हमेश किसानों की सरकार रही है हमारे प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के फायदे के लिये कई योजना निकाली है जिसमें एक भावांतर भी है यह बात यहा जारी प्रेस नोट में किसान नेता जिला मंत्री सत्‍यनारायण गोयल ने कही 

उन्‍होने बताया कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने लहसुन उत्पादक किसानों के फायदे के लिये भावांतर भुगतान योजना में संशोधन किया है। अब यदि किसान का लहसुन 1600 रुपये प्रति क्विंटल से कम मूल्य पर भी बिकता है, तो भी उसे भावांतर योजना का लाभ मिलेगा। उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा इस संबंध मे भोपाल, उज्जैन, इंदौर, ग्वालियर, सागर, जबलपुर और रीवा के संभागायुक्तों तथा भोपाल, सीहोर रायसेन, राजगढ़, इंदौर, धार, झाबुआ, उज्जैन, देवास मंदसौर, नीमच, रतलाम, शाजापुर, आगर-मालवा, गुना, शिवपुरी, सागर, छतरपुर, जबलपुर, छिंदवाड़ा, रीवा और सतना जिलों के कलेक्टरों को वर्ष 2018-19 के लिये लहसुन संबंधी भावांतर योजना निर्देश जारी कर दिये गये हैं। 

साथ ही श्री गायेल ने यह भी कहा कि राज्य शासन ने 9 अप्रैल 2018 को वर्ष 2018-19 के लिये लहसुन फसल के लिये भावांतर की देय राशि अधिकतम 800 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित की थी। यदि 1600 रुपये प्रति क्विंटल से कम मूल्य पर लहसुन बिकता, तो उसकी गुणवत्ता को निम्न मानते हुए भावांतर योजना का लाभ नहीं देने का प्रावधान था। मुख्यमंत्री श्री चौहान के निर्देशानुसार किसानों के हित में यह प्रावधान समाप्त कर दिया गया है।

और तो और अब साथ ही चना, सरसों और मसूर की खरीदी पर मुख्यमंत्री किसान समृद्धि योजना के तहत 100 रुपए प्रति क्विंटल अतिरिक्त राशि दी जाएगी। इसी प्रकार इस वर्ष खरीदे गए गेहूं पर 265 रुपए प्रति क्विंटल अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि पर का वितरण 10 जून से किया जाएगा। 


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.