CRIME : चौराहे पर सोने की चैन लूटने वाले दो आरोपीयों को 10-10 वर्ष का सश्रम कारावास व जुर्माना, पढें खबर

Image not avalible

CRIME : चौराहे पर सोने की चैन लूटने वाले दो आरोपीयों को 10-10 वर्ष का सश्रम कारावास व जुर्माना, पढें खबर

नीमच :-

नीमच। श्री प्रदीप कुमार व्यास, जिला एवं सत्र न्यायाधीश, नीमच द्वारा दो आरोपीयों को एक बुजुर्ग महिला से सोने की चैन लूटने के आरोप में 10-10 वर्ष के सश्रम कारावास और 5,000-5000रू. जुर्माने दण्डित किया गया।

जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री आर. आर. चौधरी द्वारा द्वारा घटना की जानकारी देते हुुए बताया कि दिनांक 14/08/2016 को प्रातः लगभग 05ः45 बजे फरियादीया गायत्री गट्टानी, उम्र 74 साल पुस्तक बाजार चैराहा, नीमच पर कबुतरों को दानें डालकर वापस घर जा रही थीं, तभी वहां पर दोनो आरोपी आये और एक आरोपी कन्हैयालाल  फरियादीया के पैर पकड़कर बोलने लगा कि मेरी दादी बीमार है, मुझे दवाई देनी है, दुकान कब तक खुलेगी तो फरियादीया ने कहाॅ उसे नही पता। इस दौरान दुसरा आरोपी धर्मेश ईशारा करकें दाना गली की तरफ चला गया। इसी दौरान आरोपी कन्हैयालाल ने फरियादिया के गले की तरफ ईशारा कर कहा कि कीड़ा चल रहा हैं और झपट्टा मारकर सोने की चैन ख्ंिाचने लगा तो फरियादिया ने चैन पकड़ ली जिससे आधी सोने की चैन टूटकर फरियादिया के हाथ में रह गयी और आरोपी कन्हैयालाल फरियादिया को धक्का मारकर गिराकर आधी सोने की चैन अपने साथी आरोपी धर्मेश के साथ लेकर वहा से भाग गया। आरोपी द्वारा धक्का मारने से फरियादीया गायत्री गट्टानी नीचे गिर गई और उसकी कमर की हड्डी टूट गयी। फरियादिया ने इस घटना की रिपोर्ट पुलिस थाना नीमच केंट पर करी जिसे अपराध क्रमांक 451/2016, धारा 397/34 भादवि के अंतर्गत पंजीबद्ध किया गया। पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर सोने की चैन का बचा हिस्सा आरोपीगण से जप्त कर शेष विवेचना पूर्ण कर चालान न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए इस प्रकरण को शासन द्वारा जघन्य एवं सनसनीखेज मानकर चिन्हित किया गया था।

अभियोजन की ओर से वृद्ध फरियादिया गायत्री गट्टानी सहित सभी आवश्यक साक्षीगण के बयान न्यायालय के समक्ष करवाये गये जिस आधार पर आरोपीगण के विरूद्ध अपराध को प्रमाणित करने में सफलता मिली और न्यायालय द्वारा आरोपीगण को दोषी ठहराया गया। दण्ड के प्रश्न में अभियोजन की और से न्यायालय में तर्क किया गया कि आरोपीगण द्वारा जिस तरह से दिन दहाड़े लोक मार्ग पर एक 74 वर्षीय वृद्ध महिला के गले से सोने की चैन लूट ली हैं और उसे धक्का देकर नीचे गिरा दिया जिससे उसकी कमर की हड्डी भी टूट गयी, ऐसे आरोपियों को कठोर दण्ड से दण्डित किया जाना चाहिए।

अभियोजन के तर्को से सहमत होते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश, नीमच, प्रदीप कुमार व्यास द्वारा आरोपी (1) धर्मेश उर्फ लाला उर्फ बाबा यादव पिता देवकरण यादव, उम्र-25 वर्ष, निवासी-यादव मंडी, नीमच तथा (2) कन्हैयालाल उर्फ कान्हा उर्फ कांजी यादव पिता लक्ष्मणसिंह यादव, उम्र-22 वर्ष, निवासी-इन्द्रा नगर, नीमच को धारा 397/34 भादवि के अंतर्गत 10-10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 5000-5000रू. जुर्माने से दण्डित किया गया। जुर्माने की राशि कुल 10000रू को प्रतिकर के रूप में फरियादीया को प्रदान करवाया गया। न्यायालय में शासन की ओर से श्री आर. आर. चौधरी, जिला लोक अभियोजन अधिकारी द्वारा पेैरवी की गई।


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.