TOTKE: सूर्यस्त के बाद भूलकर भी नहीं करें बालों में कंघी

Image not avalible

TOTKE: सूर्यस्त के बाद भूलकर भी नहीं करें बालों में कंघी

डेस्‍क :-

 डेस्क। हिंदू धर्म में ज्योतिष शास्त्र को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। अक्सर हमने बड़े बुर्जुगों को लड़कियों को कहते सुना है कि सूरज ढलने के बाद भूलकर भी बालों पर कंधी नहीं करनी चाहिये। परन्तु उनके कहने के पीछे क्या तर्क है, मगर क्या आप भी कुछ ऐसा ही करते हैं तो आज ही अपनी आदत बदल दीजिए। आइये दोस्तों आज हम आपको बताते है इसके पीछे छिपे कई कारणों के बारे में विस्तार से

भटकती बुरी आत्माओं का आगमन

कहा जाता है कि सूर्यास्त के बाद बालों में कंघी करने के लिए इस कारण मना किया जाता है, क्योंकि माना जाता है सूर्यास्त के बाद सभी बुरी आत्माएं बाहार आ जाती है और जिन लड़कियों के काले और लंबे बाल होतें है उन्हें बुरी आत्माएं समा जाती है।

परिवार के लिए नुकसानदायक

कहा जाता है कि रात्रि को सदैव अपने बालों को बांधकर रखने चाहिए। रात्रि के समय बालों की चोटी बनाकर रखें। परन्तु उन्हें खुला न छोड़े। माना जाता है कि खुले बाल परिवार वालों के लिए अच्छे नहीं होते है।

टूटे हुए बालों को डिब्बे में रखें

पूर्णिमा व्रत के दिन भी बालों पर कंघी भूलकर भी नहीं करनी चाहिये। यदि कोई लडक़ी पूर्णिमा यानी पूरे चांद कि रात वाले दिन खिडक़ी पर खड़े होकर बालों पर कंघी करती हैं तो वो खुद ही बुरी आत्माओं को बुलावा देती है। इसके अतिरिक्त टूटे हुए बालों को भी ध्यान से फेंकना चाहिए। यदि आपके बाल किसी गलत व्यक्ति के हाथ लग गए तो वह इसका गलत उपयोग अर्थात किसी जादू टोने के लिए भी कर सकता है।

कंघी गिरना अशुभ

यदि आपके हाथों कंघी करने समय कंघी छिटककर गिर जाए तो यह माना जाता है कि आपको जल्दी ही कोई बुरी खबर मिलने वाली हैं। इसके अतिरिक्त हमेशा इस बात का भी ध्यान रखें कि बाल झाडऩे के बाद उन्हें घर में इधर उधर नहीं फेंके। रात्रि में कंघी करने से परिवार वालों के बीच झगड़े बढ़ते हैं


SHARE ON:-

image not found image not found

© Copyright VOICEOFMP 2017. Design and Developed By Pioneer Technoplayers Pvt Ltd.