BREAKING NEWS
KHABAR : आगामी त्योहारों को देखते हुए मनासा के.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : धर्म नगरी मालवा की लाल माटी की पावन धरा.. <<     BIG REPORT : नीमच जिले के जावद में मतदान दलों का.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     REPORT : लोकसभा निर्वाचन 2024- स्वीप गतिविधियों के.. <<     KHABAR : लोकसभा निर्वाचन 2024 के तहत संबंधित शिकायत.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : लोकसभा चुनाव 2024 के तहत जिला निर्वाचन.. <<     REPORT : निर्वाचन संपन्न होने तक सभी.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : नीमच-मंदसौर संसदीय क्षेत्र के भाजपा.. <<     KHABAR : लोकसभा चुनाव से पहले पूर्व सीएम स्व... <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : नीमच में आईपीएल क्रिकेट का ऑनलाईन सट्टा.. <<     REPORT : निर्वाचन संपन्न होने तक सभी.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : लोकसभा निर्वाचन 2024- स्वीप गतिविधियों कि.. <<     KHABAR : सांसद की निष्क्रियता का परिणाम, नीमच शहर.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<    
वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन के लिए..
February 22, 2024, 7:05 pm
BIG REPORT : राजस्थान व मप्र के अफीम काश्तकारों की एक बार फिर बढ़ी मुश्किल, इस बार तेज हवाओं ने तोड़ी किसान की कमर, खेतों में पहुंचाया ये नुकसान, चेहरों पर छाई मायूसी, पढ़े खबर 

Share On:-

राजस्थान मध्यप्रदेश के अफीम किसानों की किस्मत के साथ कभी तो परमात्मा खेलता है तो कभी सरकार। क्योंकि सरकार ने भी सीपीएस पद्धति लागू कर अफीम किसानों की कमर पहले ही तोड़ दी है, फिर काली मस्सी ने फसल को बर्बाद कर दिया। अब बची कुची फसल में तीन दिन से चल रही तेज हवाओं का सितम भी देखने को मिल रहा है। तेज हवाओं के कारण खेत में खड़ी अफीम फसल पूरी तरह नीचे गिर चुकी है। ऐसे में अब अफीम किसान अपनी पीड़ा किसे और कहां जाकर सुनाए। क्योंकि किसान की  सुनता कोई नहीं है। यह बात राजस्थान के किसान भंवरलाल डांगी मध्य प्रदेश के किसान नरसिंह डांगी ने कही। 

अफीम किसानों की मानें तो राजस्थान मध्य प्रदेश में 3 दिन से चल रही तेज हवाओं के कारण खेत में खड़ी अफीम की फसल पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुकी है। राजस्थान के गांव चुपना तहसील अरनोद जिला प्रतापगढ़ में खड़ी अफीम फसल व मध्य प्रदेश के गांव टिडवास तहसील मल्हारगढ़ जिला मंदसौर की फसल की हालत आप देख सकते हो भारत सरकार केंद्रीय वित्त मंत्रालय द्वारा आने वाली। नवीन अफीम पॉलिसी में इन्हें राहत देना चाहिए। वह सभी अफीम किसानों को चिरा पद्धति में अफीम लाइसेंस जारी किया जाए क्योंकि अफीम फसल पूरी तरह क्षतिगस्त हो चुकी है।

VOICE OF MP
एडिटर की चुनी हुई ख़बरें आपके लिए
SUBSCRIBE