BREAKING NEWS
KHABAR : चातुर्मास में जीव दया बिना आत्म कल्याण.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : भारत स्काउट एंड गाइड जिला संघ नीमच द्वारा.. <<     MANDI BHAV: एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी मंदसौर के.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : शासकीय कन्या हाई स्कूल में धूमधाम से मना.. <<     BIG REPORT : मानसिक रूप से दिव्यांग बालक, जब अचानक.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : श्री शिशु मन्दिर मा. वि. कोटडा बुजुर्ग मे.. <<     BIG REPORT : नर्सिंग कॉलेज के लिए आवंटित भूमि पर अवैध.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : अवैध मादक पदार्थ की तस्करी और शिक्षक.. <<     BIG NEWS : उज्जैन में रविवार को खुलेंगे स्कूल,.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : सांवरिया सेठ के दर्शन कर घर लौट रहा था.. <<     KHABAR : म. प्र. सरपंच संघ गरोठ की और से मुख्यमंत्री.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     NMH MANDI : एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी नीमच के.. <<     MP का ऐसा मुक्तिधाम जहां हो गया ये बड़ा खेल,.. <<     MANDI BHAV : एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी मनासा के.. <<    
वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन के लिए..
June 22, 2024, 11:09 am
BIG REPORT : मनासा मंडी प्रशासन की लापरवाही, कृषि उपज मंडी के बाहर रखा हजारों क्विंटल अनाज बारिश में भीगा, अन्नदाताओं ने लगाया आरोप, पढ़े बद्रीलाल गुर्जर की खबर 

Share On:-

मनासा। मौसम के बदलाव के कारण अचानक शुक्रवार को दोपहर बाद हुई तेज बारिश के कारण मनासा कृषि उपज मंडी प्रांगण में खुले में रखा किसानों का हजारों क्विंटल अनाज भीग गया। अचानक से होने वाली बारिश में हमेशा से ऐसा होता आ रहा है, मगर मनासा मंडी प्रशासन की आंखें नहीं खुल रही और अनाज बारिश में भीग जाता है।
मनासा कृषि उपज मंडी से हमेशा इस तरह की कई तस्वीरें सामने आ चुकी है, जिसने मंडी प्रबंधन की पोल खोलकर रख दी है। दरअसल मंडी प्रांगण में शुक्रवार को हुई बारिश के बाद हजारों क्विंटल अनाज बारिश में गीला हो गया, जिससे लाखों के नुकसान की आशंका जताई जा रही है। मंडी प्रांगण के बाहर रखा हुआ अनाज किसानों का है मंडी प्रांगण में बनी टीम के शेड मैं व्यापारियों का कब्जा रहता है बोली लगाकर खरीदे हुए अनाज को व्यापारी वहां बने हुए शेड मैं ही रख देता है शेड खाली ना होने के कारण मजबूरी बस किसानों को खुले में अनाज का ढेर लगाना पड़ता है अनाज के उठाव कराने की व्यवस्था ना बनाना मंडी प्रशासन की लापरवाही को दर्शा रहा है।

VOICE OF MP
एडिटर की चुनी हुई ख़बरें आपके लिए
SUBSCRIBE