BREAKING NEWS
KHABAR : चातुर्मास में जीव दया बिना आत्म कल्याण.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : भारत स्काउट एंड गाइड जिला संघ नीमच द्वारा.. <<     MANDI BHAV: एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी मंदसौर के.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : शासकीय कन्या हाई स्कूल में धूमधाम से मना.. <<     BIG REPORT : मानसिक रूप से दिव्यांग बालक, जब अचानक.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : श्री शिशु मन्दिर मा. वि. कोटडा बुजुर्ग मे.. <<     BIG REPORT : नर्सिंग कॉलेज के लिए आवंटित भूमि पर अवैध.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : अवैध मादक पदार्थ की तस्करी और शिक्षक.. <<     BIG NEWS : उज्जैन में रविवार को खुलेंगे स्कूल,.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : सांवरिया सेठ के दर्शन कर घर लौट रहा था.. <<     KHABAR : म. प्र. सरपंच संघ गरोठ की और से मुख्यमंत्री.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     NMH MANDI : एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी नीमच के.. <<     MP का ऐसा मुक्तिधाम जहां हो गया ये बड़ा खेल,.. <<     MANDI BHAV : एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी मनासा के.. <<    
वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन के लिए..
June 14, 2024, 2:24 pm
KHABAR : कब होगी दशोरा नागर समाज की कुलदेवी मंदिर निर्माण, कई दशकों से जान जोखिम में डाल हजारों की संख्या में पहुँचते है श्रद्धालु, क्या शासन प्रशासन कोई सुध लेने वाला नही, पढे़ जय गुप्ता की खबर

Share On:-

सेगांव। मध्यप्रदेश के मनसौर में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी दशोरा नागर समाज द्वारा अपनी कुल की देवी की पूजा अर्चना करने के लिए बड़ी संख्या में पहुंचे है। और उनको अपनी कुल की देवी की पूजा अर्चना करने के लिए जान जोखिम में डालकर नदी के बीच नाव के माध्यम से जाना पड़ता है। समाज के पदाधिकारों ने मांग करी है। कि हमारी जो कुलदेवी की मूर्तियां बीच नदी में विराजीत है। उसे शिवना नदी तट पर उचित स्थान देकर स्थापित की जाए। जिससे प्रतिदिन पूजा अर्चना व दर्शन नही हो पाते है। क्योंकि शिवना नदी तट पर जलकुंभी अत्यधिक होने से माता तक नही पहुचा जा सकता है। वही प्रतिवर्ष होने वाले सामुहिक पूजन में हजारों समाजजन जान जोखिम में डालकर नाव के सहारे माता के पास पहुचते है। व श्रृंगार,पूजन,अर्चना कर दर्शन लाभ लेते है। चुकी हजारों की संख्या में समाजजन पहुचते है और माता के दर्शन को केवल दो नाव होने से सभी समाजजनों जो दूर दूर से मन मे इच्छा लिए दर्शन को पहुचते है। वो अधूरी रह जाती है। हालांकि शासन प्रशासन की ओर से सुरक्षा व्यवस्था संभाली जाती है पर सभी को दर्शन नही होने से हजारों श्रद्धालुओं को निराश होकर वापस लौटना पड़ता है।


कुलदेवी मंदिर ट्रस्ट ने शासन प्रशासन व सरकार के जनप्रतिनिधियों से मांग की है कि जो कुलदेवी माताएं शिवना नदी के बीच स्थापित है उन्हें नदी के साइड में कही जगह स्थापित करना चाहिए। क्योंकि कई राज्यो से हजारों की संख्या में यहां कुलदेवी की पूजा अर्चना करने के लिए आते हैं। यहां किसी तरह की कोई घटना घटित हो सकती है। जिससे जान का खतरा बना रहता है। मिली जानकारी के अनुसार शिवना नदी में मगरमच्छ होने की सूचना भी है ऐसे में जान जोखिम में डाल दर्शन करने को मजबूर है समाजजन उचित स्थान पर माताजी को स्थापित किया जाना चाहिए। जिससे हम सभी समाज के लोग एक साथ बैठकर हमारी कुलदेवी की पूजा अर्चना कर सके।

सुरक्षा व्यवस्था को लेकर स्थानीय पुलिस प्रशासन इस बार एसडीआरएफ की टीम के साथ मौके पर तैनात की गई थी।

VOICE OF MP
एडिटर की चुनी हुई ख़बरें आपके लिए
SUBSCRIBE