BREAKING NEWS
BIG NEWS : राजस्थान की राशमी थाना पुलिस और लालपुरा.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : नीमच जिले की जीरन थाना पुलिस और अवैध मादक.. <<     MANDI BHAV: एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी मंदसौर के.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : जिले की समस्त शालाओं में 18 जून 2024 को.. <<     KHABAR : पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की बैठक.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : जल गंगा संवर्धन अभियान के तहत सुखानंद में.. <<     NEWS : आगामी पर्वों एवं त्योहारों के संबंध में.. <<     KHABAR : 52वीं स्टेट तैराकी चैम्पियनशिप में चमका.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     MANDI BHAV : काबुली चने के दामों में आई इतने रुपये की.. <<     KHABAR : जून माह की इस तारीख को होगा प्रधानमंत्री.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : महावीर इंटरनेशनल नीमच की प्रियदर्शिनी.. <<     KHABAR : कलेक्‍टर कार्यालय नीमच में होगा स्टेनो.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     NMH MANDI : एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी नीमच के.. <<     KHABAR : पल्‍स पोलियों, अभियान के संबंध में जिला.. <<    
वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन के लिए..
May 25, 2024, 6:12 pm
REPORT : जिले में अमृत संचय अभियान में बारिश के पानी को थामने की कोशिशें तेज, कलेक्टर ने कहा- हम अपनी अगली पीढ़ी को संपत्ति के साथ-साथ जल की अनमोल विरासत भी सौंपे, पढ़े खबर 

Share On:-

देवास। हम अपनी अगली पीढ़ी की सुख-सुविधाओं के लिए पूरे जीवन जतन करते हैं, लेकिन हम भूल जाते हैं कि समाज को अगली पीढ़ी के लिए जल की अनमोल विरासत भी सौंपने की महती आवश्यकता है। हमें अमृत संचय अभियान के अंतर्गत अपने मकानों की छत पर आने वाले बारिश के पानी को सहेज कर रूफ वाटर हार्वेस्टिंग तकनीक पर ज़ोर देना पड़ेगा। यह बात संयुक्त कलेक्टर प्रियंका मिरमोट ने अमृत संचय अभियान की तैयारी बैठक में देवास के नागरिकों और संस्थाओं के प्रतिनिधियों की बैठक में कही।

वरिष्ठ भूजलविद तथा देवास रूफ वाटर हार्वेस्टिंग तकनीक को लोकप्रिय बनाने वाले जल वैज्ञानिक डॉ सुनील चतुर्वेदी ने सविस्तार छतों से व्यर्थ बहकर जाने तथा जल भराव की समस्या पैदा करने वाले जल के बुद्धिमत्तापूर्ण सहेजने की बात कही। उन्होंने कहा कि इस तकनीक से हम देवास शहर में कई करोड़ लीटर पानी बचा सकते हैं।

प्रारंभ में श्रीकांत उपाध्याय ने देवास की जल परंपरा और उसके लगातार दोहन से पैदा हुए जल संकट के बारे में विस्तार से बात की और कहा कि अब भी देर नहीं हुई है। हमें जुटना पड़ेगा ताकि देवास पानीदार हो सके। बैठक में सुनील जाट ने अपने अनुभव साझा किए। डॉ समीरा नईम ने कहा कि हम सबको अपनी जिम्मेदारी समझकर इस काम को अंजाम देना होगा। इसे हम अपनी मिट्टी के कर्ज़ की तरह करें।

बैकठ में ओपी पाराशर,  गंगासिंह सोलंकी, अरविंद त्रिवेदी, राजेश व्यास, राजेश पटेल, चन्द्रपालसिंह, महेंद्रसिंह राणा, सुदेश सांगते, संग्राम सिंह घाडगे, चेतन उपाध्याय, भरत चौधरी, सफ़िया कुरेशी, एसएम जैन, आरएस केलकर और ओम जोशी सहित कई प्रतिष्ठितजन उपस्थित थे।

VOICE OF MP
एडिटर की चुनी हुई ख़बरें आपके लिए
SUBSCRIBE