BREAKING NEWS
वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     किसानों ने ली राहत की सास, इस सत्र में खुलेगा.. <<     BIG NEWS : लोकसभा चुनाव से पहले  कांग्रेस बड़ा झटका,.. <<     KHABAR : लोकसभा निर्वाचन 2024 के लिए जिले में मतदाता.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : लोकसभा निर्वाचन 2024 के तहत पोषण आहार पैकेट.. <<     BIG REPORT : नीमच जिले का ग्राम बोरखेड़ी और आरजे.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : लोकसभा चुनाव 2024- स्वीप गतिविधियों के तहत.. <<     KHABAR : लोकसभा निर्वाचन 2024- मतदान प्रतिशत कम वाले.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : नीमच में होगा यादव प्रतिभा सम्मान समारोह.. <<     KHABAR : मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ तहसील.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : भाजपा जॉइन करते ही सरपंच प्रतिनिधि का.. <<     KHABAR : मां गायत्री भक्त मंडल समिति ने किया जिला.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : शिव विलास पैलेस इंदौर स्थित राम मंदिर में.. <<     KHABAR : श्रम विभाग की सहमति पर पावरलूम बुनकरों की.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<    
वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन के लिए..
February 2, 2023, 5:18 pm
KHABAR : आम आदमी की आशा के अनुरुप केंद्र सरकार का बजट नहीं- रांका, केंद्र सरकार के बजट पर बोले कांग्रेस नेता प्रकाश जैन मनरेगा, बेरोजगारी, मंहगाई के मुद्दों पर चुप सरकार, पढ़े खबर 

Share On:-

जावद। इस बार आम बजट पर पूरे देश की निगाहें लगी हुई थीं। इस बार का आम बजट खास होना चाहिए था क्योंकि 2024 में होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले सरकार का यह आखिरी बजट था। इस बजट से केंद्र सरकार की नीति स्पष्ट होती हैं जो बीजेपी की कथनी और करनी को उजागर करती हैं। इस बजट में भी बढ़ती महंगाई को देखते हुए जनता को निराशा ही हाथ लगी हैं।

इंश्योरेंस सेक्टर ओर बचत प्रभावित होगी- 

रांका ने बताया कि भले ही टैक्स की लिमिट को सरकार ने बढ़ा दिया हो, लेकिन यहा भी सरकार ने धोका ही किया है एक ऐसा व्यक्ति जो पुरानी कर व्यवस्था के तहत धार 80 सी में बीमा पॉलिसियों या पीपीएफ जैसी कर बचत विकल्पों का चुनाव करता है, तो वो अब नई व्यवस्था में इनपर पर क्लेम नहीं किया जा सकता है। सरकार की इस नीति से सीधा आमजन के हितों पर चोट होगी। इंश्योरेंस सेक्टर पर यह महंगाई की मार अगले वित्त वर्ष से सालाना पांच लाख रुपये से अधिक प्रीमियम वाली पॉलिसीज की मैच्योरिटी रकम पर टेक्स में व्रद्धि हुई हैं।

खुदरा और छोटे व्यापारियों की मांग का ख्याल नहीं रखा बजट में-

कांग्रेस नेता प्रकाश जैन ने बताया कि केंद्रीय बजट 2023-24 में व्यापारियों को जीएसटी से राहत देने की कोई कोशिश नहीं की गई। इससे व्यापारियों में निराशा है। देश के खुदरा छोटे व्यापारियों की लंबे समय से मांग थी कि उन्हें बहुराष्ट्रीय ई-कॉमर्स कंपनियों के ऑनलाइन बाजार के नकारात्मक असर से बचाने के लिए उचित नीतियां बनाई जाएं। लेकिन केंद्र सरकार ने ऑनलाईन बाजार को नियंत्रित करने में कोई रुचि नहीं दिखाई है, इससे छोटे व्यापारियों में बजट को लेकर निराशा है। 

बजट में  स्पष्ट नीति और विजन का अभाव-

रांका ने कहा कि इस बजट में मनरेगा के लिए 60,000 करोड़ रुपये का आवंटन हुआ है जो कि अब तक का सबसे कम आवंटन है। इसके अलावा महिलाओं और बच्चों की सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रमों में भारी कटौती देखने को मिल रही है। बजट 2023 को देखकर यह भी सवाल उठता है कि सरकार मजदूरों के लिए क्या करने जा रही है ? कांग्रेस नेता रांका ने आगे बताया कि इस बजट में बेरोजगारी और महंगाई पर ठीक से बात नहीं की गई है ।

VOICE OF MP
एडिटर की चुनी हुई ख़बरें आपके लिए
SUBSCRIBE