BREAKING NEWS
KHABAR : चातुर्मास में जीव दया बिना आत्म कल्याण.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : भारत स्काउट एंड गाइड जिला संघ नीमच द्वारा.. <<     MANDI BHAV: एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी मंदसौर के.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : शासकीय कन्या हाई स्कूल में धूमधाम से मना.. <<     BIG REPORT : मानसिक रूप से दिव्यांग बालक, जब अचानक.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     KHABAR : श्री शिशु मन्दिर मा. वि. कोटडा बुजुर्ग मे.. <<     BIG REPORT : नर्सिंग कॉलेज के लिए आवंटित भूमि पर अवैध.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : अवैध मादक पदार्थ की तस्करी और शिक्षक.. <<     BIG NEWS : उज्जैन में रविवार को खुलेंगे स्कूल,.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     BIG NEWS : सांवरिया सेठ के दर्शन कर घर लौट रहा था.. <<     KHABAR : म. प्र. सरपंच संघ गरोठ की और से मुख्यमंत्री.. <<     वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन देने के.. <<     NMH MANDI : एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी नीमच के.. <<     MP का ऐसा मुक्तिधाम जहां हो गया ये बड़ा खेल,.. <<     MANDI BHAV : एक क्लिक में पढ़े कृषि उपज मंडी मनासा के.. <<    
वॉइस ऑफ़ एमपी न्यूज़ चैनल में विज्ञापन के लिए..
June 15, 2024, 5:17 pm
KHABAR : कोडिंग फॉर एवरीवन अभियान से 17 वर्षीय छात्र ने सीखी थी कोडिंग, देहरादून की कंपनी में मिला 8 लाख रूपए का पैकेज, कलेक्टर ने दिया ऑफर लेटर, पढे़ अभिषेक सोनी की खबर

Share On:-

देवास। जिला प्रशासन के द्वारा कोडिंग फार एवरीवन लगभग आठ माह पूर्व अभियान की शुरुआत की थी। जिसमें जिले के हाटपीपलिया के बामनखेड़ी में रहने वाले छात्र ने फ्री कोडिंग सीखी उसने इतना अच्छा कार्य किया जिससे देहरादुन की कोड योगी कंपनी ने 8 लाख रुपए के पैकेज का ऑफर दिया साथ ही उनकी यूनीर्वसीटी में तीन साल के कोर्स करने का मौका मिला है। छात्र को 18 जून को वहां पहुंचना था किंतु पिता ने कलेक्टर से कहा कि उन्हें खेत में बोवनी करनी है उसके बाद बच्चे को लेकर वे 24 जून तक देहरादुन पहुंच जाएंगे। कलेक्टर ने कंपनी प्रबंधन से चर्चा कर 24 जून को पहुंचने का बात कही है। 


जिला प्रशासन के द्वारा कोडिंग फार एवरीवन अभियान शुरु किया था। जिसमें जिले के करीब 180 स्कूलों के 16 हजार से अधिक बच्चों ने अपनी सहभागिता कि थी। इन बच्चों में जिले के हाटपिपलिया के बामनखेड़ी ग्राम में रहने वाले अंकित पिता धीरज सिंह सेंधव उम्र 17 वर्ष ने इतनी अच्छी कोडिंग सीखी कि उसे देहरादुन की कोड योगी में काम करने का मौका मिला है।  


अंकित ने बताया कि कलेक्टर ऋषव गुप्ता ने कोडिंग अभियान शुरु किया था। मुझे मेरे स्कूल में पता चला तो मैनें इसे सीखने के लिए पढ़ाई की। मैनें अच्छा कार्य किया तो मुझे देहरादुन की कोड योगी कंपनी में काम करने का मौका मिला है वहां मुझे 8 लाख रुपए सालाना मिलेगा। अंकित ने बताया कि कोडिंग में बहुत सारी भाषाएं होती है। इसे सीखने के बाद वेबसाइड, एप्स बना सकते हैं। स्कूल में पढऩे वाले बच्चों से कहना है कि आज इंटरनेट का जमाना है, इंटरनेट का उपयोग कुछ सीखने के लिए ही करें। अंकित जैसे बच्चे का अनुसरण करें।


कलेक्टर ऋषव गुप्ता ने बताया कि लगभग आठ माह पूर्व कोडिंग फार एवरीवन नाम से अभियान की शुरुआत हुई थी। हमारा लक्ष्य यह है कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी है उसमें यह बताया था कि मीडिल, हाईस्कूल और हाईसेकेण्डरी के छात्रों को कोडिंग का ज्ञान होना चाहिए। उसी के तहत फ्री कोडिंग सीखने की योजना कोड योगी के माध्यम से देवास में बच्चों को प्राप्त हुई है। इसमें कई बच्चों ने कोडिंग सीखना शुरु किया। जिले के 180 स्कूलों के 16 हजार बच्चों ने कोडिंग सीखना शुरु किया। जिला प्रशासन की और से प्रयास किया गया था बच्चे अच्छा कर रहे हैं उनकी हेण्ड होल्डिंग की जाए। कुछ कीबोर्ड, माऊस, यूएसबी व अन्य चीजें उन्हें उपलब्ध कराई गई। साथ ही बच्चों को प्रेरित किया गया कि यदि आप अच्छा करेंगे तो उन्हें आगे कई प्रकार की नौकरियां मिल सकती है। आज बड़ा हर्ष का विषय है कि जिले के हाटपीपलिया में रहने वाले अंकित ने कोडिंग फार एवरीवन अभियान में हिस्सा लिया और इतनी अच्छी कोडिंग सीखी कि उसे देहरादुन की कोड योगी कंपनी में 8 लाख रुपए सालाना पैकेज का ऑफर मिला है। साथ में 10 हजार रुपए प्रतिमाह देने का ऑफर भी मिला है। इसके साथ ही उनकी यूनिर्वसीटी में तीन साल के कोर्स को भी फ्री करने का मौका मिला है। कलेक्टर ने कहा कि अंकित जैसे बच्चे का अनुसरण करें और इतनी मेहनत करें कि हमें कंपनियों तक ना जाना पड़े कंपनी खुद आकर अच्छे बच्चों का चयन करें।

VOICE OF MP
एडिटर की चुनी हुई ख़बरें आपके लिए
SUBSCRIBE